दिल्ली-एनसीआर-पंजाब तक इन गैंगस्टर ने नाक में कर रखा है दम, NIA के एक्शन से टूटेगी कमर

Gangsters in North India: सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद यह लॉरेंस बिश्नोई गैंग लगातार चर्चा में हैं। इसका मुखिया लारेंस बिश्नोई पंजाब का रहने वाला है और रिटायर्ड पुलिस कांस्टेबल का बेटा है।

GANGSTERS IN DELHI NCR
लारेंस बिश्वनोई तिहाड़ में बंद है। 
मुख्य बातें
  • सिंगर सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मनसा में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
  • उत्तर भारत के गैंगस्टरों के बने दो गुटों में नीरज बवाना गैंग एक गुट की अगुआई करता है
  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश का कुख्यात गैंगेस्टर बदन सिंह बद्दो है। इस पर यूपी और दिल्ली पुलिस ने ईनाम रखा हुआ है।

Gangsters in North India:पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या से जुड़े गिरोहों की धड़-पकड़ को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आज दिल्ली-एनसीआर-पंजाब के गैंगस्टरों और उनके सहयोगियों पर बड़ा एक्शन लिया है। एजेंसी दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा और पंजाब के 60 इलाकों में छापेमारी की है। एक समय मुंबई, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई गैंगस्टर नाक में दम किया करते थे। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में दिल्ली-एनसीआर, पंजाब और पश्चिमी यूपी में गैंगस्टर का एक नया नेटवर्क खड़ा हो गया है।

NIA को आतंकियों से कनेक्शन का शक

उत्तर भारत के इन  गैंगस्टरों को लेकर जांच एजेंसियों को शक है कि सभी  के आतंकियों से कनेक्शन हैं। और इन्हें पाकिस्तान से हथियार मुहैया करवाए जा रहे हैं। इस बात का संदेह है कि आतंकियों के कहने पर यह देश में माहौल खराब कर सकते हैं और भारत में टारगेट किलिंग कर सकते हैं। पिछली कुछ जांच में खासतौर पर पंजाब के गैंगस्टर्स के ISI और खालिस्तानी आतंकियों के साथ गठजोड़ के तार मिले हैं। 

एनआईए ने NCR स्थित गैंगस्टरों के पूरे नेटवर्क को खत्म करने की योजना बनाई है।  इस सूची में करीब दस से बारह गैंगस्टरों के नाम है, जिनके खिलाफ कार्रवाई का फैसला किया गया है। जिसमें दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान समेत उत्तर प्रदेश के गैंगस्टर निशाने पर हैं।

लॉरेंस बिश्नोई गैंग

 सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद यह गैंग लगातार चर्चा में हैं। इसका मुखिया लारेंस बिश्नोई, पंजाब का रहने वाला है और रिटायर्ड पुलिस कांस्टेबल का बेटा है। लॉरेंस पर 30 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। और वह कई बार पुलिस हिरासत से भाग चुका है। पहले वो जोधपुर और भरतपुर की जेल में बंद था। लेकिन अब दिल्ली की तिहाड़ जेल में।  कहा जाता है कि जेल में रहने के बावजूद वह आसानी से अपना गैंग चला रहा है। अनुमान के अनुसार उसके गैंग में 400-500 से अपराधी हैं। जेल के बाहर उसका काम गोल्डी बराड़ संभालता है। और इस समय वह कनाडा से गैंग को आपरेट कर रहा है। 

देश में कई जगहों पर NIA की रेड, ISI-खालिस्तानी आतंकियों से संबंध के बाद हो रही है गैंगस्टर्स के ठिकानों पर छापेमारी

देवेंदर बंबीहा गैंग 

 देवेंदर बंबीहा गैंग की साल 2016 में पुलिस एनकाउंटर में मौत के बाद भी गैंग उसके नाम से एक्टिव है।  मूसेवाला की हत्या के बाद से बंबीहा गैंग भी सक्रिय हो गया है। गैंग ने मूसेवाला की हत्या का बदला लेने का एलान कर दिया है। लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने सिद्धू मूसेवाला की बंबीहा गैंग से नजदीकी का आरोप लगाया था।

नीरज बवाना गैंग

उत्तर भारत के गैंगस्टरों के बने दो गुटों में नीरज बवाना गैंग एक गुट की अगुआई करता है। नीरज बवाना  दिल्ली के बवाना का रहने वाला है। बवाना पर हत्या, जमीन पर कब्जा, उगाही समेत करीब 50 केस दर्ज हैं। नीरज बवाना कई साल से दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। लॉरेंस बिश्नोई भी इसी जेल में बंद है। बिश्नोई और बवाना एक-दूसरे के दुश्मन माने जाते हैं। नीरज बवाना की ओर से सोशल मीडिया पर धमकी दी गई है कि दो दिन के अंदर ,पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या का बदला लिया जाएगा। 

बदन सिंह बद्दो

पश्चिमी उत्तर प्रदेश का कुख्यात गैंगेस्टर बदन सिंह बद्दो है। इस पर यूपी और दिल्ली पुलिस ने ईनाम रखा हुआ है। बदन सिंह बद्दो ने जब अपने पिता के ट्रांसपोर्ट के कारोबार में कदम रखा। तो उसके संबंध इलाके के बदमाशों से हो गए। बद्दो के खिलाफ यूपी समेत कई राज्यों में लूट, डकैती और हत्या के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था। 29 मार्च 2019 को उसे गाजियाबाद पेशी पर लाया गया था। वापसी के दौरान फरार हो गया। तब से यूपी पुलिस उसकी तलाश कर रही है। और उसके गुर्गे सक्रिय हैं।

 जग्गू भगवानपुरिया गैंग 

 पंजाब में ये गैंग एक्टिव है। अपहरण, वसूली, हाईवे पर लूट-पाट के अपराधों में यह गैंग शामिल है। गैंग का मुखिया जग्गू भगवानपुरिया है। उसे 2015 में ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके बावजूद उसका गैंग सक्रिय है। माना जाता गगै कि इसके गैंग में 50 से ज्यादा अपराधी शामिल हैं। 

29 मई को हुई थी सिद्धू मूसेवाला की हत्या

सिंगर सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मनसा में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के समय वह अपने दोस्त और चचेरे भाई के साथ जवाहर के गांव जा रहे थे। इस हत्याकांड के मामले में अब तक 23 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि मामले में कुल 35 आरोपियों के नाम सामने आए हैं। एक अन्य आरोपी सचिन बिश्नोई को पहले अजरबैजान में हिरासत में लिया गया था। पंजाब पुलिस ने शनिवार मूसेवाला की हत्या में कथित रूप से शामिल छठे और आखिरी शूटर को गिरफ्तार किया था।


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर