Chhattisgarh: गैंगरेप पीड़िता के पिता ने की जान देने की कोशिश, हरकत में आई पुलिस

गैंगेरप पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज नहीं होने पर पीड़िता के पिता ने अपनी जान देने की कोशिश की इसके बाद जाकर पुलिस हरकत में आई। मामला छत्तीसगढ़ का है।

gangrape victim
गैंगरेप पीड़िता (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: BCCL

रायपुर : छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में एक नाबालिग बच्ची के साथ रेप फिर पीड़िता के द्वारा आत्महत्या मामले में एक नई अपडेट सामने आ रही है। खबर है कि पीड़िता के पिता ने पुलिस में इस घटना की रिपोर्ट दर्ज करवाने में सफल नहीं हुए जिसके बाद मंगलवार को उन्होंने भी निराशा में आत्महत्या करने की कोशिश की।

पीड़िता के पिता के द्वारा आत्महत्या की कोशिश के बाद पुलिस प्रशासन हरकत में आई जिसके बाद इस जघन्य मामले को लेकर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई। दो महीने पहले नबालिग बच्ची के साथ कोंडागांव में एक शादी समारोह में 7 लोगों के द्वारा नाबालिग बच्ची को अगवा कर उसका रेप किया गया था। इस घटना के बाद पीड़िता ने आत्महत्या कर ली थी।

थाने में रिपोर्ट दर्ज नहीं होने के कारण दुखी बाप ने भी मंगलवार को आत्महत्या कर अपनी जान देने की कोशिश की लेकिन वह किसी तरह बच गए जिसके बाद पुलिस के कानों पर जूं रेंगी और उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ।

पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए इसपर एफआईआर दर्ज की। बस्तर रेंजर आईजी ने बताया कि पीड़िता की अटॉप्सी रिपोर्ट का इंतजार है।नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स के चेयरपर्सन यशवंत जैन ने कोंडागांव एसपी को पत्र लिखकर इस मामले में लापरवाही बरत रहे पुलिसकर्मियों की शिकायत की थी। कमीशन ने 10 दिनों के भीतर इस मामले में पुलिस से जांच की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

हालांकि पुलिस का कहना है कि उन्हें पहले गैंगरेप की खबर नहीं मिली थी। पीड़िता की मौत के बाद पुलिस ने उसके पिता को सांत्वना दिया था कि इस पर कार्रवाई करेंगे लेकिन उन्होंने काफी दिन बीत जाने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की। इसी बात से दुखी होकर पिता ने आत्महत्या करने की कोशिश की।
फिलहाल पुलिस इस मामले में कार्रवाई करते हुए उन सातों आरोपियों की तलाश कर रही है।


 


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर