विमान रुकवाने के लिए नाराज पत्नी को बता दिया सुसाइड बॉम्बर, गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी जांच

क्राइम
Updated Nov 04, 2019 | 21:14 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

शख्स ने अपनी नाराज पत्नी के बारे में अधिकारियों को गलत सूचना दी और फोन पर कहा कि उसकी बीवी आत्मघाती हमलावर है।

Man calls wife suicide bomber
प्रतीकात्मक तस्वीर 

Wife Suicide Bomber, नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने शनिवार को जानकारी देते हुए कहा कि एक शख्स ने 8 अगस्त को दिल्ली हवाई अड्डे पर फोन कर उन्हें सूचित किया कि उसकी पत्नी एक आत्मघाती हमलावर है। शख्स अपनी पत्नी को उसे छोड़कर विदेश जाने से रोकने की कोशिश कर रहा था और इसी दौरान उसने ऐसा कदम उठाया।

शख्स ने अपने गलत कॉल ने न सिर्फ उसकी पत्नी और दो बच्चों को बेहतर जीवन की तलाश में दुबई जाने से रोका, बल्कि उसकी वजह से उस शाम को एयरपोर्ट पर सेवाएं भी बाधित हुईं। पुलिस के विशेष आयुक्त संजीव कुमार यादव ने बताया कि संदिग्ध व्यक्ति की पहचान नाम नसरुद्दीन के रूप में हुई है, जो एक 28 वर्षीय व्यक्ति है और जो चेन्नई में एक बैग निर्माण करने वाली कंपनी में काम करता है। वह बिहार से है, लेकिन 2008 से चेन्नई में रह रहा था।

डीसीपी ने कहा, 'पति- पत्नी के बीच आर्थिक विवाद चल रहा था और ज़बीना ने अपने पति को छोड़ने और बेहतर जीवन के लिए दुबई जाने का फैसला किया।' 8 अगस्त को, नसरुद्दीन एक ट्रेन में मौजूद था और इसी दौरान ज़बीना ने उसे अपने विदेश जाने के फैसले के बारे में बताया। डीएससीपी ने कहा, 'शख्स ने पत्नी को मनाने की कोशिश की, लेकिन वह जाने की जिद पर अड़ी थी। इसके बाद उसने इंटरनेट की मदद से नंबर पाकर दिल्ली एयरपोर्ट फोन लगाया।'

डीएसपी ने कहा कि नसरुद्दीन ने कथित तौर पर एयरपोर्ट अधिकारियों को बताया कि ज़बीना नाम की एक महिला एक आत्मघाती हमलावर है जो विमान में उड़ान भर रही थी। उसने एक कॉल के दौरान अधिकारियों को जबीना का नंबर दिया और इसके बाद अपना नंबर बंद कर लिया।

सुरक्षा एजेंसियों को जांच करने के बाद पता चला कि खतरे की जानकारी गलत थी लेकिन इस दौरान एयरपोर्ट की सेवाओं में व्यवधान आया। गुरुग्राम के उद्योग विहार पुलिस स्टेशन में धमकी भरे कॉल का मामला सामने आया। नसरुद्दीन से पुलिस को जो नंबर मिला उससे उन्हें महिला की लोकेशन तो नहीं मिली। विमान को रुकवाकर जब महिला की तलाशी के दौरान पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह कोई सुसाइड बॉम्बर नहीं है और विमान से विदेश जा रही है। इस घटना के  बाद नसरुद्दीन लापता हो गया।

डीसीपी ने आगे बताया, '15 अगस्त को, हमें एक गुप्त सूचना मिली कि नसरुद्दीन बवाना औद्योगिक क्षेत्र में छिपा हुआ है। हमने उसे गिरफ्तार किया। उसके पास वही सिम कार्ड और फोन भी मिले जिनका इस्तेमाल गुमराह करने वाली कॉल के दौरान किया गया था।'

8 अगस्त को हुई इस घटना की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी भी करेगी। गृह मंत्रालय मामले की पड़ताल के लिए मामले को एनआईए के सुपुर्द कर दिया है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर