Prank Video: 'ट्यूशन' के बहाने 'प्रैंक' फिर 'पोर्न' बनाकर तैयार किए वीडियोज, कर रहे थे मोटी कमाई

क्राइम
रवि वैश्य
Updated Feb 28, 2021 | 08:07 IST

Porn on the name of Prank: मुंबई में एक ऐसी कोचिंग सेंटर का पता चला है जो लड़कियों को प्रैंक बनाने के लिए बहला-फुसला कर बुलाता था फिर अश्लील वीडियोज तैयार करता था।

PRANK VIDEO
प्रतीकात्मक फोटो 

मुख्य बातें

  • ऐसे वीडियो में लड़कियों को थोड़ी देर के लिए सार्वजानिक जगह पर ले जाते थे
  • बातचीत में उनके प्राइवेट पार्ट को छूते थे और उनके वीडियोज तैयार करते थे
  • कई लड़कियों का अश्लील वीडियो बनाकर उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किए

मुंबई में यंग लड़कियों को बहलाफुसला कर उनके अश्वील वीडियो बनाकर उससे भारी कमाई करने का मामला सामने आया है बताया जा रहा है कि वीडियोज ये गैंग सोशल मीडिया आदि प्लेटफार्म पर डालकर उससे पैसे कमा रहे थे, इस मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले का खुलासा होने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है।

क्राइम ब्रांच ने आरोपियों से जो पूछताछ की है उसके मुताबिक ये लोग लड़कियों को प्रैंक करने के नाम पर बुलाते थे और बाद में उन्हें वीडियो में अश्लील हरकत करने के लिए मजबूर किया जाता था वहीं उनसे अश्लील शब्दों का भी प्रयोग जबरन करवाया जाता था।उन्होंने कई लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाए और वह उन्हें धमकाते भी थे

बताते हैं कि ये लोग बेहद शातिराना तरीके से अपने काम को अंजाम देते थे, आरोपी लोगों को गलत जानकारी देकर अश्लील वीडियो बनाते थे ये लड़कियों को प्रैंक करने की बात कहकर बुलाते थे और बाद में वीडियो में अश्लील हरकत की जाती था साथ ही अश्लील शब्दों का इस्तेमाल भी करवाते थे, इतना ही नहीं बल्कि ये लोग बातचीत में उनके प्राइवेट पार्ट को भी छूते थे।

यूट्यूब चैनलों पर काफी संख्या में वीडियो बनाए गए

यह गिरोह लड़कियों को एक्टिंग के नाम पर बुलाते थे और उन्हें एक्टिंग के लिए 500 से लेकर 1500 रुपये या कभी ज्यादा पैसा भी देते थे इसके बाद ये लोग अश्लील वीडियो बनाने के लिए पब्लिक प्लेस पर लेकर जाते थे। इस गिरोह ने कई लड़कियों का अश्लील वीडियो बनाकर उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया और लड़कियों को मुंह ना खोलने की धमकी भी दी थी,कोविड काल में ऐसे वीडियो की संख्या खासी बढ़ी है बताते हैं कि यूट्यूब चैनलों पर काफी संख्या में वीडियो बनाए गए हैं वहीं पुलिस का कहना है कि वो इन सभी वीडियो को लेकर वे यूट्यूब और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के अधिकारियों से बातचीत करेंगे और कोशिश करेंगे कि सभी वीडियो को यहां से हटवाया जाए।

करीब 2 करोड़ की कमाई इस गलत काम से की

पुलिस ने इस मामले में 3 आरोपियों को दबोचा है, इस मामले में मुख्य आरोपी साल 2008 में कक्षा 10 का टॉपर रहा था वह अभी भी दिखावे के तौर पर ट्यूशन पढ़ाता है साथ ही नाबालिग लड़कियों को भी प्रैंक में शामिल होने की बात कहकर बुलाता था और बाद में अश्लील वीडियो तैयार कर कमाई कर रहा था, एक अनुमान के मुताबिक इन्होंने करीब 2 करोड़ की कमाई इस गलत काम से की है। गिरफ्तार आरोपियों के एक का नाम मुकेश गुप्ता है जो कोचिंग चलाता है एक अन्य आरोपी का नाम जीतू गुप्ता और तीसरे आरोपी का नाम नटखट प्रिंस बताया जा रहा है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर