Rajasthan: अपने डॉक्टर पिता पर बेटे ने की फायरिंग, घायल हुआ 10 साल का बच्चा

Son Fire on dholpur Hospital doctor:राजस्थान के धौलपुर से एक हैरान करने वाली वारदात सामने आई है जहां एक बेटे ने अपने पिता को गोली मारी लेकिन वो वहां आए एक 10 साल के बच्चे को लग गई।

Representational Image
प्रतीकात्मक फोटो 

मुख्य बातें

  • 10 साल का बच्चा तरुण शर्मा बीमारी का इलाज कराने के लिए आया था
  • डॉ. महेश राठौर के बेटे आदित्य ने अपने पिता पर फायरिंग की
  • फायरिंग का शिकार 10 साल का मासूम तरुण हो गया, उसकी हालत स्थिर है

जयपुर: राजस्थान के धौलपुर में एक 10 साल का लड़का ने एक डॉक्टर के बेटे द्वारा अपने क्लिनिक में गोली चलाने के बाद गोली लगने से घायल हो गया। कथित तौर पर आरोपी अपने पिता पर गोलियों का निशाना बना रहा था लेकिन वो निशाना चूक गया। 10 वर्षीय पीड़ित बीमारी का इलाज कराने के लिए क्लिनिक पहुंचा था। डॉक्टर की पहचान महेश राठौर के रूप में हुई। राठौड़ के बेटे आदित्य ने अपने पिता द्वारा कार और 50 लाख रुपये देने से इनकार करने के बाद धौलपुर में अपने क्लिनिक में फायरिंग कर दी।

10 साल का बच्चा तरुण शर्मा बीमारी का इलाज कराने के लिए डॉ. महेश राठौर के क्लिनिक में पहुंचा था, जब डॉक्टर मरीज को देख रहा था, उसका बेटा आदित्य अंदर चला गया।आदित्य ने अपने पिता को एक नोट सौंपा, जिसमें 50 लाख रुपये और कार की मांग की गई थी।

जब राठौड़ ने अपने बेटे की सनक को पूरा करने से इनकार कर दिया, तो बाद में कथित तौर पर फायरिंग कर दी। आदित्य ने अपने पिता पर गोली चलाने का प्रयास किया लेकिन गोली तरुण को जा लगी। घटना के बाद आदित्य मौके से भाग गया।

बच्चे के पैर में गोली लगने से क्लीनिक में हड़कंप मच गया

आरोपी द्वारा की गई फायरिंग से लोगों में दहशत फैल गई। बच्चे के पैर में गोली लगने से क्लीनिक में हड़कंप मच गया वहां पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। मामला गृह क्लेश का बताया जा रहा है जिसे लेकर युवक ने अपने पिता पर गोली से जानलेवा हमला किया है। घटना के बाद, धौलपुर कोतवाली और निहालगंज पुलिस राठौर के क्लिनिक पर पहुंची और मरीजों के साथ उसका बयान दर्ज किया। 'मामले के एक पुलिस अधिकारी ने द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, "हमने आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है और सभी गवाहों के बयान लेंगे।'

पुलिस ने कहा कि वे आरोपियों के मोबाइल फोन को ट्रेस कर रहे हैं और आपराधिक रिकॉर्ड भी देख रहे हैं। अभी तक कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई। 10 वर्षीय लड़के को अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसका इलाज चल रहा है, उसे स्थिर हालत में बताई गई गया है।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर