महिला बनकर सोशल मीडिया पर किशोर लड़कियों से मंगाता था अश्लील वीडियो-तस्वीरें, मैकेनिक गिरफ्तार

Delhi Crime : पुलिस के मुताबिक फतेहपुर बेरी इलाके की रहने वाली 15 साल की एक लड़की ने शिकायत की कि उसने अपने पिता के मोबाइल फोन पर एक इंस्टाग्राम आईडी बनाई।

Man from Lucknow arrested for blackmailing minor girls on social media
किशोर लड़कियों से दोस्ती कर उनसे अश्लील तस्वीरें मांगता था आरोपी। 

मुख्य बातें

  • महिला बनकर किशोर लड़कियों से दोस्ती करता था आरोपी
  • फिर सोशल मीडिया पर उनसे अश्लील तस्वीरें और वीडियो मांगता था
  • पेश से मैकेनेक है आरोपी, मोबाइल से मिलीं 150 लड़कियों की तस्वीरें

अनुज मिश्रा/दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने लखनऊ से एक मैकेनिक को गिरफ्तार किया। मैकेनिक पर आरोप है कि वह इंस्टाग्राम और टेक्स्ट नाउ एप के जरिए लड़कियों से पहले लड़की बनकर दोस्ती करता और फिर उनकी अश्लील तस्वीरें एवं वीडियो लेकर उन्हें ब्लैकमेल करता था। पुलिस के मुताबिक आरोपी के मोबाइल से करीब 150 लड़कियों की अश्लील तस्वीरें और वीडियो मिले हैं। पुलिस ने उसके पास से स्मार्ट मोबाइल फोन बरामद किया है जिसमें अश्लील तस्वीरें और वीडियो मिले हैं।

फतेहपुर बेरी की लड़की ने शिकायत की
पुलिस के मुताबिक फतेहपुर बेरी इलाके की रहने वाली 15 साल की एक लड़की ने शिकायत की कि उसने अपने पिता के मोबाइल फोन पर एक इंस्टाग्राम आईडी बनाई। इस इंस्टाग्राम आईडी का उपयोग करते हुए, वह एक अन्य लड़की के संपर्क में आई, जो दूसरी आईडी का उपयोग कर रही थी। उस लड़की ने शिकायतकर्ता के साथ अपनी बड़ी बहन के रूप में सामान्य बातचीत शुरू की। 

महिला बनकर किशोर लड़कियों से बात करनी शुरू की 
एक महीने के बाद उस कथित लड़की ने शिकायतकर्ता को कई अश्लील तस्वीरें और वीडियो भेजे। शिकायतकर्ता को भी उसी तरह की अश्लील तस्वीरें और वीडियो भेजने के लिए कहा। उसने शिकायतकर्ता को वादा किया कि वह इसे आगे नहीं भेजेगी और खुद रख लेगी। शिकायतकर्ता ने उस लड़की को अपनी अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजीं। फिर, उसने अपना मोबाइल नंबर साझा किया और व्हाट्सएप के माध्यम से वीडियो कॉल करना शुरू कर दिया, लेकिन उसने कभी अपना चेहरा नहीं दिखाया। 

ब्लैकमेल करने की साजिश रच रहा था शख्स
जब उसने अपना चेहरा नहीं दिखाया, तो शिकायतकर्ता ने उसे अनदेखा करना शुरू कर दिया, फिर उस कथित लड़की ने शिकायतकर्ता की अश्लील तस्वीरें एवं वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी। जब शिकायतकर्ता की सहेली ने अश्लील वीडियो और फोटो देखे तो उसने उस नंबर पर वीडियो कॉल करने की कोशिश की,उस वीडियो कॉल को एक शख्स ने उठाया। जिसके बाद शिकायतकर्ता को समझ में आ गया कि उसको फोन करने वाला कोई लड़की नही बल्कि उसको ब्लैकमेल करने की साजिश रची जा रही थी। 

शिकायत मिलने पर पुलिस ने जांच शुरू की
पुलिस को जैसे ही इस बाबत शिकायत मिली तो पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एक टीम बनाकर जांच शुरू की। पुलिस की टीम ने सबसे पहले कॉल करने वाली उस रहस्यमयी लड़की की तलाश शुरू की। पुलिस ने उसके द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे मोबाइल नंबर और इंस्टाग्राम आईडी की जानकारी हासिल करने के लिए व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम को नोटिस भेजे। जिसके बाद पुलिस को कुछ आईपी पते का पता चला जो निजी कंपनियों के थे। पुलिस ने इस आईपी एड्रेस की जानकारी हासिल शुरू की तो पता चला कि उसने  कुछ और इंस्टाग्राम आईडी भी बना ली है। उन आईडी के बारे में जानकारी भी इंस्टाग्राम से ली गई। 

मोबाइल फोन में मिलीं 150 लड़कियों की अश्लील तस्वीरें
इंस्टाग्राम द्वारा मिली जानकारी का पता लगाते ही पुलिस को लखनऊ के एक लड़के का पता मिला। जिसके बाद पुलिस ने 23 साल के अब्दुल समद नाम के शख्स को गिरफ्तार कर लिया। जांच के दौरान पुलिस को आरोपी के पास से जो स्मार्ट मोबाइल फोन मिले थे उसमे करीब 150 लड़कियों की अश्लील तस्वीरें मिलीं। पूछताछ के दौरान आरोपी अब्दुल ने बताया कि वह नाबालिग लड़कियों के साथ बात करता था और उनकी अश्लील तस्वीरें और वीडियो देखता था। उसने नाबालिग लड़कियों को आपमे झांसे में लेने के लिए खुद को एक लड़की के रूप में प्रेजेंट करता था ताकि बातचीत का दौर आगे बढ़ सके। उसके इंस्टाग्राम मैसेंजर में कई मैसेज हैं, जिसमें उसने टीन एज गर्ल्स के साथ उसी तरह बातचीत शुरू की। 

एयर-कंडीशनर मैकेनिक के रूप में काम करता है आरोपी
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि दसवीं कक्षा के बाद उसने अपनी पढ़ाई छोड़ दी और उसने एयर-कंडीशनर मैकेनिक के रूप में काम करना शुरू कर दिया। उसके पिता पेशे से एक दर्जी हैं और मां एक गृहिणी हैं। सोशल साइट्स और यूट्यूब में उसकी दिलचस्पी शुरू से थी। वह 'टेक्स्ट नाउ' एप पर एनआरआई बनकर भी लड़कियों से बात करता था, जब लड़कियां उसे अपने अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजती थीं, तो वह उन्हें ब्लैकमेल करता था। वह अश्लील वीडियो और तस्वीरें अपने वॉट्स एप ग्रुप में भेजता था। वह नई-नई इंस्टाग्राम आईडी बनाता रहता था, ताकि उसकी आईडी ट्रेस न हो सके। फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर ये पता लगाने की कयावद कर रही है कि इसने अब तक कितने मासूमों को अपना शिकार बनाया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर