पंजाब चुनाव: AAP के सीएम उम्मीदवार भगवंत मान कहां से लड़ेंगे चुनाव, हो गया फैसला

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के मुख्यमंत्री उम्मीदवार भगवंत मान कहां से चुनाव लड़ेंगे। इसका फैसला हो गया है। 

Punjab Vidhan Sabha chunav 2022: AAP CM candidate Bhagwant Mann to contest from Dhuri, Sangrur district
आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार भगवंत मान  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 20 फरवरी को होंगे।
  • भगवंत मान आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार हैं।
  • वह संगरूर जिले के धूरी विधानसभा से चुनाव लडेंगे।

चंडीगढ़: पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के मुख्यमंत्री उम्मीदवार भगवंत मान पार्टी संगरूर जिले के धूरी विधानसभा से चुनाव लडेंगे। इसकी घोषणा आप नेता राघव चड्ढा ने की। भगवंत मान को 'मिस्ड कॉल' के जरिये चलाए गए 'जनता चुनेगी अपना सीएम' अभियान के तहत 93.3 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया था। आम आदमी पार्टी को इस अभियान के लिए 21,59,437 मत मिले थे। इसके बाद पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उन्हें मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार घोषित किया। 

48 वर्षीय मान संगरूर से दो बार के लोकसभा सांसद और AAP के पंजाब अध्यक्ष हैं। मान ने 2012 के पंजाब विधानसभा चुनाव में संगरूर की लहरागागा सीट से कांग्रेस की वरिष्ठ नेता राजिंदर कौर भट्टल के खिलाफ चुनाव लड़ा और हार गए थे। वह 2014 में आप में शामिल हो गए और संगरूर लोकसभा सीट से अकाली नेता सुखदेव सिंह ढींडसा के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे। उन्होंने ढींडसा को दो लाख से अधिक मतों के रिकॉर्ड अंतर से हराया। 2014 में, आप ने पंजाब में 4 लोकसभा सीटें जीती थीं।

सीएम उम्मीदवार चुने जाने के बाद मान ने कहा था कि वह लोगों के लिए काम करते रहेंगे और पंजाब को फिर से अपने पैरों पर खड़ा करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी ने उन्हें बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है। लाखों लोगों ने मुझ पर भरोसा जताया है और यह मेरी दोहरी जिम्मेदारी बन गई है। मैं दोगुने उत्साह के साथ काम करूंगा। 

मान ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम, दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला, प्रसिद्ध पंजाबी कवि सुरजीत पातर तथा प्रोफेसर मोहन सिंह को अपनी प्रेरणा बताते हुए राज्य की विभिन्न समस्याओं को दूर करने की दिशा में काम करने का संकल्प लिया।

भगवंत मान का जन्म अक्टूबर 1973 में सतोज में हुआ। व्यंग्यकार और हास्य कलाकार की राजनीतिक यात्रा तब शुरू हुई जब वह 2011 में मनप्रीत सिंह बादल के नेतृत्व वाली पीपुल्स पार्टी ऑफ पंजाब में शामिल हुए। बादल ने शिरोमणि अकाली दल से अलग होने के बाद पार्टी बनाई थी। बाद में उन्होंने अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर दिया।

पंजाब की 117 सदस्यीय विधानसभा के लिए 20 फरवरी को वोटिंग होगी। और मतगणना 10 मार्च को की जाएगी। उम्मीद है इसी दिन नतीजे आ जाएंगे।
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर