UP BJP Candidates List 2022: आकाश सक्सेना तोड़ पाएंगे आजम खां का तिलस्म, जेल पहुंचाने का मिला ईनाम !

BJP Candidate List for UP Election 2022 : आजम खान पिछले 23 महीने से जेल में हैं और उनको जेल पहुंचाने में भाजपा नेता आकाश सक्सेना की अहम भूमिका रही है। उन्होंने न केवल आजम खान के खिलाफ कई मुकदमें कर रखे हैं बल्कि कई मामलों में प्रमुख गवाह भी हैं।

Akash Saxena Rampur
आकाश सक्सेना रामपुर शहर से भाजपा उम्मीदवार बने: फाइल फोटो  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • आज तक भाजपा रामपुर शहर सीट नहीं जीत पाई है।
  • रामपुर में 5 विधानसभा सीटें हैं, रामपुर शहर से आजम खान 9 बार विधायक रह चुके हैं।
  • आजम खां की पत्नी, बेटे और उनके करीबी नासिर अहमद खान रामपुर की अलग-अलग सीटों से विधायक रह चुके हैं।

UP BJP Candidates List 2022: बकौल आकाश सक्सेना एक इंटरव्यू में कहते हैं कि 'आजम खान जब मंत्री थे तो कहा करते थे ऊपर खुदा तय करता है और नीचे (रामपुर) मैं तय करता हूं।' खैर उनकी सितारे 2017 में सत्ता बदलने के बाद गर्दिश में हैं। और आजम खान इस समय कई सारे मामलों को लेकर हुए मुकदमों को लेकर सीतापुर जेल में कैद हैं। उनको जेल पहुंचाने में रामपुर के ही रहने वाले भाजपा नेता आकाश सक्सेना का अहम हाथ रहा है। सक्सेना ने आजम खान और बेटे अब्दुल्ला खान के खिलाफ जौहर विवि जमीन विवाद से लेकर, पैन कार्ड, पासपोर्ट और जन्म प्रमाण पत्र में फर्जी वाड़े जैसे मुकदमे दर्ज कराएं हैं या फिर उसमें गवाही दी है।

पार्टी ने भी उन्हें ईनाम दे दिया है। और वह रामपुर शहर से भाजपा के उम्मीदवार बन गए हैं। ऐसी संभवाना है कि उनकी टक्कर खुद आजम खान या उनके बेटे अब्दुल्ला खां से हो सकती है, जो अभी हाल ही में जमानत पर रिहा हुए हैं। अभी तक समाजवादी पार्टी ने दोनों की उम्मीदवारी के बारे में फैसला नहीं किया है।

कौन हैं आकाश सक्सेना

आकाश सक्सेना का परिवार भाजपा से दशकों से जुड़ा हुआ है। उनके पिता शिव बहादुर सक्सेना कल्याण सिंह सरकार में मंत्री रह चुके हैं। वह रामपुर की स्वार टांडा विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट से चार बार विधायक रह चुके हैं। ऐसे में आकाश सक्सेना के लिए राजनीति नई नहीं है। आजम खान के खिलाफ उन्होंने 30 से ज्यादा मुकदमें दर्ज कराएं हैं। जो कि आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला खां के जेल जाने की बड़ी वजह बना है। अब देखना यह है कि रामपुर सदर सीट से जीत कर वह क्या आजम खान के वर्चस्व को तोड़ पाते हैं। 

ये भी पढ़ें: बीजेपी ने यूपी चुनाव के लिए जारी की दूसरी लिस्ट, 85 और सीटों पर उम्मीदवार तय

रामपुर का राजनीतिक समीकरण

रामपुर लोकसभा सीट से आजम खां सांसद हैं। और रामपुर शहर सीट से 9 बार विधायक रह चुके हैं। जिले में कुल 5 विधानसभा सीटें हैं। जिसमें शहर विधानसभा सीट से आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा विधायक हैं। स्वार-टांडा सीट से अब्दुल्ला खां विधायक थे। उन्होंने जमानत मिलने के बाद कहा मैं सिर्फ एक ही बात कहूंगा कि 10 मार्च के बाद जुल्म खत्म हो जाएगा और जुल्म करने वाले को भी गद्दी से उतार दिया जाएगा। जबकि चमरौआ विधान सभा सीट पर आजम खान के करीबी नसीर अहमद खान विधायक हैं। साफ है कि सांसद से लेकर जिले की 5 में से 3 सीटों पर आजम खान का वर्चस्व है।

ये भी पढ़ें: अपर्णा यादव के बीजेपी में आने से सपा को कितना नुकसान? जानिये इस सप्‍ताह क्‍या है यूपी का मन

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर