JEE Main Toppers 2022: जेईई (मेंस) के दूसरे सत्र का रिजल्ट घोषित, 24 छात्रों ने हासिल किए 100 फीसदी अंक

एजुकेशन
आईएएनएस
Updated Aug 08, 2022 | 12:57 IST

JEE Main Toppers 2022: जेईई मेंस सत्र 2 का रिजल्ट व आंसर की जारी होने के बाद नया अपडेट आ गया है, सफल उम्मीदवार अब जेईई एडवांस 2022 के लिए पंजीकरण कर सकेंगे। इसके लिए आधिकारिक साइट व डायरेक्ट लिंक यहां से देखा जा सकता है...

jee main result 2022 session 2, jee main result 2022, jee main result session 2, jee main result 2022 session 2 time
Jee Main 2022: 24 छात्रों ने हासिल किए 100 फीसदी अंक 
मुख्य बातें
  • जेईई मेंस रिजल्ट के बार टॉपर्स की भी जानकारी साझा कर दी गई है।
  • इसके साथ ही अगले चरण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
  • समय कम है 12 अगस्त से पहले अगले चरण के लिए आपको आवेदन करना होगा।

JEE Main Toppers 2022 List Released: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने सोमवार 8 अगस्त को जेईई (मेंस) के दूसरे सत्र का रिजल्ट भी घोषित कर दिया। जेईई (मेंस) के दूसरे सत्र में 24 छात्रों ने 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं। इससे पहले पिछले महीने जारी किए गए जेईई (मेंस) के पहले सत्र में कुल 14 छात्रों ने शत प्रतिशत अंक हासिल किए थे। जेईई (मेंस) के पहले और दूसरे सत्र में कुल मिलाकर 9 लाख से अधिक छात्र शामिल हुए थे।

विदेश में भी आयोजित हुई परीक्षा

भारत के अलावा जिन अन्य देशों या विदेशी शहरों में यह परीक्षाएं आयोजित की गई थी उनमें दोहा, दुबई, काठमांडू, मस्कट, रियाद, शारजाह, सिंगापुर, कुवैत, लागोस, कोलंबो, जकार्ता, वियना, मॉस्को, व बैंकॉक प्रमुख हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) अब जेईई (मेंस)- 2022 परीक्षा के दोनों सत्रों के रिजल्ट के आधार पर अभ्यर्थियों की रैंक बनाएगी। इन परीक्षाओं में करीब 10 छात्र ऐसे हैं, जिन्होंने पहले सत्र में 100 फीसदी अंक हासिल किए बावजूद इसके इन छात्रों ने दूसरे सत्र की भी परीक्षा दी और दूसरे सत्र की परीक्षाओं में भी इन छात्रों ने 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं।

गौरतलब है कि जेईई मेंस में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्र जेईई एडवांस की परीक्षा दे सकेंगे। जेईई एडवांस में अच्छी रैंक हासिल करने वाले छात्रों को देशभर के आईआईटी संस्थानों समेत देश के विख्यात इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिला मिलेगा।

24 छात्रों ने 100 फीसदी अंक

जेईई (मेंस) के दूसरे सत्र में जिन 24 छात्रों ने 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं। उनमें महाराष्ट्र से सरनाईक मोहन सकाला, राजस्थान से नव्या, मयंक मोटवानी, कृष्णा शर्मा और पार्थ भारद्वाज, हरियाणा से सार्थक माहेश्वरी, असम से स्नेहा पारीक, बिहार से अरुदीप कुमार, पंजाब से मृणाल गर्ग, आंध्र प्रदेश से कोय्याना सुहास, रवि किशोर, मेंदा हिमा वामसी, पल्ली जलजकशि और कार्तिकेय, तेलंगाना से रूपेश बियानी, धीरज, जस्ती यशवंत, शिवा नागा वैंकटा आदित्य, अनिकेत चट्टोपाध्याय, केरल से थॉमस बीजू, कर्नाटक से बोया हरेन साथविक, झारखंड से कुशाग्र श्रीवास्तव, उत्तर प्रदेश से कनिष्क शर्मा और सुमित्रा गर्ग शामिल हैं।

इनमें से कई छात्रों ने जेईई मेंस के पहले सत्र में भी सत्र में भी 100 फीसदी अंक हासिल किए थे। इनमें सार्थक माहेश्वरी, अनिकेत चट्टोपाध्याय, धीरज, कोय्यन्ना सुहास, कुशाग्र श्रीवास्तव, मृणाल गर्ग, स्नेहा पारीक, राजस्थान से नव्या शामिल है।

एनटीए की वरिष्ठ निदेशक (परीक्षा) डॉ. साधना पाराशर के मुताबिक परीक्षा प्रणाली को पारदर्शी बनाने के लिए परीक्षार्थियों द्वारा सत्यापन के लिए उत्तर कुंजी के साथ प्रश्नपत्र और दर्ज प्रतिक्रियाओं को वेबसाइट पर प्रदर्शित किया गया था। विषय विशेषज्ञों द्वारा सत्यापित करने के बाद संशोधित उत्तर कुंजी वेबसाइट पर प्रकाशित की गई थी।

प्रति पाली में लगभग 35000 कैमरे

एनटीए परिसर में एक कंट्रोल रूम खोला गया था, जहां भारत के सभी परीक्षा केंद्रों के लाइव कवरेज के निरीक्षण के लिए आभासी पर्यवेक्षकों को तैनात किया गया था। परीक्षा में कदाचार को रोकने के लिए सीसीटीवी से लाइव निगरानी की गई। एनटीए ने दूरस्थ स्थान को लाइव देखने और एनटीए स्थित नियंत्रण कक्ष सभी परीक्षा केंद्रों के सीसीटीवी सिस्टम की रिकॉर्डिग की व्यवस्था भी की है। प्रति पाली में लगभग 35000 कैमरे लगाए गए थे।

29000 जैमर लगाए गए

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने रिजल्ट जारी करने के साथ ही बताया कि परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों द्वारा मोबाईल नेटवर्क का उपयोग कर मोबाईल या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के माध्यम से किए जाने वाले नकल जैसे कदाचार को रोकने के लिए सभी केंद्रों पर जैमर लगाए गए थे। सभी 14 पालियों की प्रति पाली में कुल लगभग 29000 जैमर लगाए गए थे। परीक्षाएं कोविड-19 संबंधी सावधानियों के साथ आयोजित की गई।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर