एंटीलिया केस में पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा गिरफ्तार, लंबे समय से थे NIA के रडार पर

क्राइम
रवि वैश्य
Updated Jun 17, 2021 | 17:18 IST

Antilia Case Mumbai: मुंबई में एंटीलिया मामले की जांच कर रही एनआईए ने पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया है वो लंबे समय से रडार पर थे।

Pradeep Sharma
मुंबई के पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा (फाइल फोटो) 
मुख्य बातें
  • एनआईए की टीम गुरुवार सुबह सीआरपीएफ जवानों के साथ प्रदीप शर्मा के घर पहुंची
  • हिरासत में लेकर लंबे समय तक पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है
  • प्रदीप शर्मा को Mansukh Hiren Murder मामले में अरेस्ट किया गया है

नई दिल्ली: मुंबई के बहुचर्चित एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन कत्ल मामले में पुलिस की पड़ताल जारी है वहीं इस मामले में एनआईए की टीम ने मुंबई के पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के घर पर छापेमारी की कार्रवाई की, प्रदीप शर्मा को हिरासत में लेकर उनसे काफी लंबी पूछताछ की गई जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया, बताया जा रहा है कि ये पूछताछ एनआईए की टीम ने प्रदीप शर्मा के घर पर की, शर्मा एनआईए की टीम के रडार पर काफी समय से थे अब जाकर ये कार्रवाई की गई है।

एनआईए की टीम गुरुवार सुबह सीआरपीएफ जवानों के साथ प्रदीप शर्मा के घर पहुंची थी और हिरासत में लेकर लंबे समय तक पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। प्रदीप शर्मा को मनसुख हिरेन की हत्या (Mansukh Hiren Murder) मामले में गिरफ्तार किया गया है प्रदीप पर सबूतों को मिटाने और साजिश में शामिल होने का आरोप है।

आशंका जताई है सचिन वझे और प्रदीप शर्मा के बीच हुई मीटिंग!

बताया जा रहा है कि मनसुख के मर्डर से कुछ दिन पहले सचिन वझे और एक शख्स के बीच अंधेरी इलाके में स्थित एक बैठक हुई थी,  प्रदीप शर्मा भी इसी इलाके में रहते हैं जांच एजेंसी ने आशंका जताई है कि मीटिंग सचिन वझे और प्रदीप शर्मा के बीच हुई। एनआईए हाल ही में गिरफ्तार हुए दो आरोपी संतोष आत्माराम शेलार और आनंद पांडुरंग जाधव की निशानदेही पर प्रदीप शर्मा से पूछताछ कर रही है, दोनों आरोपियों को एनआईए ने हाल ही में गिरफ्तार किया था।

कौन हैं एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा (Kaun hain Pradeep Sharma)

महाराष्ट्र पुलिस के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ‘एनकाउंटर स्पेशलिस्ट’ ने 150 से ज्यादा अपराधियों और आतंकियों के साथ एनकाउंटर किया है हालांकि प्रदीप शर्मा (Pradeep Sharma) ने 2019 में ठाणे एंटी एक्सटॉर्शन सेल  के प्रमुख के पद से इस्तीफा दिया और स्वैच्छिक तौर पर रिटायरमेंट लिया था। प्रदीप शर्मा को 2008 में लखन भैया फर्जी मुठभेड़ मामले में शामिल होने के आरोप में निलंबित कर दिया गया था। इस मामले में 13 अन्य पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी भी हुई थी लंबे समय तक निलंबित रहने के बाद 2013 में उन्होंने फिर से पुलिस सेवा ज्वाइन की थी। 

अंडरवर्ल्ड में अपने नेटवर्क के लिए भी जाने जाते हैं प्रदीप शर्मा

प्रदीप शर्मा 1983 में महाराष्ट्र पुलिस सेवा में शामिल हुए। जिसके बाद उन्हें मुंबई क्राइम ब्रांच टीम का हिस्सा बनाया गया। इस टीम को मुंबई से अंडरवर्ल्ड को खत्म करने की जिम्मेदारी दी गई थी। जिसके बाद शर्मा ने एक के बाद एक कई मुठभेड़ में नाम कमाया। शर्मा ने दाऊद के भाई इकबाल कासकर को भी गिरफ्तार किया और जबरन वसूली रैकेट का भंडाफोड़ किया था। 90 के दशक में इस टीम ने मुंबई में अंडरवर्ल्ड के 300 से ज्यादा अपराधियों को मार गिराया। हालांकि इनमें से कई एनकाउंटर विवादित भी रहे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर