शानदार टेस्ट डेब्यू के बाद भी श्रेयस अय्यर नहीं तोड़ पाए ये दो रिकॉर्ड 

श्रेयस अय्यर के लिए कानपुर में खेला डेब्यू टेस्ट यादगार रहा लेकिन वो दो पदार्पण टेस्ट के दो भारतीय रिकॉर्ड अपने नाम करने से चूक गए हैं। 

Shreyas-Iyer-fifty-debut-test
श्रेयस अय्यर  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • श्रेयस अय्यर बने भारत के लिए डेब्यू टेस्ट में शतक और अर्धशतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज
  • चूक गए डेब्यू टेस्ट में चोड़ने से शिखर धवन और मोहम्मद अजहरूद्दीन का रिकॉर्ड
  • नहीं बन पाए डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज

कानपुर: टीम इंडिया के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन करते हुए इतिहास रच दिया। अय्यर डेब्यू टेस्ट में शतक और अर्धशतक जड़ने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। 

नहीं जड़ पाए डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में शतक
डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ने वाले 16वें भारतीय बने श्रेयस अय्यर ने कई उपलब्धियां हासिल कीं लेकिन वो दो बड़े रिकॉर्ड के करीब आकर उन्हें अपने नाम करने से चूक गए। उनके पास डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़ने वाले पहले और दुनिया के तीसरा बल्लेबाज बनने का शानदार मौका था लेकिन वो ऐसा नहीं कर पाए। दूसरी पारी में 65 के योग पर उन्हें टिम साउदी ने विकेट के पीछे लपकवाकर पवेलियन वापस भेज दिया।

नहीं तोड़ पाए डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड 
अय्यर ने अपने डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में कुल 170 रन(105+65) रन बनाए। उनके पास डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाला भारतीय बनने का शानदार मौका था। लेकिन वो शिखर धवन के 8 साल पुराने इस रिकॉर्ड को अपने नाम करने से 18 रन के अंतर से चूक गए। डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में शिखर धवन 187 रन के साथ पहले और रोहित शर्मा 177 रन के साथ दूसरे पायदान पर हैं। इस लिस्ट में अय्यर तीसरे पायदान पर पहुंच गए हैं। शिखर ने साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट में 187 रन की पारी खेली थी। वहीं रोहित शर्मा वे साल 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता में डेब्यू टेस्ट में 177 रन की पारी खेली थी। 

नहीं कर पाए डेब्यू में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना 
डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करने के भारतीय रिकॉर्ड को भी अपने नाम करने से अय्यर चूक गए। उन्होंने कानपुर टेस्ट की दोनों पारियों में कुल 296 गेंद का सामना किया। डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करने का भारतीय रिकॉर्ड टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन के नाम दर्ज है। अजहर ने भी अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ा था और उस मैच में कुल 322 गेंदों का सामना किया था। इस सूची में दूसरे पायदान पर सौरव गांगुली हैं जिन्होंने साल 1996 में लॉर्ड्स में खेले अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ा था और दोनों पारियों में कुल 301 गेंद का सामना किया था। 

कोच आमरे से भी तीन गेंद से रहे पीछे 
इस सूची में तीसरे पायदान पर हिटमैन रोहित शर्मा हैं। रोहित ने वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता में अपने डेब्यू टेस्ट में 177 रन की पारी के दौरान 301 गेंद का सामना किया था। वहीं श्रेयस अय्यर के कोच प्रवीण आमरे ने साल 1992 में डरबन टेस्ट में 103 रन की पारी के दौरान 299 गेंद का सामना किया था। अय्यर आमरे से भी 3 गेंद पीछे रह गए। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर