सपा के पूर्व सांसद अक्षय यादव के गनर की दबंगई, ढाबे पर मुफ्त खाने के लिए खुलेआम की फायरिंग 

यूपी के ग्रेटर नोएडा के कासना इलाके में सपा के पूर्व सांसद अक्षय यादव के गनर सोनू भाटी ने ढाबे पर मुफ्त खाने के लिए खुलेआम फायरिंग कर डाली, पुलिस ने उसके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है।

firing
प्रतीकात्मक फोटो 

ग्रेटर नोएडा: सपा नेता रामगोपाल यादव के बेटे और समाजवादी पार्टी के पूर्व फिरोजाबाद सांसद अक्षय यादव के गनर ने ढाबे पर कथित तौर पर उन्हें और उनके तीन दोस्तों को खाना देने से मना करने के बाद एक ढाबा मालिक उनके कर्मचारियों पर गोलियां चला दीं, खाने के लिए इसलिए मना किया गया था क्योंकि देर रात ढाबा बंद होने वाला था, इस मामले पर पुलिस ने कहा कि चार दोस्तों को गिरफ्तार किया गया है।

समाजवादी पार्टी के फिरोजाबाद से पूर्व सांसद अक्षय यादव के गनर सोनू भाटी अपने तीन दोस्तों के साथ करीब साढ़े बारह बजे कासना इलाके के ढाबे पर पहुंचे थे और मांग की थी कि खाने वाले कर्मचारी उन्हें खाना परोसें। हालांकि, ढाबा मालिक अमित ने उन्हें खाना परोसने से यह कहते हुए मना कर दिया कि बहुत लेट हो गया है इसलिए इस वक्त खाना नहीं दिया जा सकता।

गनर ने ढाबे के मालिक और उसके कर्मचारियों पर गोलियां चला दीं

पुलिस ने बताया कि 'इससे ढाबा मालिक अमित और गनर सोनू और उनके दोस्तों के बीच बहस हुई, जिसके बाद गनर ने ढाबे के मालिक और उसके कर्मचारियों पर गोलियां चला दीं। सौभाग्य से,  गोलीबारी में कोई घायल नहीं हुआ। उस समय, ढाबा में लगभग 15 लोग मौजूद थे' ढाबे के मालिक अमित और उसके कर्मचारी खुद को बचाने के लिए अलग-अलग जगहों पर भागे और स्थानीय पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद कासना पुलिस की एक टीम वहां पहुंची और चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। कांस्टेबल सोनू भाटी को जो फिरोजाबाद पुलिस लाइंस से अटैच कर दिया गया है वहीं उसके दोस्त-सतेंद्र भाटी, शिवम सिंह और दुर्गेश को गिरफ्तार किया गया है।

307 (हत्या की कोशिश) और 504 का मामला दर्ज

जबकि सोनू भाटी और सतेंद्र ग्रेटर नोएडा के दनकौर इलाके के हैं, शिवम मेरठ का है और दुर्गेश फिरोजाबाद का है। एडिशनल डीसीपी (ग्रेटर नोएडा) ने कहा कि आरोपियों पर आईपीसी की धारा 307 (हत्या की कोशिश), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और 34 (सामान्य इरादे) के तहत मामला दर्ज किया गया है। उनके कब्जे से एक लाइसेंसी रिवॉल्वर और दो एसयूवी जब्त की गई हैं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर