मानवता फिर शर्मसार, हिमाचल प्रदेश में केरल जैसी घटना, गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, हुई बुरी तरह घायल

Himachal Pradesh: हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में एक गर्भवती गाय को किसी ने विस्फोटक गोला खिला दिया, जिससे उसे काफी चोट आई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

cow
गाय को काफी चोट लगी है 

मुख्य बातें

  • केरल में गर्भवती हथिनि की मौत के बाद लोगों में काफी गुस्सा है
  • हिमाचल के बिलासपुर में गाय को खिलाया गया विस्फोटक गोला
  • मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी

नई दिल्ली: केरल में गर्भवती हथिनी को विस्फोट खिलाने के मामले के बाद हिमाचल प्रदेश से भी ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां बिलासपुर जिले के झंडूता में गाय को विस्फोटक खिलाकर घायल करने का मामला सामने आया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है। झंडूता क्षेत्र में किसी ने एक गर्भवती गाय को विस्फोटक गोला खिला दिया, जिससे गाय बुरी तरह से घायल हो गई।

गाय के मालिक ने घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर डाला जो तेजी से वायरल हो रहा है। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज किया है। पूरे मामले की गहराई से जांच की जा रही है। इस घटना के बाद से लोगों में काफी गुस्सा है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस घटना के बारे में अनभिज्ञता व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें जानकारी नहीं है, लेकिन हिमाचल प्रदेश में किसी भी परिस्थिति में ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सीएम ने कहा कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को किसी भी हाल में छोड़ा नहीं जाएगा। 

हथिनी की हत्या को लेकर लोगों में गुस्सा

इससे पहले केरल के पालक्कड़ में एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अन्नानास खाने को दे दिया, जिसे खाने से हथिनी के निचले जबड़े को नुकसान हुआ और उसकी मौत हो गई। ऐसा संदेह है कि 15 वर्षीय हथिनी ने पटाखों से भरा अन्नानास खा लिया जो उसके मुंह में फट गया, जिसके एक सप्ताह बाद 27 मई को वेलियार नदी में उसकी मौत हो गई। जब ये खबर सामने आई तो देशभर में इसके खिलाफ गुस्सा देखा गया। इस घटना की देशभर में व्यापक स्तर पर आलोचना हो रही है। हालांकि इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

घाव से कुछ खा नहीं पाई थी गर्भवती हथिनी

हथिनी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया कि संभवत: पटाखों के विस्फोट के कारण उसके मुंह के अंदर गहरे घाव हो गए थे और इस कारण वह लगभग दो सप्ताह तक कुछ खा नहीं सकी और एक नदी में गिरकर डूब गई। हथिनी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार ऐसी आशंका है कि मुंह में पटाखे फटने से उसे गहरे घाव हो गए और उस जगह पर सेप्सिस हो गया। इससे दर्द बढ़ गया और हथिनी लगभग दो सप्ताह तक कुछ खा-पी नहीं सकी। गंभीर दुर्बलता और कमजोरी के कारण वह पानी में गिर गई और डूब गई।

अगली खबर