real kesar ki pehchan : इन 5 तरीकों से तुरंत जानें कश्‍मीरी केसर की शुद्धता, नहीं खाना पड़ेगा धोखा

कश्मीर की खूबसूरत वादियों में पैदा होने वाला केसर एक महंगा मसाला है। इसलिए कई बार लोग बाजार में नकली केसर बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमाते हैं। ऐसे में जानिए केसर की शुद्धता को परखने का आसान तरीका।

Check Purity Of Saffron In Simple Ways at home, how to identify original kesar
how to identify original kesar 

मुख्य बातें

  • केसर की शुद्धता पता करने का आसान तरीका
  • असली केसर पानी में नहीं छोड़ता अपना मूल रंग
  • केसर शुद्ध है तो वह किसी चीज में डालने के बाद छोड़ता है पीला रंग

खूबसूरती और त्वचा की रंगत को निखारने के साथ खाने का स्वाद और रंगत बढ़ाने वाला, सेहत के लिए बेहद असरदार केसर का इस्तेमाल अक्सर हर घर में किया जाता है। दुनियाभर में केसर का नाम सबसे मूल्यवान मसालों मे आता है। इसे मसालों का राजा भी कहा जाता है। केसर को रेड गोल्ड यानि लाल सोना के नाम से भी जाना जाता है। आपको बता दें भारत में केसर की बिक्री से लाखों की कमाई होती है। इसकी खेती केवल संपन्न लोग ही कर पाते हैं क्योंकि यह काफी महंगा होता है। इसलिए कई बार तो लोग बाजार में नकली केसर बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमाते हैं। ऐसे में आज हम आपके लिए असली केसर को पहचानने के लिए कुछ महत्वपूर्ण घरेलू टिप्स लेकर आए हैं। जिससे आप असली औऱ नकली केसर की पहचान आसानी से कर सकते हैं।

कैसे करें केसर की शुद्धता की पहचान (How to Identify between Real and fake kesar)

1. ऐसा होता है स्वाद 

जब भी आप बाजार में केसर खरीदने जाएं तो सबसे पहले केसर में से एक या दो धागे को अपनी जीभ पर रखें और हल्का सा चबाएं। इस दौरान यदि आपको केसर का स्वाद मीठा लगता है तो केसर नकली है। क्‍योंक‍ि केसर की गंध भले ही मीठी हो, लेकिन इसका स्वाद कड़वा होता है।

2. रंग से पहचानें

हल्के गर्म पानी में केसर के एक से दो रेशे डालिए। अब अगर रेशे पानी में डालते ही तुरंत अपना रंग छोड़ने लगें तो समझ जाइए कि केसर नकली है। क्योंकि शुद्ध केसर पानी में डालने के बाद धीरे धीरे रंग छोड़ता है और वह रंग छोड़ने के बाद भी अपने मूल रंग में रहता है। लेकिन अगर केसर मिलावटी है तो वह पानी में डालते ही तुरंत अपना लाल रंग छोड़ देता है।

3. अलग ही होती है सुगंध

केसर की शुद्धता को पहचानने का सबसे अच्छा तरीका उसकी सुगंध है। शुद्ध केसर की सुगंध शहद की तरह दिलचस्प होती है। इसलिए केसर खरीदते इस बात का विशेष ध्यान रखें कि यदि केसर में किसी भी तरह की कड़वी या तेज गंध आ रही है तो उसे ना खरीदें। केसर के धागे सूखे होते हैं और गर्म जगह पर रखने से खराब हो जाते है। जबकि नकली केसर वैसे का वैसा ही रहता है।

4. पानी और बेकिंग सोडा का मिश्रण

केसर की शुद्धता को पहचानने के लिए पानी और बेकिंग सोडा एक अच्छा और कारगार घरेलू उपाय है। इसके लिए आप सबसे पहले एक कटोरी पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोडा डालें और उसे अच्छी तरह मिक्स कर लें। अब उसमें एक से 2 केसर के धागे डालें। इस दौरान यदि केसर भगवा या लाल रंग छोड़ता है तो वह नकली है क्योंकि केसर लाल रंग का होता है और वह किसी भी चीज में डालने से पीला रंग छोड़ता है।  

5. कीमत भी देती है अंदाजा

अगर केसर ज्‍यादा महंगा नहीं है तो मानकर चलें क‍ि आप नकली केसर खरीद रहे हैं। केसर अपनी भारी मांग व सीम‍ित उत्‍पादन की वजह से खासा महंगा होता है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर