पीएम इमरान खान ने किया पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट ढांचे में बदलाव के फैसले का बचाव 

क्रिकेट
भाषा
Updated Sep 17, 2020 | 08:04 IST

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और पीएम इमरान खान ने पीसीबी द्वारा घरेलू क्रिकेट ढांचे में किए गए बड़े बदलाव का बचाव किया है और कहा है कि ये निर्णय भविष्य में बेहतरीन साबित होगा।

Imran Khan
इमरान खान 

मुख्य बातें

  • पीसीबी ने अपने घरेलू क्रिकेट के ढांचे में किया है बड़ बदलाव
  • पीएम इमरान खान ने इस बदलाव के समर्थन में दी है अपनी राय
  • इसे पाकिस्तान के विभागीय क्रिकेट को खत्म करने वाली नई प्रणाली कहा जा रहा है

कराची: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को देश के घरेलू क्रिकेट ढांचे में बदलाव के अपने फैसले का बचाव करते हुए जोर दिया कि शुरुआती समस्याओं के बाद नई व्यवस्था से विश्वस्तरीय प्रतिभा तैयार होगी। 

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी), पाकिस्तान टेलीविजन कॉरपोरेशन और सूचना मंत्रालय के अधिकारियों को संबोधित करते हुए इमरान ने कहा कि खराब क्रिकेट प्रणाली के बावजूद पाकिस्तान क्रिकेट ने अपनी बेजोड़ प्रतिभा के दम पर अच्छा प्रदर्शन किया है।

पाकिस्तान की 1992 में विश्व कप जीतने वाली टीम के कप्तान रहे इमरान ने कहा, 'मैंने काफी मुश्किल से मिसबाह, हफीज और अजहर (इस दौरान मौजूद) को मनाया कि नए क्रिकेट ढांचे को विकास करने और मजबूत होने दिया जाना चाहिए।'

मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह उल हसन के अलावा सीनियर खिलाड़ियों मोहम्मद हफीज और अजहर अली ने बुधवार को इस्लामाबाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से मुलाकात की। इस दौरान पीसीबी अध्यक्ष एहसान मनी और सीईओ वसीम खान भी मौजूद थे। इन सभी ने घरेलू क्रिकेट ढांचे पर बात की।

मिसबाह, हफीज और अजहर ने प्रधानमंत्री से मिलने का आग्रह किया था। इन्होंने कहा था कि विभागीय क्रिकेट को खत्म करने वाली नई प्रणाली से कई क्रिकेटरों की नौकरी चली जाएगी। 

इमरान ने कहा, 'मैंने उन्हें कहा कि प्रत्येक नई प्रणाली में शुरुआती समस्याएं होती हैं और इसमें समय लगता है लेकिन मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि एक बार स्थापित होने के बाद यह सुनिश्चित करेगा कि हमारी प्रतिभा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के लिए निखरकर सामने आएगी।'

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर