Happy Constitution Day of India 2021 Wishes Images: महान है भारत का संविधान, संदेशों के जरिए दें शुभकामनाएं

Happy Constitution Day of India 2021 Wishes Images, Quotes, Status, Messages: 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने भारत के संविधान को अंगीकार किया था जिसके उपलक्ष्य में 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। इस मौके पर आप बधाई संदेश के जरिए भारतीय संविधान की महत्ता बता सकते हैं ।

Constitution Day of India 2021, Constitution Day of India 2021 2021, Constitution Day of India 2021 images, Constitution Day of India 2021 wishes, happy Constitution Day of India 2021, happy Constitution Day of India 2021 2021, happy Constitution Day
संविधान दिवस की शुभकामनाएं  |  तस्वीर साभार: Times Now
मुख्य बातें
  • 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने भारत के संविधान को अंगीकार किया था
  • इसके उपलक्ष्य में 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है
  • संविधान दिवस को मनाना 2015 में शुरू हुआ था

 Happy Constitution Day of India 2021 Wishes Images, Quotes, Status, Messages: भारत में संविधान दिवस 26 नवंबर को मनाया जाता है क्योंकि 1949 में इसी दिन संविधान सभा ने भारत के संविधान को अंगीकार किया था। संविधान दिवस की शुरुआत 2015 से की गई थी।

गौर हो कि भारत का संविधान 26 जनवरी, 1950 को लागू हुआ था। इस साल 'संविधान दिवस' समारोह के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 नवंबर को संसद और विज्ञान भवन में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। इस मौके पर इस मौके पर आप इन तस्वीरों और संदेशों के जरिए संविधान दिवस की शुभकामना दे सकते हैं।  

Constitution Day 2021 Wishes Images, Quotes: इन तस्वीरों और संदेशों से दें संविधान दिवस की शुभकामनाएं 

संविधान दिवस की शुभकामनाएं 

भारतीय सविधान के रचनाकार,
बाबासाहेब की हो जय जयकार।

सविधान देता है समानता का अधिकार,
अब इंसान नहीं कर सकता है इंसान का तिरस्कार।

भलाई का जिसमें है विधान,
वही है भरतीय संविधान। 

शासन संचालन का है विज्ञान,
सबसे प्यारा हमारा संविधान। 


 
जनता की भलाई है मूलमंत्र,
संविधान ने दिया ऐसा प्रजातंत्र।
 
संविधान हिन्दुस्तान की जान है,
भरतीय के अधिकारों की पहचान है। 

शहीदों के लहू की स्याही से, ये संविधान बना है
हर दिन संभाल के रखो, मेरा देश महान बना है।

भारतीय संविधान की एक महत्वपूर्ण विशेषता यह भी है कि इस संविधान को भारत की जनता ने बनाया है और इसमें अंतिम शक्ति जनता को प्रदान की गई है।

भारतीय संविधान बाहर से संघात्मक है परन्तु उसकी आत्मा एकात्मक है।
  
संविधान वो मार्गदर्शक है जिसे मैं कभी नहीं छोडूंगा।

दर्जनों भाषा, सैंकड़ो विधि, हज़ारो विधान है।
जो जोड़कर सबको साथ रखे, वो भारत का संविधान है।
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर