पश्चिम बंगाल: 10वीं-12वीं में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को लेकर ममता सरकार ने लिया ये फैसला

पश्चिम बंगाल में 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं की प्री-फाइनल टेस्ट नहीं होंगे। कोरोना वायरस महामारी के चलते ये फैसला किया गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसकी घोषणा की है।

students
पश्चिम बंगाल में अभी स्कूल नहीं खोले गए हैं 

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि कक्षा 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के प्री-फाइनल टेस्ट नहीं होंग। कोरोना वायरस महामारी के चलते ये फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा, 'वर्तमान में चल रही कोरोना महामारी की स्थिति के कारण राज्य शिक्षा विभाग ने निर्णय लिया है कि वर्तमान में 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों के प्री-फाइनल टेस्ट नहीं होंगे।'

छात्रों को बिना परीक्षा के पास कर दिया जाएगा। स्कूलों को फिर से खोलने के सवाल पर ममता ने कहा कि स्कूलों को फिर से खोलने पर निर्णय नवंबर के मध्य के बाद ही लिया जाएगा। ममता बनर्जी ने पहले कहा था कि उनका प्रशासन 15 नवंबर को काली पूजा के बाद शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने के बारे में सोचेगा। ये कोविड-19 की स्थिति पर निर्भर करता है।

शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा था कि महामारी की स्थिति में सुधार होने तक स्कूलों को फिर से नहीं खोला जा सकता है और बच्चों की सुरक्षा राज्य सरकार की प्राथमिकता है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर