दिल्ली : कोरोना वायरस फैलाने के संदेह पर युवक को पीटा, MP के मरकज के कार्यक्रम में हुआ था शामिल Video

Delhi Youth Thrashed: यह युवक कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में मरकज के कार्यक्रम में शरीक हुआ था। बताया जा रहा है कि यह युवक ट्रक से दिल्ली पहुंचा।

A man from Delhi was assaulted for attending Markaz in Madhya Pradesh Video
कोराना वायरस फैलाने के संदेह पर दिल्ली में युवक की पिटाई।  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में मरकज के कार्यक्रम में शरीक होकर दिल्ली लौटा था युवक
  • कोरोना वायरस फैलाने के संदेह पर स्थानीय लोगों ने युवक को खेत में ले जाकर पिटाई की
  • पुलिस ने घायल युवक को अस्पताल पहुंचाया, हमलावरों के खिलाफ मामला हुआ दर्ज

नई दिल्ली : मध्य प्रदेश में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेकर दिल्ली पहुंचे एक व्यक्ति को पीटे जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यह युवक तब्लीग के एक कार्यक्रम में शामिल हुआ था और जब वह दिल्ली के बवाना इलाके में पहुंचा तो स्थानीय लोगों ने कोरोना वायरस फैलाने के संदेह पर उसकी पिटाई की। युवक को पीटे जाने की घटना रविवार की है। 

जानकारी के अनुसार यह युवक कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में मरकज के कार्यक्रम में शरीक हुआ था। बताया जा रहा है कि यह युवक ट्रक से दिल्ली पहुंचा। जब वह बवाना इलाके में पहुंचा तो उसके आने की जानकारी स्थानीय लोगों को हुई। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस फैलाने की साजिश का हिस्सा होने के शक पर युवक पर हमला किया गया। घायल युवक की पहचान दिलशाद उर्फ महबूब अली के रूप में हुई है।

दिलशाद जब दिल्ली पहुंचा तो दिल्ली पुलिल ने आजादपुर मंडी के समीप उसकी स्क्रीनिंग की और फिर उसे जाने दिया। इसके बाद जब वह गांव पहुंचा तो भीड़ ने उसे घेर लिया और फिर उसे खेत की तरफ ले गई जहां उस पर हमला हुआ। मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और हमला करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया। पीड़ित युवक को पहले बीआर अंबेडकर नगर अस्पताल और फिर जीबी पंत अस्पताल में भर्ती किया गया। निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर दिलशाद अली के खिलाफ धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया है।

बता दें कि तब्लीगी जमात मामले के बाद देश में कोरोना वायरस से संक्रमण की संख्या में तेजी आई है। करीब 17 राज्यों में तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों की पहचान हुई है जो मरकज निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल हुए। सरकार ने अब तक तब्लीगी जमात और उससे जुड़े 25000 लोगों को क्वरंटाइन में रखा है। गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पीएस श्रीवास्तव ने सोमवार को बताया कि जमात के सदस्यों ने हरियाणा के जिन 5 गांवों का दौरा किया था उसे भी सील कर दिया गया है।

अगली खबर