'बिकिनी किलर' कुख्यात अपराधी चार्ल्स शोभराज जिसके अपराधों पर पुलिस भी मांगती थी पानी

क्राइम
रवि वैश्य
Updated Apr 09, 2021 | 06:45 IST

Charles Sobhraj's Crime:दक्षिणपूर्वी एशिया के लगभग सभी देशों में विदेशी पर्यटकों को अपना शिकार बनाने वाला चार्ल्स शोभराज चोरी और ठगी का भी ऐसा खिलाड़ी है जिससे कई देशों की पुलिस भी पानी मांगती है।

infamous criminal Charles Sobhraj's Life
1986 में चार्ल्स अपने साथियों के साथ नई दिल्ली की तिहाड़ जेल से भागने में कामयाब रहा था 

मुख्य बातें

  • चार्ल्स सोभराज चोरी और ठगी का ऐसा माहिर खिलाड़ी है जिसकी मिसाल कम ही मिलती है।
  • कुख्यात चार्ल्स शोभराज का पर्सनैलिटी बेहद ही रहस्यमयी रही है
  • साल 1976 से 1997 तक चार्ल्स शोभराज भारतीय जेल में सजा काट चुका है

चार्ल्स शोभराज (Charles Sobhraj) अपराध जगत की दुनिया (Crime World) का एक ऐसा नाम है जिसने कई देशों की पुलिस की नींदे उड़ा रखी थीं बताते हैं कि वो इतना शातिर था और इतनी सफाई से अपराधों को अंजाम देता था कि लोग उसका सुराग ही लगाते रह जाते थे और वो अपराध कर अपनी राह पर निकल लेता था।

बताते हैं कि इस शातिर अपराधी चार्ल्स शोभराज का जन्म वियतनाम में हुआ था वियतनामी मां और भारतीय पिता की संतान चार्ल्स शोभराज का वास्तविक नाम हतचंद भाओनानी गुरुमुख चार्ल्स शोभराज है बताते हैं कि दक्षिणपूर्वी एशिया के तकरीबन सभी मुल्कों के लोगों को अपना शिकार बनाने वाला चार्ल्स शोराज चोरी और ठगी का ऐसा माहिर खिलाड़ी है जिसकी मिसाल कम ही मिलती है।

चार्ल्स शोभराज का पर्सनैलिटी बेहद ही रहस्यमयी रही है और उसे बिकनी किलर (Bikini killer) के नाम से भी जाना जाता है उसके अपराध का तरीका इतना शातिराना होता था कि किसी को उसकी भनक जल्दी नहीं लगती थी।

कहा जाता है कि मानसिक विकारों से ग्रस्त चार्ल्स शोभराज केवल अपनी लाइफस्टाइल को रोचक और उत्तेजक बनाए रखने के लिए हत्याएं और धोखाधड़ी जैसे अपराध करता आया है। 

1976 से 1997 तक चार्ल्स शोभराज भारतीय जेल में सजा काट चुका है

साल 1976 से 1997 तक चार्ल्स शोभराज भारतीय जेल में सजा काट चुका है फिर वह पेरिस चला गया बाद में नेपाल आने के बाद उसे गिरफ्तार कर कई मुकद्दमे चलाए गए थे और साल 2004 के अगस्त महीने में चार्ल्स शोभराज को आजीवन कारावास की सजा दी गई नेपाली सर्वोच्च न्यायालय ने भी 30 जुलाई, 2010 को उसकी इस सजा को बरकरार रखा था।

विदेशी महिलाएं उसका मुख्य शिकार होती थीं

चार्ल्स शोभराज मैरी एंड्री के संपर्क में आया जो आपराधिक वारदातों में उसका सहयोग करती रही 1970 के दशक में उसने विदेशी पर्यटकों को अपना निशाना बनाना शुरू किया, वह उनका फ्रेंड बनकर उनके लिए नशीली दवाइयां देता, फिर उनकी हत्या कर देता, विदेशी महिलाएं उसका मुख्य शिकार बनतीं थीं।

बताते हैं कि उसने कई लोगों की हत्या की 1986 में चार्ल्स अपने साथियों के साथ नई दिल्ली की तिहाड़ जेल से भागने में कामयाब रहा लेकिन बहुत जल्द ही उसे पकड़ लिया गया 1997 में सजा पूरी करने के बाद चार्ल्स सोभराज रिहा हुआ फिर लाल 2003 में नेपाल आने के बाद उसे दो लोगों की हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा दी गई।

चार्ल्स की जिंदगी आज भी फिल्म और OTT निर्माताओं को लुभा रही है

बिकिनी किलर' नाम से कुख्यात अंतर्राष्ट्रीय अपराधी चार्ल्स शोभराज अपनी जवानी के दिनों में 'द स्प्लिटिंग किलर' और 'द सर्पेंट' जैसे नामों से भी काफी चर्चित रहा है। उसकी गिरफ्तारी के कई वर्षो बाद भी एक संदिग्ध सीरियल किलर, जालसाज, सुरक्षा व पुलिसकर्मियों की आंखों में धूल झोंककर फरार होने वाले शातिर अपराधी की जिंदगी आज भी फिल्म और ओटीटी निर्माताओं को आकर्षित करती है।नए ओटीटी सीरीज 'द सर्पेंट' के साथ शोभराज का जीवन एक बार सुर्खियों में है।

स्नेक (अभी रिलीज नहीं हुई)

खबरों के अनुसार, फारुख ढोंडी के शोध और शोभराज के साथ साक्षात्कार के आधार पर सीरीज के तीन सीजन हिंदी और अंग्रेजी में बनाए जाएंगे। यह सीरीज जी5 पर स्ट्रीम होगी।

मैं और चार्ल्स (2015)

चार्ल्स की जीवनी पर आधारित प्रवाल रमन की 2015 में रिलीज हुई फिल्म 'मैं और चार्ल्स' में रणदीप हुड्डा ने लीड रोल किया है। वरिष्ठ पुलिस अफसर आमोद कंठ, जो शोभराज मामले को देख रहे थे, की भूमिका आदिल हुसैन ने निभाई है। यह एक प्रभावशाली फिल्म तो थी, मगर यह बॉक्स ऑफिस पर बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाई।

शोभराज, ऑर हाउ टू बी फ्रेंड्स विद ए सीरियल किलर (2004)

वर्ष 2004 में फिनलैंड के फिल्म निर्माता जान वेलमैन ने 'शोभराज, ऑर हाउ टू बी फ्रेंड्स विद ए सीरियल किलर (2004)' नामक डॉक्यूमेंट्री बनाई। फिल्म ने उस समय इस विषय में नए सिरे से रुचि पैदा की, इस तथ्य को देखते हुए कि 22 सितंबर, 2003 को शोभराज को गिरफ्तार किया गया था।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर