CBSE, CISCE, हरियाणा बोर्ड ने रद्द की 12वीं की परीक्षा, रिजल्‍ट के फॉर्मूले के लिए अभी करना होगा इंतजार

कोरोना वायरस महामारी के बीच सीबीएसई के साथ-साथ आईएससी ने भी 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया है। छात्रों, अभिभावकों ने इस फैसले का स्‍वागत किया है।

CBSE के बाद CISCE ने भी रद्द की 12वीं की बोर्ड परीक्षा
CBSE के बाद CISCE ने भी रद्द की 12वीं की बोर्ड परीक्षा  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • कोरोना संकट के बीच CISCE ने भी 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया है
  • 12वीं परीक्षा को लेकर पीएम मोदी की अध्‍यक्षता में हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया गया
  • हरियाणा सरकार ने भी राज्य बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया है

नई दिल्‍ली : कोरोना संकट के बीच सीबीएसई के साथ-साथ आईएससी की 12वीं बोर्ड परीक्षा भी रद्द करने का फैसला लिया गया है। कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए बड़ी संख्‍या में छात्र, अभिभावक परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहे थे, जिन्‍होंने इस फैसले का स्‍वागत किया है। परीक्षा के बगैर रिजल्‍ट किस तरह तैयार होगा, इस बारे में बाद में फैसला लिया जाना है।

काउंसिल फॉर द इंडियन सर्टिफिकेट एग्‍जामिनेशंस (CISCE) के चेयरमैन डॉ. जी इमैनुएल ने मंगलवार को बताया कि इंडियन स्‍कूल सर्टिफिकेट (ISC) बोर्ड परीक्षा (12वीं कक्षा) रद्द कर दी गई है।' परीक्षा के बगैर रिजल्‍ट किस आधार पर तैयार किया जाएगा, इस बारे में फैसला लिया जाना अभी बाकी है। इस संबंध में सरकार की ओर से कहा गया है कि परीक्षा परिणाम समयबद्ध तरीके से अच्छी तरह से परिभाषित वस्तुनिष्ठ मानदंडों के अनुसार तैयार किए जाएंगे। 

'छात्रों की सुरक्षा महत्वपूर्ण'

यह फैसला 12वीं की परीक्षा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंगलवार देर शाम हुई उच्‍च स्‍तरीय बैठक के बाद लिया गया, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी, प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव, कैबिनेट सचिव और शिक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह फैसला छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर लिया गया है। इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'छात्रों का स्वास्थ्य और उनकी सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है और इससे किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जा सकता है।' उन्होंने कहा कि ऐसे तनाव भरे माहौल में छात्रों को परीक्षा में शामिल होने को लेकर दबाव नहीं डाला जाना चाहिए।

हरियाणा ने भी रद्द की बोर्ड परीक्षा

इस बीच हरियाणा सरकार ने भी राज्य बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया है। केंद्र सरकार द्वारा सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का ऐलान किए जाने के कुछ ही देर बाद राज्य सरकार का यह निर्णय सामने आया है। शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने मंगलवार को कहा, 'हम केंद्र द्वारा लिए गए फैसले के साथ हैं और बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया है।'

उन्होंने कहा कि राज्य बोर्ड 12वीं कक्षा के छात्रों के नतीजों को संकलित करने के संबंध में कदम उठाएगा और इस बाबत जल्द ही कार्य शुरू किया जाएगा।

फैसले का स्‍वागत

सीबीएसई और आईएससी की 12वीं परीक्षा रद्द किए जाने के फैसले का छात्रों, अभिभावकों और नेताओं ने भी स्‍वागत किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसका स्‍वागत करते हुए कहा, 'हम सभी को अपने बच्चों के स्वास्थ्य की चिंता है। यह बड़ी राहत की बात है।' कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि आखिरकार उनकी आवाज सुनी गई।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर