Delhi Crime News: रात में उस बाबा की नीयत हो जाती थी काली, दोहरे हत्याकांड में हुई गिरफ्तारी

दिन के उजाले में वो बाबा बनकर सबको आशीर्वाद देता था। लेकिन काली रात में उसकी नीयत भी काली हो जाती थी। दिल्ली पुलिस ने दोहरे हत्याकांड में एक शख्स की गिरफ्तारी की तो सनसनीखेज जानकारी सामने आई।

Delhi Crime News: रात में उस बाबा की नीयत हो जाती थी काली, दोहरे हत्याकांड में हुई गिरफ्तारी
दिल्ली के करावल नगर में डबल मर्डर केस में गिरफ्तारी 

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे संदिग्ध को गिरफ्तार किया जिसके बारे में जानकारी हुई तो कोई भी भरोसा नहीं कर सका कि ऐसा भी हो सकता है। दरअसल उत्तर पूर्वी दिल्ली के करावल नगर में एक महिला और उसके बेटे की हत्या हो गई थी। दिल्ली पुलिस ने जब हत्यारे की तलाश शुरू की तो राहुल नाम के एक शख्स पर शक हुआ। राहुल के बारे में गहराई से जानकारी करने पर पता चला कि वो खुद को स्वघोषित बाबा बताता था। लेकिन लालच में आकर उसने अपराध को अंजाम दिया।

दिल्ली के करावल नगर में डबल मर्डर
हत्या कथित तौर पर बुधवार आधी रात को हुई। वारदात के 12 घंटे के अंदर आरोपी राहुल को गिरफ्तार कर लिया गया। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, संदिग्ध गाजियाबाद का रहने वाला है।रिपोर्ट में डीसीपी संजय सेन के हवाले से कहा गया है, "मृत महिला की पहचान उमलेश और उसके बेटे अशोक के रूप में हुई है।

वे अपनी इमारत की पहली मंजिल पर रहते थे और भूतल पर किराने की दुकान चलाते थे।"पुलिस को हत्या की सूचना गुरुवार सुबह करीब आठ बजे दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस को दो शव खून से लथपथ पड़े मिले। अशोक का शव बिस्तर पर पड़ा मिला, जबकि उमलेश का शव फर्श पर पड़ा था। उन्हें कथित तौर पर बहकाया गया और गला घोंट दिया गया।

20 किमी के दायरे में सभी सीसीटीवी की जांच
डीसीपी ने  कहा कि जांच के दौरान हमने 20 किलोमीटर से अधिक के दायरे से सीसीटीवी फुटेज बरामद किए। हमने फुटेज का विश्लेषण किया और संदिग्ध की पहचान की। उनकी तस्वीरों को तुरंत विकसित किया गया और पहचान के लिए प्रसारित किया गया,।घर से गायब मोबाइल फोन से आरोपी का पता लगाया गया। पुलिस ने उसे गाजियाबाद ट्रैक कर पकड़ लिया। पुलिस ने उसके पास से तीन मोबाइल फोन के अलावा 5-6 लाख रुपये के जेवर भी बरामद किए हैं।

राहुल ने कथित तौर पर पुलिस को बताया कि वह पिछले साल महिला और उसके बेटे के संपर्क में आया था, जब वे दोनों अवसाद से पीड़ित थे। पीड़ितों ने कथित तौर पर उनसे कुछ अनुष्ठान करने का आग्रह किया जिससे उनकी समस्याओं का कोई हल निकल सके। अपने घर के दौरे के दौरान, आरोपियों ने नकदी और आभूषण देखे और पीड़ितों को लूटने का फैसला किया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर