Exclusive: योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- जिनके लिए खुद का परिवार ही पूरा प्रदेश हो, उनसे आप क्या उम्मीद कर सकते हैं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टाइम्स नाउ नवभारत से खास बातचीत करते हुए कहा कि यूपी में कोई गठबंधन नहीं है और भाजपा एक बार फिर शानदार जीत हासिल करेगी।

Yogi on Akhilesh, said What can you expect from those for whom their own family is the whole state
योगी ने अखिलेश पर साधा निशाना, बोले- उनसे क्या उम्मीद करें 
मुख्य बातें
  • योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- उन्होंने जनता को विकास से वंचित किया
  • सपा की रैलियों में उमड़ी भीड़ पर बोले योगी- चौराहे पर मजमा लगता है तो भीड़ वहां भी होती है
  • जनता पहले भी कई जोड़ियों और गठबंधनों को कर चुकी है खारिज- योगी

नई दिल्ली: यूपी चुनाव की तैयारियां इन दिनों जोरों पर हैं। सत्ताधारी हो या विपक्ष सभी के प्रमुख नेता लगातार चुनावी जनसभाएं कर रहे हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टाइम्स नाउ नवभारत से खास बातचीत की और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी जीत को लेकर आश्वस्त नजर आए। योगी ने कहा कि यूपी में कोई गठबंधन नहीं है जो बीजेपी से मुकाबला कर सके। उन्होंने कहा कि बीजेपी फिर से शानदार जीत हासिल करेगी।

नाम लिए बगैर अखिलेश पर निशाना

टाइम्स नाउ नवभारत के कंसल्टिंग एडिटर सुशांत सिन्हा ने सीएम योगी से सवाल किया गया कि अखिलेश यादव आप पर निजी हमले कर रहे हैं? तो इसका जवाब देते हुए योगी ने कहा, 'वंशवादी और परिवारवादी लोगों से आप क्या उम्मीद करते हैं जिनका दृष्णिकोण जिनके लिए अपने स्वंय का परिवार ही पूरा प्रदेश हो, जिन्होंने प्रदेश की जनता को केंद्र और राज्य की योजनाओं से वंचित किया हो, जिन्होंने केवल अपने परिवार और वंश के अलावा किसी का हित नहीं किया हो। उनसे आप इससे ज्यादा उम्मीद नहीं कर सकते हैं।'

रैलियों की भीड़ पर कही ये बात

जब योगी से पूछा गया, 'अखिलेश यादव की रैली में भीड़ जमकर उमड़ रही है, क्या इसे ना माना जाए कि उन्हें भी समर्थन मिल रहा है?' इस सवाल का जवाब देते हुए योगी ने कहा, 'एक भीड़ का जुटना, किसी चौराहे पर मजमा लगता है तो ना वहां भी भीड़ जुटती है। कहीं कोई प्रदर्शनी हो या बाजार, वहां भी भीड़ जुटती है। दोनों का करेक्टर अलग-अलग है। बीजेपी सत्ता में है। सत्ताधरी दल के कार्यक्रम में भीड़ का होना, स्वत: स्फूर्त भाव से भीड़ का होना ये जनता का शासन के प्रति विश्वास को प्रदर्शित करता है। समाजवादी पार्टी के कार्यक्रमों में भीड़  का होना या ना होना ये वही मजमा है जो लोग इनके तमाशे को देखना चाहते हैं और इनके करेक्टर को भी देखना चाहते हैं। 2017 से पहले क्या बोलते थे और आज क्या बोले रहे हैं? ये जो दोहरा चरित्र है जनता उसे मजाकिया लहजे से नजदीक से जाकर देखती है। उस भीड़ से हमें क्यों चिंता होगी।'

पुराने चुनावों का किया जिक्र

योगी ने पुराने उदाहरण देते हुए कहा,  '2017 में भी दो लड़कों की जोड़ी बनी थी यूपी में जनता ने खारिज कर दिया। 2014 में भाई-बहन की जोड़ी आई थी यूपी में जनता ने खारिज कर दिया। 2019 में महागठबंधन बना था जिसमें कई दल थे, जनता ने क्या कहा? जयंत चौधरी और चौधरी अजीत सिंह भी हार गए थे और अखिलेश जी पांच सीटों पर सिमट गए। बसपा उनसे दोगुनी सीट जीतें.. इसमें कोई संदेह नहीं है कि यूपी में अब कोई गठबंधन है नहीं।'

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर