Karnataka: पीडब्ल्यूडी के जूनियर इंजीनियर के घर पर छापा, ड्रेनेज पाइप से 13 लाख रुपए निकले, VIDEO

कर्नाटक में कई जगह भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने सरकारी अधिकारियों के आवास पर छापेमारी की है। कुलबर्गी में PWD के एक कनिष्ठ अभियंता के घर में एक ड्रेनेज पाइप से 13 लाख रुपए बरामद किए गए।

raid
कई जगह ACB की छापेमारी 
मुख्य बातें
  • कर्नाटक में कई जगह ACB की छापेमारी, कई सरकारी अधिकारी निशाने पर
  • PWD के एक जूनियर इंजीनियर के घर में पाइप से लाखों रुपए निकले
  • इंजीनियर पर कई जगह संपत्ति होने के बारे में पता चला है

नई दिल्ली: कर्नाटक में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने आज कथित आय से अधिक संपत्ति की जांच के तहत राज्यभर में 68 स्थानों पर विभिन्न विभागों के 15 सरकारी अधिकारियों को निशाना बनाते हुए एक साथ तलाशी अभियान शुरू किया। कर्नाटक एसीबी ने कलबुर्गी में एक पीडब्ल्यूडी कनिष्ठ अभियंता के आवास पर छापेमारी के दौरान लगभग 13 लाख रुपए की वसूली की। घर की पाइप में से भी पैसे बरामद किए गए। इसका वीडियो भी सामने आया है। 

एसीबी के उत्तर पूर्वी रेंज के एसपी महेश मेघनावर ने कहा कि पीडब्ल्यूडी के एक कनिष्ठ अभियंता के घर में एक ड्रेनेज पाइप से बरामद 13 लाख रुपए सहित छापे के दौरान कुल 54 लाख रुपए नकद मिले।

आठ एसपी, 100 अधिकारियों और 300 एसीबी कर्मचारियों के नेतृत्व में टीमों ने मंगलुरु, बेंगलुरु, मंड्या और कुछ जिलों में 15 सरकारी अधिकारियों और उनके रिश्तेदारों के घरों और कार्यालयों की तलाशी ली। 

एसीबी की एक टीम ने 24 नवंबर को सुबह 7 बजे के आसपास गुब्बी कॉलोनी में शांतनगौड़ा बिरदार के आवास की तलाशी ली। बिरदार पीडब्ल्यूडी कर्नाटक के जेवरगी उपखंड में एक जूनियर इंजीनियर हैं। एसीबी अधिकारियों को इस बारे में सटीक जानकारी थी। उन्होंने इस पीवीसी पाइप को काटने के लिए प्लंबर को बुलाया। आवास में पाए गए संपत्ति के दस्तावेजों से संकेत मिलता है कि पीडब्ल्यूडी अधिकारी के पास कलबुर्गी में गुब्बी कॉलोनी और बड़ेपुर में घर, ब्रह्मपुर में दो आवासीय भूखंड और कोटनूर डी एक्सटेंशन में दो अन्य भूखंड, 35 एकड़ खेत और दो फार्महाउस हैं। एसीबी के सूत्रों ने कहा कि संपत्तियों की कीमत का अभी पता नहीं चल पाया है।

बिरदार ने 1992 में कलबुर्गी जिला पंचायत के इंजीनियरिंग विभाग में अस्थायी आधार पर एक जूनियर इंजीनियर के रूप में अपना करियर शुरू किया। उन्हें 2000 में एक नियमित कर्मचारी के रूप में काम पर रखा गया था। उन्होंने कलबुर्गी जिले के अलंद और विजयपुरा जिले के अलमेल में सेवा दी थी और कलबुर्गी जिले के जेवरगी में स्थानांतरित होने से पहले उन्होंने सेवा की थी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर