UP Elections 2022: 'अयोध्या से इतना बैर था कि नाम नहीं लेना चाहते थे', विपक्ष पर CM योगी का तीखा हमला

UP assembly Elections 2022 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकारें दलिद्रता और अराजकता की प्रतीक थीं। विकास नहीं, दंगे फैलाती थीं। यही कारण था कि हर तीसरे दिन दंगा होता था। अब पांच साल में कोई दंगा नहीं हुआ।

 Yogi Aditynath says opposition even never takes name of Ayodhya
विपक्ष पर सीएम योगी का तीखा हमला। 
मुख्य बातें
  • सीएम योगी का सपा मुखिया पर बड़ा हमला, बोले- इन लोगों को आतंकवादियों की चिंता थी
  • जब कोई आए, तो कह सके कि मुस्कुराइये कि आप अयोध्या में हैं: सीएम योगी
  • मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने 2000 छात्र-छात्राओं को दिया स्मार्ट फोन और टैबलेट

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी के मुखिया का बिना नाम लिए बड़ा हमला किया। उन्होंने कहा कि अयोध्या से, तो इतना बैर था कि नाम नहीं लेना चाहते थे। अब राम का नाम लेना ही पड़ता है। कुछ लोग हर काम में राम का नाम लेते हैं और कुछ लोगों की विदाई में राम का नाम लिया जाता था। इन लोगों को गरीबों, युवाओं और बेटियों की चिंता नहीं थी। इन लोगों को आतंकवादियों की चिंता थी। पिछली सरकार का पहला फैसला था कि रामजन्म भूमि पर आतंकी हमला करने वालों के मुकदमे वापस लिया जाए।

अयोध्या में छात्र-छात्राओं को टैबलेट वितरित किए
ये बातें उन्होंने अयोध्या में 2000 छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्ट फोन वितरण कार्यक्रम में कहीं। साथ ही उन्होंने 49.74 करोड़ की लागत से इनटेलीजेंस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के फेज वन का लोकार्पण और अयोध्या विकास प्राधिकरण के कलश कुंज आवासीय परियोजना का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री योगी ने तंज किया कि आज लोगों के सपने में भगवान कृष्ण आ रहे हैं। वह कोसते होंगे कि जब सत्ता थी, तो पहले मथुरा में ही दंगा करवा दिया और जब कुछ अवसर मिला, तो जवाहरबाग कांड करवा दिया। मुख्यमंत्री आवास पर दंगाइयों को बुलाकर सम्मानित करते थे। युवाओं की नौकरी पर डकैती डालते थे। बेटियों की सुरक्षा पर कहते थे, गलती हो जाती है। आज गलती नहीं होती। जब कोई गरीबों की जमीन पर कब्जा करता है, तो प्रदेश सरकार का बुलडोजर उसके पीछे चलता है।  

पिछली सरकारें दलिद्रता और अराजकता की प्रतीक थीं: सीएम
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारें दलिद्रता और अराजकता की प्रतीक थीं। विकास नहीं, दंगे फैलाती थीं। यही कारण था कि हर तीसरे दिन दंगा होता था। अब पांच साल में कोई दंगा नहीं हुआ। लोग कहते थे कि राम मंदिर का फैसला होगा, तो खून की नदियां बहेंगी, तब मैं कहता था मच्छर भी नहीं मरेगा। मैंने कहा कि राम मंदिर का निर्माण होने दो, रामराज्य की शुरूआत हो जाएगी। राम राज्य का मतलब हर गरीब को बिना भेदभाव के सुविधा मिलना है। पिछले 70 वर्षों में जितने लोगों को आवास, फ्री शौचालय, रसोई गैस कनेक्शन, बिजली कनेक्शन नहीं मिले थे, उतना हमने पांच वर्षों में दिए। हमने 43 लाख गरीबों को आवास दिया है।

अयोध्या अब विश्वस्तरीय नगरी बनेगी: सीएम
सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या को तकनीकी दृष्टि से इतना सक्षम बनाना होगा कि कोई आए, तो कह सके कि मुस्कुराइये कि आप अयोध्या में हैं। अयोध्या अब विश्वस्तरीय नगरी बनेगी। यहां सांस्कृतिक विरासत को सुरक्षित करते हुए भौतिक विकास को ऊंचाइयों तक पहुंचाने का काम सरकार ने शुरू कर दिया है। जल्द ही अयोध्या में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाएंगे।

अब तो विपक्षी भी कह रहे कि हम अयोध्या में दर्शन करेंगे: योगी
उन्होंने कहा कि अयोध्या विकास की नई ऊंचाइयों को छूता हुआ दिखाई दे रहा है। पांच अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री ने राम मंदिर के निर्माण का शुभारंभ किया था, तो 500 वर्ष के इंतजार को खत्म कर दिया, जिसके लिए हमारे पूर्वजों को बलिदान देना पड़ा था। उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि यह वही अयोध्या है जहां के संतों और युवाओं पर एफआईआर दर्ज होती थी। अब हर लोगों की जुबान पर जय श्रीराम है। अब तो विपक्षी नेता भी कह रहे हैं कि हम अयोध्या में दर्शन करेंगे। जो कहते थे कि अयोध्या में परिंदा भी पर नहीं मार सकता। आज वही अपने आपको नए भारत के नए उत्तर प्रदेश और अयोध्या के विकास को देखने से रोक नहीं पा रहे हैं।

22 चौराहों पर लग रहा आटोमेटिक ट्रैफिक सिस्टम
मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 करोड़ के इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत पहले फेज में 22 चौराहों पर आटोमेटिक ट्रैफिक सिस्टम लगा रहे हैं। सीसीटीवी लगे होंगे। इसको सेफ सिटी के साथ जोड़ना होगा। वहीं अयोध्या विकास प्राधिकरण 14 कोसी परिक्रम मार्ग पर आवास योजना बना रहा है। इसके साथ ही विभाग को चाहिए कि प्रयागराज की तरह हर शहर में माफियाओं से छुड़ाई गई जमीन पर आवास बनाए।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर