Exclusive: BJP से बर्खास्त होने पर टाइम्स नाउ नवभारत से बोले हरक सिंह- मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं

इलेक्शन
अमित कौशिक
Updated Jan 17, 2022 | 00:34 IST

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को सीएम धामी ने कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया है। अपनी बर्खास्तगी को लेकर हरक सिंह रावत ने टाइम्स नाउ नवभारत से बातचीत की।

Exclusive: Harak Singh Rawat told Times Now Navbharat on being sacked from BJP I have no idea about this
अपनी बर्खास्तगी पर बोले हरक- मुझे इस पर कोई जानकारी नहीं 
मुख्य बातें
  • हरक सिंह रावत को सीएम पुष्कर धामी ने किया मंत्रिमंडल से बर्खास्त
  • अपनी बर्खास्तगी को लेकर बोले हरक सिंह रावत- इस बारे में मुझे नहीं पता
  • अपने अगले कदम को लेकर बोले हरक सिंह- मुझे कुछ करना पड़ेगा

नई दिल्ली: उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को बीजेपी ने पार्टी से छह साल के लिए बर्खास्त कर दिया है। आपको बता दें कि हरक सिंह रावत के कांग्रेस ज्वाइन करने की अटकलें थी जिसकी वजह से पार्टी उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। माना जा रहा है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से उन्हें बीजेपी से हटाया गया है।

बोले- करना पड़ेगा कुछ

टाइम्स नाउ नवभारत से एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने कहा कि ‘मुझे अभी इस बारे मे कोई जानकारी नहीं है। मैं अभी दिल्ली अपने घर पहुंचा हूं, मुझे ये पूरी जानकारी केवल और केवल सोशल मीडिया के जरिए मिली है।  मैं इसके बारे में पता करता हूं’। कांग्रेस ज्वाइन करने के सवाल पर हरक सिंह रावत ने कहा कि ‘मेरी अभी इस बारे में कांग्रेस के किसी भी नेता से बात नहीं हुई है। अगर इन लोगों ने पार्टी से मुझे निकाल दिया है तो फिर कुछ तो करना पड़ेगा। मुझसे बीजेपी या कांग्रेस के किसी भी नेता ने कोई बात नहीं की है।’

राजनीति के मौसम वैज्ञानिक

हरक सिंह रावत को उत्तराखंड के राजनीति में मौसम वैज्ञानिक कहा जाता है। वो साल 2016 में कांग्रेस का हाथ छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे। उस समय वो कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री थे लेकिन उन्हें लगा कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी की लहर है जिस वजह से वो कांगेस से अलग होकर बीजेपी में शामिल हो गए। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरक सिंह रावत खुद के साथ-साथ अपने बेटे और बहु के लिए भी बीजेपी से टिकट मांग रहे थे लेकिन पार्टी इसके खिलाफ थी। अब देखना होगा कि बीजेपी से बाहर का रास्ता दिखाए जाने के बाद उनका अगला कदम क्या होगा। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि वो कांग्रेस ज्वाइन कर सकते हैं लेकिन उन्होंने इसको लेकर अभी कुछ साफ नहीं किया है।

Uttarakhand Election 2022: कैबिनेट से बर्खास्तगी के बाद BJP से निकाले गए हरक सिंह रावत, थाम सकते हैं कांग्रेस का हाथ

ऐसा रहा है राजनीतिक करियर

हरक सिंह रावत के राजनीतिक करियर की बात करें तो 1984 में वो पहली बार उत्तर प्रदेश में बीजेपी से चुनाव लड़े लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। बाद में 1991 में उन्हें बीजेपी ने पौड़ी से टिकट दिया और उन्होंने जीत हासिल की। उस वक्त कल्याण सिंह की सरकार में वो कैबिनेट मंत्री रहे। साल 2002 में अलग उत्तराखंड राज्य बनने के बाद कांग्रेस ने हरक सिंह रावत को लैंसडौन से टिकट दिया और इस बार भी वो विधायक चुने गए। 2007 में भी लैंसडौन से ही दोबारा चुनाव लड़े और जीत हासिल की। 2012 के विधानसभा चुनाव में हरक सिंह रावत ने रुद्रप्रयाग विधानसभा से जीत हासिल की।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर