फिर मुश्किल में फंसे शाकिब अल हसन, सट्टेबाजी कंपनी के समर्थन में की गई पोस्ट की होगी जांच

क्रिकेट
भाषा
Updated Aug 05, 2022 | 13:15 IST

Shakib al Hasan under scanner: बांग्लादेश के दिग्गज अनुभवी ऑलराउंडर शाकिब अल हसन एक बार फिर विवादों के घेरे में हैं। उनका क्रिकेट बोर्ड शाकिब द्वारा की गई एक सट्टेबाजी समर्थित पोस्ट की जांच करेगा।

Shakib al Hasan
शाकिब अल हसन  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • फिर मुश्किल में फंसे बांग्लादेशी ऑलराउंडर शाकिब अल हसन
  • सोशल मीडिया पोस्ट विवादों में, सट्टेबाजी कंपनी के समर्थन में पोस्ट
  • बांग्लादेश क्रिकेेट बोर्ड करेगा पोस्ट की जांच

बांग्लादेश के सबसे बड़े क्रिकेट स्टार शाकिब अल हसन फिर से विवादों से घिर गए हैं क्योंकि उनके देश के क्रिकेट बोर्ड ने सट्टेबाजी कंपनी के समर्थन में की गई उनकी हाल की सोशल मीडिया पोस्ट की जांच करने का फैसला किया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 2019 में भारतीय सट्टेबाज की भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट नहीं करने पर शाकिब पर एक साल का प्रतिबंध लगाया था।

बांग्लादेश के वर्तमान नियमों के अनुसार सट्टे से जुड़ी किसी भी तरह की गतिविधि को बढ़ावा देना या उसका समर्थन करना निषेध है। क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) इस ऑलराउंडर की हाल में सोशल मीडिया डाली गई उस पोस्ट की जांच करेगा, जिसमें उन्होंने ‘‘बेटविनर न्यूज’’ नामक कंपनी के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की थी।’’

बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा कि शाकिब को कारण बताओ नोटिस दिया जाएगा। शाकिब ने लगभग 400 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में 12,000 से अधिक रन और लगभग 650 विकेट लिए हैं। नजमुल ने कहा, ‘‘दो बातें हैं। पहला अनुमति लेने की कोई संभावना नहीं है क्योंकि हम इस तरह की अनुमति नहीं देंगे। सट्टेबाजी से जुड़ी किसी भी चीज में हम अनुमति नहीं देंगे। इसका मतलब है कि उन्होंने हमसे अनुमति देने के लिए नहीं कहा था। दूसरी बात हम यह जानना चाहते हैं कि क्या उन्होंने करार पर हस्ताक्षर किए हैं या नहीं।’’

बीसीबी की गुरुवार को बैठक हुई जिसमें शाकिब कि सोशल मीडिया पोस्ट की जांच करने का फैसला किया गया। नजमुल ने कहा, ‘‘बैठक में यह मुद्दा उठाया गया और हमने कहा कि यह कैसे हो सकता है क्योंकि यह असंभव है। अगर ऐसा हुआ है तो उनसे तुरंत पूछना होगा। उन्हें नोटिस जारी करो और पूछो कि यह सब कैसे हुआ क्योंकि बोर्ड इसकी अनुमति नहीं देता। यह सट्टेबाजी से जुड़ा है और हम इसकी अनुमति नहीं देंगे।’’

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर