UP Elections 2022: कार्रवाई माफिया पर होती है दर्द अखिलेश को होता है, स्वतंत्र देव सिंह का सपा अध्यक्ष पर हमला

UP assembly Elections 2022 : स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि यह ध्यान देने योग्य बात है कि जब भी अपराध पर अंकुश लगाने की बात आती है तब अखिलेश खुलेआम विलाप करने लगते हैं। सपा के पास साफ सुथरी छवि वाले उम्मीदवार है ही कहां?

UP BJP president Swatantra Dev Singh attacks Akhilesh Yadav UP assembly Elections 2022
स्वतंत्र देव सिंह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर साधा निशाना। 

लखनऊ : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बुधवार को कहा कि समजवादी पार्टी के स्टार प्रचारक प्रदेश भर के गुंडे, बदमाश, दंगाई, माफिया और भ्रष्टाचारी हैं। इनपर प्रदेश की सरकार कार्रवाई करती है तो सपा प्रमुख अखिलेश यादव इनके हमदर्द बनकर समर्थन में खड़े हो जाते हैं। गुंडे, माफिया का समर्थन करना इनकी मजबूरी हो सकती है, लेकिन जनता मजबूर नहीं है वह अपने वोट की ताकत के बल पर सपा के गुण्डाराज और दंगाराज की वापसी के मंसूबे को पूरा नहीं होने देगी। 

'सपा मुखिया को दर्द हो रहा है'
उन्होंने कहा कि अखिलेश जी कहते हैं कि उनके उम्मीदवारों पर पुलिस ने फर्जी मुकदमें दर्ज किए हैं। अब उन्हें यह कौन बताए कि उनकी सरकार के एक पूर्व मंत्री सजा काट रहे हैं। पूर्व मंत्री आजम खान गलत नियुक्तियों, लोगों और सरकारी जमीन कब्जाने समेत दर्जनों मामलों में अभियुक्त हैं। उनके एक उम्मीदवार मनी लांड्रिंग के मामले में आरोपी हैं। कई दंगे, हत्या, हत्या के प्रयास के मामले में आरोपी हैं। कई बीसियों साल पुराने हिस्ट्रीशीटर हैं, कई जिला बदर और भगोड़े घोषित हो चुके हैं, उन्हें अब जेल हुई है तो सपा मुखिया को दर्द हो रहा है। 

यूपी में फिर बनेगी भाजपा की सरकार-स्वतंत्र देव सिंह
उन्होंने कहा कि यह ध्यान देने योग्य बात है कि जब भी अपराध पर अंकुश लगाने की बात आती है तब अखिलेश खुलेआम विलाप करने लगते हैं। सपा के पास साफ सुथरी छवि वाले उम्मीदवार है ही कहां? अखिलेश ने अपने मंसूबे जाहिर कर दिए हैं कि उनकी पार्टी अपराधियों का संरक्षण करती रहेगी। लेकिन वे यह भूल गए हैं कि जनता उनके मंसूबों को पूरा नहीं होने देगी। वह भाजपा सरकार को फिर से मौका देने का मन बना चुकी है ताकि गुंडे, माफिया, भ्रष्टाचारियों को उनकी सही जगह पहुंचाया जा सके। 10 मार्च के बाद इनके खिलाफ हमारी लड़ाई और भी तेज होने वाली है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर