Syed Mushtaq Ali Trophy 2021: तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच होगी खिताबी भिड़ंत

Syed Mushtaq Ali Trophy 2021 Final, Karnataka vs Tamil Nadu: सैयद मुश्ताक अली टी20 चैंपियनशिप का खिताबी मुकाबला 22 नवंबर को कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमों ने ऐसे कटाया फाइनल का टिकट।

Karnataka-vs-Tamilnadu-SMAT-2021
कर्नाटक बनाम तमिलनाडु  
मुख्य बातें
  • लगातार तीसरी बार फाइनल में पहुंचा है तमिलनाडु
  • साल 2019 में इन्हों दोनों टीमों के बीच हुई थी फाइनल में भिड़ंत
  • तमिलनाडु ने पिछली बार जीता था सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का खिताब

नई दिल्ली: सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2021 अपने अंतिम पड़ाव में पहुंच चुकी है। शनिवार को नई दिल्ली में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबलों में तमिलनाडु और कर्नाटक ने हैदराबाद और विदर्भ को मात देकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। दो साल पहले साल 2019 में भी दोनों टीमों की फाइनल में एक दूसरे से भिड़ंत हुई थी। लेकिन तब बाजी मनीष पांडे की कप्तानी वाली कर्नाटक के हाथ लगी थी। ऐसे में लगातार तीसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची डिफेंडिंग चैंपियन तमिलनाडु उस हार का हिसाब चुकता करना चाहेगी। 22 नवंबर को खिताबी मुकाबला खेला जाएगा। 

तमिलनाडु ने दी हैदराबाद को 8 विकेट से मात 
दिल्ली में शनिवार को खेले गए पहले सेमीफाइनल मुकाबले में मध्यम तेज गेंदबाज पी सरवन कुमार के पांच विकेट की मदद से गत चैम्पियन तमिलनाडु ने हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर सैयद मुश्ताक ली ट्रॉफी टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया। टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण के कप्तान विजय शंकर के फैसले को तमिलनाडु के गेंदबाजों ने सही साबित कर दिखाया। 

तेज गेंदबाज पी सरवन ने ढाया कहर
अब तक एक भी मैच नहीं हारने वाली हैदराबाद की टीम 18.3 ओवर में 90 रन पर आउट हो गई। तनय त्यागराजन ही दोहरे अंक तक पहुंच सके जिन्होंने 24 गेंद में 25 रन बनाये। सरवन ने शीर्ष क्रम को पवेलियन भेजकर हैदराबाद को अच्छी शुरूआत नहीं करने दी। विरोधी कप्तान तन्मय अग्रवाल एक और तिलक वर्मा आठ रन बनाकर आउट हो गए। सरवन ने 21 रन देकर पांच विकेट लिये जो तमिलनाडु के लिये दूसरा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है।

हैदराबाद ने 6.2 ओवर में पांच विकेट 30 रन पर गंवा दिये थे। रवि तेजा को एम मोहम्मद ने नौ रन पर आउट किया तब स्कोर 39 रन था। तनय और चामा मिलिंद (आठ) ने कुछ देर टिककर खेलते हुए हैदराबाद को 90 रन तक पहुंचाया। तमिलनाडु के लिये लेग स्पिनर एम अश्विन ने चार ओवर में 13 रन देकर दो और एम मोहम्मद ने तीन ओवर में 12 रन देकर दो विकेट लिये।

विजय शंकर और सुदर्शन ने दिलाई जीत 
जवाब में तमिलनाडु ने तीसरे ही ओवर में एन जगदीशन (1) का विकेट गंवा दिया। इसी ओवर में सी हरि निशांत (14) भी रक्षण रेड्डी का शिकार हुए। इसके बाद बी साइ सुदर्शन (नाबाद 34) और कप्तान शंकर (43) ने तीसरे विकेट के लिये 76 रन की साझेदारी करके टीम को जीत तक पहुंचाया। 

कर्नाटक ने दी विदर्भ को 4 रन से मात 
वहीं इसके बाद खेले गए दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में कर्नाटक ने विदर्भ को 4 रन के अंतर से मात देकर फाइनल में प्रवेश किया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कर्नाटक की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट पर 176 रन का स्कोर खड़ा किया था। जिसके जवाब में विदर्भ की टीम 20 ओवर में 6 विकेट पर 176 रन बना सकी।

पहले विकेट के लिए कदम और मनीष पांडे ने जोड़े 132 रन 
कर्नाटक को पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहन कदम और कप्तान मनीष पांडे ने शानदार शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 15 ओवर में 132 रन जोड़े। 16वें ओवर की पहली गेंद पर रोहन कदम 56 गेंद में 87 रन बनाकर ललित यादव की गेंद पर लपके गए। उन्होंने अपनी पारी के दौरान 7 चौके और 4 छक्के जड़े। 

आखिर में 15 गेंद पर गंवा दिए 5 विकेट 
कदम के आउट होने के बाद कप्तान मनीष पांडे ने अभिवन मनोहर के साथ मोर्चा संभाला और दोनों ने टीम को जल्दी ही 150 रन के पार पहुंचा दिया। लेकिन पारी के 18वें ओवर में मनीष पांडे भी ललित यादव की गेंद पर 42 गेंद पर 54 रन बनाकर अक्षय वाखरे के हाथों लपके गए। पांडे जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 17.3 ओवर में 156 रन था। लेकिन अंतिम ओवरों में विदर्भ के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अंतिम 15 गेंद में केवल 21 रन देकर 5 विकेट झटके। इस तरह कर्नाटक की टीम 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 176 रन बना सकी। दर्शन नालकंडे ने सबसे ज्यादा 4 और ललित यादव ने 2 विकेट लिए। वहीं यश ठाकुर को एक सफलता मिली। 

अच्छी रही विदर्भ की शुरुआत
जीत के लिए मिले 177 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी विदर्भ की टीम की शुरुआत भी अच्छी रही। अथर्व ताइदे और गणेश सतीश ने पहले विकेट के लिए तेजी से रन बनाए। लेकिन पांचवें ओवर की आखिरी गेंद पर केसी करियप्पा ने अथर्व को मनीष पांडे के हाथों कैच करा दिया। उन्होंने 16 गेंद पर 32 रन बनाए। इसके बाद कप्तान अक्षय वाडकर और गणेश ने पारी को आगे बढ़ाया लेकिन नौवें ओवर की पहली गेंद पर गणेश सतीश सुचिथ की गेंद पर पाटिल के हाथों लपके गए। उन्होंने 27 गेंद में 31 रन बनाए। 

अंतिम ओवर में नहीं बना पाए जीत के लिए 14 रन 
इसके बाद विदर्भ के बल्लेबाजों के बीच छोटी-छोटी साझेदारियों होती रहीं लेकिन लगातार अंतराल पर विकेट गिरने से उनके लिए परेशानियां खड़ी होती गईं। अंतिम ओवर में जीत के लिए 14 रन बनाने थे लेकिन पहली ही गेंद पर अक्षय कर्नेवार का विकेट गंवाते ही टीम की मुश्किलें बढ़ गईं। अपूर्व वानखेड़े (22 गेंद 27) और दर्शन नालकंडे (3 गेंद में 5 रन) अपनी टीम को केवल 172 रन के स्कोर तक पहुंचा सके और महज 5 रन के अंतर से उनका फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया। 
 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर