पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को ऑस्‍ट्रेलिया ले गई महिला, मुंबई से लौटा शख्‍स तो रह गया हैरान

UP News: यूपी के पीलीभीत जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां एक महिला कथित तौर पर पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को ऑस्‍ट्रेलिया टूर पर लेकर चली गई। पति ने अब पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को ऑस्‍ट्रेलिया ले गई महिला, मुंबई से लौटा शख्‍स तो रह गया हैरान
पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को ऑस्‍ट्रेलिया ले गई महिला, मुंबई से लौटा शख्‍स तो रह गया हैरान  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • आरोप है कि महिला पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को विदेश ले गई
  • लॉकडाउन के कारण वे वहां फंस गए और अब मामले का खुलासा हुआ
  • महिला के पति के आरोपों पर शिकायत दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है

पीलीभीत : उत्‍तर प्रदेश के पीलीभीत जिले से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहां एक महिला पति के पासपोर्ट पर प्रेमी को लेकर ऑस्‍ट्रेलिया के टूर पर चली गई थी। दोनों मार्च में यहां लौटने वाले थे, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण विमानों के संचालन पर पाबंदी लग गई और वे वहीं फंस गए। बाद में सरकार ने विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए विशेष उड़ानें शुरू की, जिसके बाद 24 अगस्‍त को वे देश लौटे और मामले का खुलासा हुआ।

महिला (36) के पति ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। जिले के दामगढ़ी गांव के रहने वाले महिला के 46 वर्षीय पति पिछले 20 वर्षों से मुंबई में कार्यरत रहे हैं, जिन्‍होंने पुलिस में शिकायत दी है कि उनकी पत्‍नी के संदीप सिंह (36) नाम के एक स्‍थानीय नागरिक से विवाहेतर संबंध हैं और संदीप ने फर्जी कागजातों का सहारा लेकर उनके नाम का इस्‍तेमाल करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया की यात्रा की।

पति ने दर्ज कराई शिकायत

शिकायतकर्ता का आरोप है कि वह मुंबई में काम करता है, जबकि उसकी पत्नी पीलीभीत में रहती है। यहां उनकी पैतृक संपत्ति है, जिसकी देखभाल महिला करती है। उसने अपनी शिकायत में कहा है कि उसका अक्‍सर गांव आना-जाना रहा है, जब पत्‍नी से उसकी मुलाकात होती रही है। लेकिन 18 मई को जब वह पीलीभीत पहुंचा तो उसे पत्‍नी घर में नहीं मिली। बाद में संदीप के परिजनों से पता चला कि दोनों ऑस्ट्रेलिया चले गए थे।

शख्‍स ने यह दावा भी किया कि उसके पास पासपोर्ट नहीं था और पत्‍नी व संदीप सिंह ने फर्जी कागजातों का इस्‍तेमाल कर उनके नाम से पासपोर्ट बनवाया। इसकी तस्‍दीक के लिए कि उसके नाम से पासपोर्ट है या नहीं, शख्‍स ने बरेली के पासपोर्ट कार्यालय में पासपोर्ट के लिए आवेदन दिया, जिस पर अधिकारियों ने उसे बताया कि उसके नाम पर पासपोर्ट पहले से मौजूद है और यह 2 फरवरी, 2019 को जारी किया गया था।

पुलिस फिलहाल शिकायतकर्ता के आरोपों की जांच कर रही है। एजेंसियां इसकी जांच में भी जुटी है कि आखिर शिकायतकर्ता के नाम पर किसी और को पासपोर्ट कैसे जारी किया गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर