अभ्युदय कोचिंग: सिविल सेवा, नीट, जेईई सबकी तैयारी फ्री कराएगी UP सरकार, पंजीकरण 10 से

अभ्युदय कोचिंग' के लिए पंजीकरण 10 फवरी से शुरू हो रहे हैं और बसंत पंचमी से क्लास शुरू होंगी। इस योजना के तहत सिविल सेवा, नीट और जेईई जैसी प्रतिष्ठित प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी योगी सरकार नि:शुल्क करवाएगी।

Abhyudaya Coaching of UP Government
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजनान्तर्गत हर मंडल मुख्यालय पर निःशुल्क ऑफलाइन और ऑनलाइन प्रशिक्षण तथा विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा पैटर्न आदि के संबंध में अभ्यर्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए यूपी में शुरू हुई है 'मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना
  • आईएएस, आईपीएस, पीएसीएस अधिकारी लेंगे क्लास
  • मंडल स्तर पर खुलेंगे अभ्युदय कोचिंग सेंटर, मुख्य सचिव ने जारी किया आदेश

लखनऊ: सिविल सेवा, नीट और जेईई जैसी प्रतिष्ठित प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 'अभ्युदय योजना' के तहत बसंत पंचमी से पढ़ाई शुरू होगी। पूरी तरह निःशुल्क इस खास कोचिंग का लाभ लेने के लिए पहले पंजीकरण कराना होगा, जिसकी प्रक्रिया 10 फरवरी से शुरू हो रही है। अभ्युदय के पोर्टल पर   पंजीकरण के बाद 16 फरवरी से अध्ययन-अध्यापन का क्रम प्रारंभ होगा। संभव है कि पंजीकृत अभ्यर्थियों के साथ 15 फरवरी को सीएम योगी संवाद भी करें। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।

तैयारी से जुड़ी हर समस्या का होगा समाधान: सीएम योगी की यह खास कोचिंग अभावग्रस्त अथवा वित्तीय संसाधनों की कमी वाले परिवार के बच्चों के लिए बड़ा सम्बल होगी। इस अभिनव कोचिंग में ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल और लेक्चर आदि तो उपलब्ध होंगे ही, ऑफलाइन क्लास में आईएएस और पीसीएस परीक्षा के लिए प्रशिक्षु आईएएस, आईपीएस, आईएफएस (वन सेवा), पीसीएस अधिकारियों द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा। जबकि एनडीए और सीडीएस की परीक्षा के लिए प्राचार्य, उत्तर प्रदेश सैनिक स्कूल द्वारा गाइडेंस मिलेगी। यह नहीं, नीट, जेईई, बैंक पीओ, एसएससी और टीईटी आदि परीक्षाओं के लिए भी कक्षाएँ चलेंगी। तय व्यवस्था के अनुसार, विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ भी अतिथि व्याख्याता के तौर पर आमंत्रित किए जाएंगे। यहां प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विषय का चयन परीक्षा की तैयारी के तरीके, टिप्स, प्रश्नों के उत्तर लिखने की विधि, सामान्य अध्ययन के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त, विषय विशेषज्ञ की उपलब्धता के आधार पर विभिन्न विषयों की कक्षायें भी चलेंगी।

ऑनलाइन-ऑफ़लाइन मोड में होगी पढ़ाई

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजनान्तर्गत हर मंडल मुख्यालय पर निःशुल्क ऑफलाइन और ऑनलाइन प्रशिक्षण तथा विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा पैटर्न आदि के संबंध में अभ्यर्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी। यही नहीं, विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी (उपाम) द्वारा क्वेश्चन बैंक, प्रश्नोत्तरी आदि भी तैयार कर वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही, विभिन्न उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थाओं के स्टडी मैटेरियल भी मुहैया कराए जाएंगे। मंडल स्तर पर प्रशिक्षण केंद्रों के संचालन व समन्वयन की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी (उपाम) को दी गई है। उपाम द्वारा हर साल एक तय समय पर पात्रता परीक्षा आयोजित कराई जाएगी, जिसके माध्यम से अभ्यर्थियों का चयन होगा।

ऑनलाईन प्लेटफार्म पर भी उपलब्ध होगा स्टडी कंटेंट

अभ्यर्थियों को सहजता के साथ गुणवत्तापूर्ण स्टडी मैटेरियल मिल सके, इसके लिए राज्य स्तर पर ई-लर्निंग कन्टेन्ट प्लेटफार्म बनाया जा रहा है। इस प्लेटफार्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा परीक्षा की तैयारी संबंधी अपने अनुभव साझा करते हुए वीडियो अपलोड किए जाएंगे। इसके अलावा, परीक्षा की तैयारी से संबंधित टिप्स सामग्री, पुस्तकों आदि से संबंधी मार्गदर्शन देते हुए वीडियो अपलोड होगा। लाइव सेशन एवं सेमिनार भी होंगे। ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर छात्र अपनी जिज्ञासाएं एवं प्रश्न भी सबमिट कर सकेंगे। यहां विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित विषय वस्तु सामग्री एवं क्यूरेटिव कन्टेन्ट उपलब्ध होगा, जिसके लिए ख्याति प्राप्त संस्थाओं की सामग्री इकट्ठा की जा रही है। पंजीकृत अभ्यर्थियों को ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर सवाल पूछने का भी मौका होगा। जिसका विशेषज्ञ समुचित निराकरण करेंगे।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर