पंजाब में बड़े भाई की भूमिका में बीजेपी, 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, कैप्टन और ढींढसा को इतनी सीटें

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए बीजेपी ने पंजाब लोक कांग्रेस और संयुक्त अकाली दल-ढींढसा के साथ गठबंधन किया है। पंजाब में बीजेपी बड़े भाई की भूमिका में है।

BJP is elder brother in Punjab, will contest on 65 seats, Captain and Dhindsa got so many seats
पंजाब में एनडीए गठबंधन में सीट फाइनल 
मुख्य बातें
  • पंजाब की 117 विधानसभा सीट के लिए 20 फरवरी को वोटिंग होगी।
  • बीजेपी, पंजाब लोक कांग्रेस और संयुक्त अकाली दल-ढींढसा ने गठबंधन किया है।
  • तीनों दलों के बीच सीटों के लेकर तालमेल हो गया है।

पंजाब में बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन के नेता संयुक्त रूप से नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पंजाब में एनडीए गठबंधन जो हुआ है उसमें बीजेपी, पंजाब लोक कांग्रेस और संयुक्त अकाली दल-ढींढसा, हम सब मिलकर पंजाब विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। बीजेपी 65 सीटों पर, पंजाब लोक कांग्रेस 37 सीटों पर और 15 सीटों पर संयुक्त अकाली दल-ढिंढसा चुनाव लड़ेंगे।

जेपी नड्डा ने कहा कि पंजाब बॉर्डर पर स्थित राज्य है, देश की सुरक्षा के लिए पंजाब में स्थिर और मजबूत सरकार बनना आवश्यक है। पाकिस्तान की हरकतें हमारे देश के लिए कैसी रही हैं, ये हमें मालूम है। हमने वहां पर देखा है कि ड्रग्स की और हथियारों की स्मगलिंग का प्रयास वहां होता रहता है।

उन्होंने कहा कि पंजाब की सीमा पाकिस्तान के साथ 600 किलोमीटर है। हम जानते हैं कि पाकिस्तान ने अतीत में कैसा व्यवहार किया है। पंजाब में पाकिस्तान द्वारा ड्रग, हथियार, गोला-बारूद की तस्करी की गई है। वे इसके लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रहे हैं। इसलिए जहां तक पंजाब चुनाव का सवाल है, सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण मुद्दा है। 

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश बहुत तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है। इसको डीरेल करने का कुत्सित प्रयास, देशविरोधी ताकतें करती हैं। इस डीरेल में पंजाब के थ्रू एक्टीविटी हो ये देशविरोधी ताकतों की हमेशा मंशा रहती है। ये चुनाव सिर्फ सत्ता परिवर्तन का ही माध्यम नहीं है, सरकार बदलना ही इस चुनाव का उद्देश्य नहीं है। ये चुनाव आने वाली पीढ़ियों को सुरक्षित करने के लिए और पंजाब को स्थिरता देने के लिए है। पंजाब सुरक्षित रहता है तो देश सुरक्षित रहता है।

देश की सुरक्षा के लिए पंजाब के लोगों ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है, पंजाब ने देश को जो खाद्य सुरक्षा दी है, उसे भी देश कभी भूल नहीं सकता। पंजाब ने हमारी आशाओं को हमेशा पूरा किया है। हम कभी भी गुरु गोबिंद सिंह जी के योगदान को नहीं भूल सकते, गुरु तेगबहादुर जी के बलिदान को हम कभी नहीं भूल सकते। जो शौर्य और बलिदान पंजाब का रहा है, उसे भारत सदैव याद रखेगा। पंजाब ने हमें सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक दृष्टि से हमें नेतृत्व दिया है।

माफियाराज ने पंजाब को खोखला करने का काम किया है। आज जमीन माफिया, रेत माफिया, ड्रग माफिया से सभी पंजाब को खोखला कर रहे हैं। इसलिए NDA गठबंधन एक कमिटमेंट के साथ आगे बढ़ रहा है कि हम इस माफियाराज को समाप्त करेंगे। पंजाब पर आज विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। पंजाब पहले जहां विकास की ओर अग्रसर था, आज वो नीचे खिसक रहा है। पंजाब को आर्थिक दृष्टि से सबल बनाना भी हमारी जिम्मेदारी होती है। केंद्र-राज्य के रिश्ते स्थिरता और सुरक्षा के लिए बहुत आवश्यक है, ये भी हमें याद रखना चाहिए।

बीजेपी ने शुक्रवार को पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 34 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की थी। पार्टी की इस लिस्ट में किसान परिवारों के 12 नेताओं, 13 सिखों और 8 दलितों को टिकट दिया गया था। अमरिंदर सिंह ने भी 22 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की है, जिसमें भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान अजितपाल सिंह को नकोदर से प्रत्याशी बनाया गया है। अमरिंदर खुद पटियाला शहर सीट से चुनाव लड़ेंगे। पंजाब की 117 विधानसभा सीट के लिए 20 फरवरी को मतदान होना है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर