UP Election 2022 Opinion Poll: यूपी का जन मन बीजेपी के साथ लेकिन समाजवादी पार्टी दे रही है कड़ी टक्कर, बीएसपी- कांग्रेस लड़ाई से बाहर

UP Election 2022 Opinion Poll Result Times Now Navbharat Hindi: यूपी का जन मन क्या है इस विषय पर हम प्रदेश के सभी हिस्सों के नजरिए को पेश कर रहे हैं।

up election 2022, up election 2022 opinion poll, up chunav 2022, up chunav 2022 opinion poll,
UP Election 2022 Opinion Poll:एक क्लिक में जानें पूरे यूपी का मिजाज 

UP Election 2022 Opinion Poll Times Now Navbharat: TIMES NOW नवभारत और VETO के ओपिनियन पोल में यूपी के लोगों का मिजाज क्या है। यूपी के जन के मन में क्या कुछ चल रहा है उसे समझने की कोशिश कर रहे हैं। यूपी के सभी हिस्सों, पूर्वांचल, रुहेलखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बुंदेलखंड, अवध और सेंट्रल यूपी में लोग मौजूदा सरकार के बारे में क्या सोचते हैं। वो कौन सा शख्स जिसे यूपी की जनता पसंद कर रही है। यूपी में वो कौन से मुद्दे जो मौजूदा सत्ताधारी के लिए चिंता का विषय हैं। इसके साथ ही वो कौन से मुद्दे हैं जिसमें विपक्ष को खुद के लिए उम्मीद नजर आ रही है। 52.3 फीसद लोग योगी आदित्यनाथ को पसंद करते हैं। जबकि करीब 36 फीसद लोग अखिलेश यादव को पसंद करते हैं। जबकि मायावती का ग्राफ घटा है। 

पूरे उत्तर प्रदेश का मिजाज (403 सीट)
बीजेपी-217-223
समाजवादी पार्टी147-158
बीएसपी-10-16
पश्चिम यूपी में सीट
बीजेपी- 48-50
समाजवादी पार्टी-40-42
बीएसपी- 2-3
कांग्रेस-2-3
बुंदेलखंड में सीट
बीजेपी-11-12
समाजवादी पार्टी 6-7
बीएसपी0
कांग्रेस-0
अन्य-0

रुहेलखंड में सीटों का रुझान

बीजेपी-30-32
समाजवादी पार्टी-16-17
बीएसपी-1-2
कांग्रेस - 2-2
अन्य-0
अवध में सीटों का रुझान
बीजेपी56-64
समाजवादी पार्टी- 33-34
बीएसपी-2-3
 कांग्रेस-1-2
अन्य 0-1
मध्य यूपी में सीटों का रुझान
बीजेपी-20-21
समाजवादी पार्टी-12-13
बीएसपी-0-1
पूर्वांचल में सीटों का रुझान
बीजेपी-48-52
समाजवादी पार्टी- 40-45
बीएसपी- 5-6
अन्य 1-2
यूपी चुनाव में वोट प्रतिशत
बीजेपी-38.20
एसपी प्लस- 34
बीएसपी- 12
कांग्रेस-8
पांच हफ्ते पहले जो वोट शेयर था उसके करीब बीजेपी का है।समाजवादी पार्टी का वोट प्रतिशत थोड़ा घटा है, बीएसपी के वोट शेयर में गिरावट आई है, जबकि कांग्रेस के वोट शेयर में थोड़ा इजाफा हुआ है।

यूपी में ओबीसी की पसंदीदा पार्टी
बीजेपी- 50.2 %
समाजवादी- 39.6 %
बीएसपी- 6 %
कांग्रेस-2 %
अन्य-2 %
मुस्लिम वोटर्स का भरोसा
बीजेपी-5.2 %
समाजवादी पार्टी- 46 %
बीएसपी-11.8 %
कांग्रेस-18.4 %
क्या जयंत चौधरी को बीजेपी से हाथ मिलाना चाहिए था
हां,-22.4%
नहीं- 37.8%
कह नहीं सकते-39.8%
जयंत चौधरी को बीजेपी के न्योता देने का मतलब
जाट वोट बांटने की राजनीति-68.4
बीजेपी को हार का डर-23.2

केशव प्रसाद मौर्य ने क्या कहा

पश्चिम यूपी में सपा और रालोद के गठबंधन पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि किसी तरह का असर नहीं पड़ेगा। 2014 से ही पश्चिम यूपी की जनता बीजेपी के साथ है। जहां तक अखिलेश यादव कहते हैं कि बीजेपी का राजनीतिक पलायन हो जाएगा तो उस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव आखिर गंभीरता से कौन लेता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 24 करोड़ की जनता की सुरक्षा अहम विषय है। जहां तक यूपी के लोगों की बात है 60 फीसद हमारा है, 40 फीसद में बंटवारा है और यही नहीं बंटवारे में भी बंटवारा है। 

दंगाइयों को टिकट देने से क्या अखिलेश की छवि खराब हुई
हां-64.8 %
नहीं-11.7 %
कह नहीं सकते- 15.2%
फर्क नहीं पड़ता- 8.2%
दागियों को टिकट देने से अखिलेश को नुकसान
हां- 68.4%
नहीं 13.7%
कुछ कह नहीं सकते- 18%


2017 में बीजेपी की झोली में 312 और उसके सहयोगियों  के खाते में 13 सीटें गईं थीं। समाजवादी पार्टी को 47, बहुजन समाज पार्टी को 19 और कांग्रेस को 7 सीटों पर कामयाबी मिली थी। बीजेपी की सहयोगी अपना दल (एस) को 9 तथा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) को 4 सीटों पर जीत मिली। राष्‍ट्रीय लोकदल और निषाद पार्टी का भी 1-1 सीट पर खाता खुला था। बाकी निर्दलीय भी जीते थे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर