UP Board 10th 12th Result:..तो इस फॉर्मूले से आएगा यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं का रिजल्ट

UP Board 10th 12th Result:यूपी बोर्ड ने 10वीं 12वीं के रिजल्ट निकालने का फार्मूला जारी कर दिया गया है, रविवार को सीएम योगी के सामने फॉर्मूले का ड्राफ्ट पेश किया गया जिसे मंजूरी मिल गई है।

 UP Board 10th Result 2021,UP Board 12th Result 2021
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के बाद छात्रों को प्रमोट करने और रिजल्ट घोषित करने के फॉर्मूले की मंजूरी  

नई दिल्ली: यूपी बोर्ड ने 10वीं 12वीं के रिजल्ट निकालने का फार्मूला जारी कर दिया है, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के बाद छात्रों को प्रमोट करने और रिजल्ट घोषित करने के फॉर्मूले की मंजूरी दे दी, उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण इस बार कक्षा दस तथा 12वीं की परीक्षाओं को रद्द किया गया था, अब रिजल्ट तैयार करने का फॉमूला निकाल लिया गया है।

इसके तहत विभिन्न श्रेणियों के अलग-अलग फॉर्मूला तय किया गया है,बताया जा रहा है कि शिक्षा क्षेत्र से जुड़े जनप्रतिनिधियों, शिक्षाविदों, प्रधानाचार्य परिषद, माध्यमिक शिक्षक संघों, अभिभावक संघों तथा समस्त हित धारकों द्वारा राय ली गयी, विशिष्ट ई-मेल आई.डी. द्वारा जन सामान्य एवं छात्र/छात्राओं से भी सुझाव प्राप्त हुए।

इण्टरमीडिएट परीक्षाफल हेतुः- हाईस्कूल के 50% कक्षा 11 के वार्षिक/अद्धवार्षिक परीक्षा  के 40% कक्षा 12 के प्री-बोर्ड 10% अंक निर्धारित 
इण्टरमीडिएट परीक्षा में 05विषय वर्गों में यथा मानविकी, विज्ञान, वाणिज्य, कृषि तथा व्यवसायिक वर्गों में परीक्षाएं सम्पादित होती हैं। इन विषय वर्गों में कई विषय ऐसे हैं जिनमें प्रयोगात्मक परीक्षाएं भी सम्पादित होती हैं।

वर्ष 2021 की इण्टरमीडिएट परीक्षा के अंको के निर्धारण हेतु बोर्ड की वेबसाईट पर सम्बन्धित परीक्षार्थियों के कक्षा-10 की बोर्ड परीक्षा, कक्षा-11 की वार्षिक/अद्धवार्षिक परीक्षा, कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा एवं प्रयोगात्मक विषयों के अंक उपलब्ध हैं। इन अंको आधार पर वर्ष 2021 की इण्टरमीडिएट परीक्षा के परीक्षार्थियों के अंको के निर्धारण का फार्मूला निम्नवत हैः-

गैर प्रयोगात्मक विषय (अर्थात जिन विषयों में प्रयोगात्मक परीक्षाएं नही होतीहै) जिनका पूर्णांक 100 अंको का होता है।
1-कक्षा-10 बोर्ड परीक्षा के कुल प्राप्तांक के औसत का 50 प्रतिशत। औसत का आगणन कक्षा-10 के सम्पूर्ण विषयों के कुल प्राप्तांक को कुल विषयों की संख्या अर्थात 6 से विभाजित करके आगणित किया जायेगा।
2-कक्षा-11 की वार्षिक परीक्षा में सम्बन्धित विषय विशेष के 100 अंक के पूर्णांक का 40प्रतिशत अंक।
3-कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा में सम्बन्धित विषय विशेष के 100 अंक के पूर्णांक का 10प्रतिशत अंक।
उपर्युक्तानुसार आगणन के पश्चात प्राप्त तीनो अंको को जोड़कर सम्बन्धित परीक्षार्थी के विषयवार अंको का निर्धारण किया जायेगा।
उदाहरणार्थ- यदि परीक्षार्थी ने कक्षा-10 की वार्षिक लिखित परीक्षा में 600 में से 300 अंक प्राप्त किये है ंतब उसका औसत अंक 300/6=50अंक होगा। इसमें से 50 प्रतिशत देयता के अनुसार उसे 25 अंक देय होगा। कक्षा-11 में किसी विषय विशेष में यदि उसे 100 अंक में से 60 अंक मिले हैं तब उसका 40 प्रतिशत 24 अंक होगा। इसी प्रकार प्रीबोर्ड परीक्षा से कक्षा-12 में उस विषय में उसे 50 अंक मिले हैं तब उसका 10 प्रतिशत 5 अंक होगा। इस प्रकार उसके कुल अंक 25़+24़+5=54 अंक होगे।

हाईस्कूल परीक्षाफल हेतुः- कक्षा 9 के 50% कक्षा 10 प्री-बोर्ड के 50% अंक निर्धारित 

हाईस्कूल परीक्षा में 70 अंको की लिखित परीक्षा तथा 30 अंको की आन्तरिक मूल्यांकन परीक्षा कुल 100 अंको की परीक्षा सम्पादित होती है। वर्ष 2021 की आन्तरिक मूल्यॉकन परीक्षा के अंक बोर्ड की वेबसाईट पर अपलोड हैं। इसके साथ ही कक्षा-9 की वार्षिक परीक्षा के अन्तर्गत सम्पादित 70 अंको की लिखित परीक्षा तथा कक्षा-10 की 70 अंक की लिखित प्री-बोर्ड परीक्षा के अंक बोर्ड की वेबसाईट पर अपलोड है जिनके आधार पर वर्ष 2021 की हाईस्कूल परीक्षा के परीक्षार्थियों के अंको का निर्धारण का फार्मूला निम्नवत हैः-
1-कक्षा-9 की  70 अंको की वार्षिक विषयवार लिखित परीक्षा का 50 प्रतिशत अंक ।
2-कक्षा-10 की 70 अंको की प्री-बोर्ड विषयवार लिखित परीक्षा का 50 प्रतिशत अंक ।
3-वर्ष 2021 में विद्यालय स्तर पर सम्पादित 30 अंको की आन्तरिक मूल्यॉकन परीक्षा के अंक।

उपर्युक्तानुसार आगणन के पश्चात प्राप्त तीनो अंको को जोड़कर सम्बन्धित परीक्षार्थी के विषयवार अंको का निर्धारण किया जायेगा।

उदाहरणार्थ- यदि परीक्षार्थी ने कक्षा-9 की वार्षिक लिखित परीक्षा में 70 अंको में से 60 अंक पायें हैं तब 50 प्रतिशत देयता के अनुसार उसके 30 अंक लिये जायेंगे। कक्षा-10 की प्री-बोर्ड लिखित परीक्षा में 70 अंको में से 40 अंक पायें हैं तब 50 प्रतिशत देयता के अनुसार उसके 20 अंक लिये जायेंगे। आन्तरिक मूल्यॉकन परीक्षा में यदि उसने 30 अंक में से 28 अंक पायें हैं तब सम्बन्धित परीक्षार्थी को कुल अंक 30़+20़+28=78 अंक प्राप्त होंगे।

वर्ष 2021 की परीक्षा में पंजीकृत कुल परीक्षार्थियों की संख्या 56,04,628 है। हाईस्कूल परीक्षा में कुल 29,94,312 परीक्षार्थी पंजीकृत हुये हैं, जिसमें संस्थागत परीक्षार्थी 29,74,487 (99.34 प्रतिशत) तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थी 19,825 (0.66 प्रतिशत) हैं।
 
इण्टरमीडिएट परीक्षा में कुल 26,10,316 परीक्षार्थी पंजीकृत हुये हैं जिनमें संस्थागत परीक्षार्थी 25,17,658 (96.45 प्रतिशत) तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थी 92,658 (3.55 प्रतिशत) हैं। कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण उत्पन्न असाधारण परिस्थितियों में परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के दृष्टिगत तथा सत्र को नियमित करने एवं छात्र हित में कक्षा-10 एवं कक्षा-12 की बोर्ड परीक्षाएं निरस्त की गयी।

निरस्त की गयी बोर्ड परीक्षाओं से सम्बन्धित परीक्षार्थियों के परीक्षाफल को तैयार करने हेतु अंकों को आगणित किये जाने वाली प्रक्रिया एवं आधारों को निर्धारित किये जाने के सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा विभाग, उ0प्र0 शासन, लखनऊ की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय 11 सदस्यीय समिति का गठन किया गया जिसमें शासन, निदेशालय, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के साथ-साथ विद्यालयों के प्रधानाचार्य एवं अन्य विशेषज्ञों को सम्मिलित किया गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर