चाचा ने पिस्तौल देकर कहा मां और भाई-बहन को गोली मार दे, लड़की ने नहीं मानी बात और...

दसवीं कक्षा की एक छात्रा ने अपनी मां और भाई-बहन की हिफाजत के लिए खुदकुशी कर ली। लड़की पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी।

body
सांकेतिक फोटो 

नई दिल्ली:  उत्तर प्रदेश के आगरा में एक 16 वर्षीय लड़की की आत्महत्या का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। लड़की के चाचा ने उससे मां और भाई-बहन को गोली मारने के लिए कहा था। लड़की अपने चाचा की इस बात से बेहद परेशान थी जिसके बाद उसने खुद ही मौत को गले लिया। लड़की ने आत्महत्या से पहले एक वीडियो बनाया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दसवीं कक्षा की इस छात्रा ने चार पेज का सुसाइड नोट भी छोड़ा है। घटना देवरी रोड स्थित शांति नगर की है, जो सदर पुलिस थाने की सीमा के अंतर्गत आता है।

लड़की का पिता हुआ गिरफ्तार

वीडियो में लड़की ने दावा किया कि चाचा ने उसकी 38 वर्षीय मां और दो भाई-बहन को गोली मारने के लिए उसे तमंचा दिया, लेकिन वह अपनी जान लेने का विकल्प चुन रही है। लड़की ने आरोप लगाया कि पिता, दो चाचा और एक चचेरे भाई ने उसके अलावा, मां और दो भाई-बहनों को मानसिक रूप से खूब प्रताड़ित किया है। लड़की का शव 16 अप्रैल को उसके कमरे में लटका हुआ पाया गया था। पुलिस ने उसके पिता को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है जबकि बाकी फरार हैं। 

अपने 'सुसाइड नोट' में लड़की ने लिखा, 'मैं जीना चाहती थी। मैंच पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी ताकि अपनी मां और भाई-बहन को न्याय दिला सकूं। लेकिन मैं अपना जीवन समाप्त कर रही हूं क्योंकि मैं अब थक गई हूं। हम चारों को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया है। मेरे पिता, दो चाचा और चचेरे भाई रोजाना हमें परेशान करते हैं।'  इसके अलावा लड़की ने 'सुसाइड नोट' में आरोप लगाया, 'मेरी मां से शादी करने से पहले, मेरे पिता ने अपनी पहली पत्नी और उसके चार की हत्या कर दी थी।'

'मेरी मौत के बाद कड़ी सजा दी जानी चाहिए'

लड़की ने लिखा, 'मेरे चाचा जेल की सजा काट चुके हैं। उन्होंने मुझसे छेड़छाड़ की और गलत काम किया। मेरी मौत के बाद उन सभी को कड़ी सजा दी जानी चाहिए।' लड़की की मां द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर के अनुसार, 16 अप्रैल की सुबह परिवार पर चार लोगों ने हमला किया गया था। इसके बाद दोपहर में लड़की मृत पाई गई। मां ने आरोप लगाया, 'चार लोगों ने मेरी बेटी की हत्या कर दी, मैं उस वक्त काम के लिए बाहर थी।' टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सदर एसएचओ कमलेश कुमार सिंह ने सोमवार को कहा, 'हम आत्महत्या से पहले लड़की द्वारा लगाए गए सभी आरोपों की जांच कर रहे हैं।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर