नेशनल रेसलर निशा दहिया की हत्या की खबर गलत, खुद वीडियो जारी कर कहा- मैं बिल्कुल ठीक हूं

राष्ट्रीय स्तर की पहलवान निशा दहिया की हत्या की खबर गलत निकली। उन्होंने खुद वीडियो जारी कर कहा कि यह फर्जी खबर है, मैं ठीक हूं।

National Wrestler Nisha Dahiya murder news is wrong, released video itself and said- I am fine
राष्ट्रीय स्तर की पहलवान निशा दहिया 

नेशनल रेसलर निशा दहिया की हत्या की खबर सामने आने के बाद रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा जारी एक वीडियो में पहलवान निशा दहिया खुद बता रही हैं कि मैं सीनियर नेशनल खेलने के लिए गोंडा में हूं। मैं ठीक हूं। यह फर्जी खबर है (उनकी मौत की रिपोर्ट)। मैं ठीक हूं।गौर हो कि यह खबर आई थी कि हरियाणा के सोनीपत के हलालपुर में सुशील कुमार रेसलिंग एकेडमी में बुधवार (10 नवंबर) को अज्ञात हमलावरों ने राष्ट्रीय स्तर की पहलवान निशा दहिया और उनके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। न्यूज एजेंसी 'भाषा' ने भी पुलिस के हवाले से लिखा था कि पहलवान निशा दहिया और उनके भाई की हरियाणा के सोनीपत में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

खबर में बताया गया था कि निशा दहिया और उसके भाई सूरज ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि उनकी मां धनपति को गंभीर हालत में रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने निशा दहिया और उसके भाई सूरज की लाशों को पोस्टमॉर्टम के लिए सोनीपत के सिविल अस्पताल में भेज दिया है। लेकिन यह खबर फर्जी निकली क्योंकि निशा दहिया ने खुद वीडियो जारी कर कहा कि मैं बिल्कुल ठीक हूं।

नेशनल रेसलर निशा दहिया के लिए अभ्यास का यह सामान्य दिन था जो यहां राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप की तैयारियों में जुटी थीं लेकिन दिन के अंत में यह पहलवान खुद को ‘जीवित’ साबित करने में व्यस्त हो गई क्योंकि उनके नाम की ही एक पहलवान की हरियाणा में गोली मारकर हत्या कर दी गई। जब खबर आई कि सोनीपत में एक एकेडमी के बाहर निशा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी है तो यहां इकट्ठे हुए सैकड़ों साथी पहलवान, कोच और अधिकारी स्तब्ध रह गए। निशा ने वीडियो जारी कर कहा, ‘मैं ठीक हूं। ’

हाल में बेलग्रेड में अंडर-23 विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली निशा को जब यह खबर बताई गई तो वह अभ्यास कर रही थीं। लेकिन सभी को यह समझने में ज्यादा देर नहीं लगी कि जिस महिला की हत्या हुई है, वह प्रशिक्षण ले रही पहलवान है जिसका नाम भी ‘निशा दहिया’ था।

निशा ने कहा कि जब से यह रिपोर्ट आई है, तब से उनका फोन बजना बंद नहीं हुआ है। इस युवा पहलवान ने कहा कि मुझे इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में एक घंटे पहले ही पता चला जब मैं राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के लिये अभ्यास कर रही थी और मैं स्तब्ध रह गई। इसके बाद मुझे मेरे परिवार और दोस्तों के फोन आने शुरू हो गये।  उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से सभी को यह जानकर खुशी हुई कि मैं जीवित हूं। मैं अब टूर्नामेंट के लिए तैयारी कर रही हूं। 

इससे पहले निशा ने ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक के साथ बैठकर खुद का एक वीडियो बनाया जिसमें उन्होंने आश्वस्त किया कि वह ठीक हैं। भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने उन्हें इस वीडियो को बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिये कहा था।

डब्ल्यूएफआई सहायक सचिव विनोद तोमर ने पता लगाया कि मामला क्या था। उन्होंने निशा के फिजियो से बात की जो यह इस तरह का सवाल सुनकर हैरान थे। तोमर ने कहा कि मैंने उन्हें फोन किया ताो उन्होंने बताया कि उस समय निशा उनके साथ अभ्यास कर रही थी। फिर मैंने निशा से वीडियो बनाकर मैसेज भेजने के लिए कहा कि वह सुरक्षित है। 

इस भ्रम के कारण नन्दिनी नगर खेल परिसर में अंतिम मिनट की तैयारियां रूक गई और इनमें देरी हुई जिसमें प्रविष्टियों का सत्यापन शामिल है। लेकिन अब अधिकारी काम पर जुट गये हैं।

कुश्ती कोच रणधीर मलिक विश्व चैम्पियनशिप में भारतीय महिला टीम के साथ थे, उन्होंने उस महिला के बारे में कुछ जानकारी दी जिसकी हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि जिस लड़की की हत्या हुई, वह सोनीपत में हलालपुर गांव की थी। वह निशा दहिया थी लेकिन अंडर-23 विश्व चैम्पियनशिप में जाने वाली निशा दहिया नहीं। वह छोटे से गांव की थी और उसने अभी खेलना शुरू किया था। 

डब्ल्यूएफआई सचिव ने कहा कि हालांकि वह अभी शुरुआत ही कर रही थी लेकिन खेल ने अपनी एक पहलवान को गंवा दिया। उन्होंने कहा कि हां, ये वाली निशा सुरक्षित है लेकिन हमने किसी को खो दिया है। मैं उसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता लेकिन कुश्ती जगत ने अपनी एक पहलवान को इस दुखद तरीके से गंवा दिया। मैं नहीं जानता कि वह कहां ट्रेनिंग करती थी। 
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर