बच्चे के गुस्सा करने से हैं परेशान? ये 5 तरीके अपनाकर मिनटों में कर सकते हैं शांत

How to Calm child while Crying: क्या आपके बच्चे को गुस्सा आता है और इस वजह से आप लगातार चिंता में रहते हैं। अगर हां, तो अपने बेटे या बेटी को शांत करने के लिए इन 5 बातों का पालन कर सकते हैं।

How to calm down your Children
बच्चों को शांत कैसे करें 

मुख्य बातें

  • बच्चे को बार बार आता है गुस्सा तो ध्यान देने की है जरूरत
  • गुस्से के बदले में डांटने से चिड़चिड़ा हो सकता है उसका स्वभाव
  • इन पांच तरीकों को अपनाकर शांत कर सकते हैं बेटे/बेटी का गुस्सा

जब आपका बच्चा गुस्सा करता है तो आप कैसी प्रतिक्रिया देते हैं? कई बार ऐसी बातें कह दी जाती हैं जो आपको नहीं कहनी चाहिए और बाद में कई बार इसका पछतावा होता है या क्या आप बतौर मां अंदर ही अंदर दुःख को सहती रहती हैं? कैसे हम अपने गुस्से पर काबू करके रखें। लेकिन कई बार ऐसा भी लग सकता है कि बच्चों को अक्सर गुस्सा आने पर उन्हें शांत कराना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आपको धैर्य से काम लेने की जरूरत है।

बच्चों के साथ जबरदस्ती करना और हाथ उठाना, उनके व्यवहार को हमेशा के लिए गुस्सा और चिड़चिड़ा बना सकता है। ऐसे कई कुछ सरल तरीके हैं जिनसे बच्चे को शांत करना आसान हो जाता है। आप यहां दिए गए तरीके अपनाकर बच्चे को शांत कर सकते हैं।

बच्चे को टहलाने के लिए ले जाएं
आपका बच्चा टीवी देखना चाहता है और आप ऐसा करने से रोकना चाहते हैं, इसी के परिणाम में टकराव की स्थिति पैदा होती है। बच्चे को शांति से समझाना जरूरी है कि उसे टीवी क्यों नहीं देखना चाहिए। इसके अलावा, कुछ समय निकालें और पास के पार्क या बगीचे में जाएं और उससे प्रकृति के बारे में बात करें। घुमाने से प्रकृति के साथ उसका जुड़ाव मजबूत होगा।

गिनती गिनना सिखाएं:
जब भी आपके बच्चे को गुस्सा आता है, उसे 20 तक गिनती करना सिखाएं। एक एक मानसिक भावनाओं को नियंत्रित करने का कारगर तरीका है और जो उसे तुरंत शांत कर देगा! इसके अलावा योग के सांस पर ध्यान देने जैसे तरीके भी अपनाए जा सकते हैं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

उसकी बात सुनें:
बच्चे को क्या करना चाहिए, इसके बारे में शिक्षा देने के बजाय, यह समझने की कोशिश करें कि आपका बच्चा क्यों नाराज़ है और उसे एक साथ सुलझाने या हल करने की कोशिश करें।

उसके मनोरंजन के लिए जगह ढूंढें:
अपने बच्चे के साथ आनंद लेने के लिए 'चिल स्पॉट' की पहचान करें, या जरूरत पड़ने पर बच्चे के लिए किसी अन्य इस्तेमाल का उपयोग करें और उसके साथ खूबसूरत यादें बनाएं। गुस्सा में होने पर, अपने बच्चे को उसकी पसंदीदा जगह पर बैठने के लिए प्रेरित करें। बच्चे के साथ खुद भी खेल कूद में शामिल हुआ जा सकता है, इससे आपके और उसके बीच एक दोस्त जैसे रिश्ता विकसित होगा।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Kareena Kapoor Khan (@kareenakapoorkhan) on

सहानुभूति दिखाएं
बच्चा अगर गुस्से में है तो उसे दोष न दें। ऐसा करने पर वो जिद्दी हो जाएंगे। इसके बजाय, उनकी बात सुनें / उसे बताएं कि आप उसकी बात समझते हैं, लेकिन गुस्सा होना सही रास्ता नहीं है। इससे बच्चे के मन में सहानुभूति की भावना आएगी।

अगली खबर