Delhi: आनंद पर्वत इलाके में घर में आग लगने से 3 की मौत, रसोई गैस से हुआ हादसा

क्राइम
मोहित ओम
मोहित ओम | Senior correspondent
Updated Oct 06, 2021 | 12:23 IST

Anand Parbat Fire : आनंद पर्वत के गुलशन चौक की पंजाबी बस्ती के G ब्लॉक के एक मकान के रसोई घर में आग आग लग गई और देखते ही देखते आग पूरे घर में फैल गई।

Delhi : 2 children among 3 killed in ’s Anand Parbat fire due to gas leakage
13 साल की बच्ची का अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

मुख्य बातें

  • मंगलवार की रात घरेलू सिलेंडर में गैस के लीक होने पर फैली आग
  • मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग पर मशक्कत के बाद काबू पाया
  • इलाज के दौरान परिवार के तीन सदस्यों की मौत, 1 का इलाज जारी

नई दिल्ली : मध्य दिल्ली के आनंद पर्वत इलाके में मंगलवार की रात दर्दनाक घटना सामने आई। यहां एक घर में आग लगने से एक महिला समेत उसके दो जुड़वा बच्चों की मौत हो गई। घटना रात 9:00 बजे की है। आनंद पर्वत के गुलशन चौक की पंजाबी बस्ती के G ब्लॉक के एक मकान के रसोई घर में आग आग लग गई और देखते ही देखते आग पूरे घर में फैल गई। मौके पर पहुंचे दिल्ली फायर सर्विस के कर्मचारियों ने आनन-फानन में आग पर काबू पाया और आग में घायल हुए 4 लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल में भर्ती कराया।

कैसे लगी आग

यह आग रसोई घर में रबड़ पाइप से लगनी शुरू हुई थी। ये पाइप एलपीजी सिलेंडर से जुड़ा हुआ था। पाइप से गैस रिस रही थी जिससे पूरे घर मे आग फैल गई। जिस वक्त आग लगी उस वक्त 13 साल की बच्ची महक रसोई में कुछ काम कर रही थी। अचानक आग लगने से वह घबरा गई और गैस का चूल्हा खुला छोड़कर कमरे की तरफ अंदर चली गई जिस कारण से एलपीजी गैस और तेजी से फैली और आग भी उतनी तेजी से घर मे फैल गई।

कौन-कौन आया चपेट में

जिस वक्त आग लगी, घर के मुखिया राजेश घर से बाहर थे। घर में उनके तीन बच्चे और बीवी मौजूद थी। रसोई घर से शुरू हुई आग ने देखते ही देखते पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया और घर में मौजूद चारों लोग इसकी चपेट में आ गए। आग से झुलसे लोगों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर्स ने इलाज के दौरान परिवार के तीन लोगों को मृत घोषित कर दिया। मृतकों में राजेश के पत्नी सुशीला (36 साल) जुड़वा बच्चे मानसी और मोहन (7 साल) मृत घोषित कर दिया। 13 साल की बच्ची का अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

दिल्ली फायर सर्विस के डायरेक्टर अतुल गर्ग का कहना है कि जिन घरों में एलपीजी सिलिंडर का प्रयोग होता है वहां अत्यधिक सतर्कता बरतने की जरूरत होती है। घर में अगर हल्की सी बी गैस फैलने की बदबू आए तो उसकी तुरंत शिकायत करनी चाहिए। सिलिंडर को घर से बाहर ले जाना चाहिए, उस दौरान कोई भी बिजली का बटन ऑन नही करना चाहिए। रसोई घर में प्रयोग में आने वाले गैस चूल्हे की समय-समय पर सर्विस करवानी चाहिए, सफाई के दौरान अक्सर एलपीजी सिलेंडर से जुड़े रबड़ पाइप को देखना चाहिए कि उसमें कहीं कोई कट तो नहीं लग रहा। 6 महीने में गैस पाइप को बदल देना चाहिए। अगर आप इन सब बातों का ध्यान रखते हैं तो घर में ऐसी बड़ी घटना होने से बचा जा सकता है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर