युजवेंद्र चहल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पूरे किए चार साल, कहा-वाकई में पूरे होते हैं सपने 

Yuzvendra chahal completed four years in Internationl Cricket: युजवेंद्र चहल ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार साल पूरे कर लिए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सपने वाकई में पूरे होते हैं।

Yuzvendra Chahal
युजवेंद्र चहल 

मुख्य बातें

  • 11 जून 2016 को चहल ने जिंबाब्वे के खिलाफ हरारे में किया था अंतरराष्ट्रीय डेब्यू
  • चार साल में बन गए हैं टीम इंडिया के अभिन्न अंग, कुलदीप के साथ मिलकर मचा रहे हैं धमाल
  • टी20 में दर्ज है भारत के लिए बतौर स्पिनर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के स्पिन आक्रमण की मुख्य कड़ी बन चुके युजवेंद्र चहल ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार साल पूरे कर लिए। 11 जून 2016 को चहल ने जिंबाब्वे के खिलाफ हरारे में करियर का पहला वनडे मैच खेलकर अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी।

अपने पहले मैच में उन्होंने 10 ओवर में 27 रन देकर एक विकेट हासिल कर सके थे। जिंबाब्वे के तत्कालीन विकेटकीपर  रिचमंड मुटुम्बामी उनका पहला अंतरराष्ट्रीय शिकार बने थे। तीन मैच की उस सीरीज में चहल का प्रदर्शन शानदार रहा था। इन तीन मैचों में उन्होंने 6 विकेट झटककर टीम की सीरीज जीत में अहम भूमिका अदा की थी। जिंबाब्वे दौरे पर ही चहल को वनडे के बाद टी20 में भी डेब्यू करने का मौका मिला था। चहल ने इस दौरान तीन टी20 मैच में 3 विकेट लिए थे। 

सपने वाकई में पूरे होते हैं 
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार साल पूरे करने पर चहल ने ट्वीट कर खुशी जताते हुए कहा कि सपने वाकई में पूरे होते हैं। उन्होंने ट्वीट किया, जब मैं बड़ा हो रहा था तब मुझे ये बात सुनकर अचरज होता था कि अपने खेल का लुत्फ उठाओ और अपने सपनों को पीछा करो। सपने पूरे होते हैं। आज मैं कह सकता हूं कि सपने वाकई में पूरे होते हैं। मेरा सपना भारत के लिए 11 जून 2016 डेब्यू करके पूरा हुआ था।  


 
कुलदीप के साथ मिलकर मचाया धमाल
2016 के जिंबाब्वे दौरे के बाद चहल को 6 महीने बाहर बैठकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा।  इसके बाद उन्हें जनवरी 2017 में उनकी दोबारा टीम इंडिया में एंट्री हुई। इसके बाद धीरे-धीरे सफलता की सीढ़ियां चढ़ते चले गए और उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और टीम का अभिन्न अंग बन गए। कुलदीप यादव के साथ उनकी 'कुलचा' जोड़ी ने ऐसा कहर मचाया कि रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को सीमित ओवरों की टीम से बाहर जाना पड़ा।

ऐसा रहा है अबतक प्रदर्शन
चहल ने चार साल लंबे करियर में 52 टेस्ट और 42 टी20 मैच खेलते हुए कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम अपने नाम किए हैं। चहल ने वनडे में अब तक 25.83 के औसत से 91 विकेट और टी20 में 24.34 की औसत से 55 विकेट हासिल किए हैं। उनके नाम बतौर स्पिनर भारत के लिए टी20 में एक मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने बेंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ 25 रन देकर 6 विकेट लिए थे। उनका ये प्रदर्शन लंबे समय तक भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय टी20 में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। उनके इस रिकॉर्ड को पिछले साल नवंबर में बांग्लादेश के खिलाफ दीपक चाहर ने 7 रन देकर 6 विकेट झटककर तोड़ दिया था। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर