'वर्ल्ड फूड डे' के दिन एक पैदा हुआ दूसरे ने किया डेब्यू, दोनों की नहीं मिटी रनों और विकेटों की भूख 

on This day 16 Oct: 16 अक्टूबर का दिन क्रिकेट के दीवानों के लिए बेहद खास है इस दिन का खेल से जुड़े दो महान खिलाड़ियों का बेहद खास रिश्ता है। एक ने इस दिन डेब्यू किया था तो दूसरे का इसी दिन जन्म हुआ था।

Jacques Kallis and Kapil dev
जैक कैलिस और कपिल देव  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • कपिल देव ने आज ही के दिन पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट डेब्यू
  • जैक कैलिस का द. अफ्रीका के केपटाउन में हुआ था जन्म
  • दोनों ही खिलाड़ियों ने पूरे करियर जम कर बनाए रन और बल्लेबाजों के उड़ाए स्टंप्स

नई दिल्ली: 16 अक्टूबर का दिन पूरी दुनिया में वर्ल्ड फूड डे के रूप में मनाया जाता है। आज का दिन क्रिकेट इतिहास में मुख्य रूप से दो ऑलराउंडर्स के लिए जाना जाता है। दुनिया के सर्वकालिक महानतम ऑलराउंडर जैक कैलिस का 16 अक्टूबर 1975 को जन्म हुआ था। इसके तीन साल बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव ने 16 अक्टूबर 1978 को पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में टेस्ट डेब्यू किया था। इन दोनों खिलाड़ियों के बगैर क्रिकेट की कहानी पूरी नहीं हो सकती। 

दोनों ही खिलाड़ियों का जन्म वर्ल्ड फूड डे के दिन हुआ लेकिन 22 गज की पिच पर इन दोनों खिलाड़ियों की रनों और विकेटों की भूख कभी नहीं मिटी। दोनों ही खिलाड़ियों ने अपने-अपने देश के लिए क्रिकेट के मैदान पर ऐसी उपलब्धियां हासिल कीं जिनकी बराबरी कर पाना आज भी दूसरे क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए आसान नहीं है और जब कभी कोई खिलाड़ी उनके रिकॉर्ड की बराबरी करेगा या तोड़ेगा तो वो भी अपने आप में विशिष्ट होगा। 

साधारण रहा था कपिल का टेस्ट डेब्यू
कपिल देव के लिए पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में टेस्ट डेब्यू अच्छा नहीं रहा था। पहले ही ओवर में उन्होंने फ्रंट फुट नो बॉल फेंकी और पूरे मैच में 96 रन देकर महज 1 विकेट ले सके और 8 रन बना सके। पहली पारी में कपिल को 16 ओवर में 71 रन देकर कोई विकेट नहीं मिला। वहीं दूसरी पारी में पाकिस्तानी ओपनर सादिक मोहम्मद के रूप में वो पहला टेस्ट विकेट हासिल करने में कामयाब रहे। 

अपने दौर के रहे सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर
ऐसी साधारण शुरुआत के बावजूद कपिल देव ने करियर में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने करियर में 131 टेस्ट मैच में 31.05 की औसत से 5248 रन और 225 वनडे में 23.79 की औसत से 3,783 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 8 शतक और 27 अर्धशतक और वनडे में 1 शतक 14 अर्धशतक जड़े। इसी दौरान गेंदबाजी में कपिल ने टेस्ट में 434 और वनडे में 253 विकेट लिए। एक ही समय में वो वनडे और टेस्ट दोनों में दुनिया के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। उनकी ही कप्तानी में भारत ने 1983 में विश्व कप जीता और हमेशा के लिए भारतीय क्रिकेट की दशा-दिशा बदल गई।  

कैलिस: साधारण रहा डेब्यू लेकिन पूरे करियर में मचाया धमाल 
16 अक्टूबर 1975 को केपटाउन में जन्में जैक कैलिस ने कपिल देव के संन्यास लेने के एक साल बाद इंग्लैंड के खिलाफ डरहम में टेस्ट डेब्यू किया था। बारिश के प्रभावित इस मैच में जैक कैलिस अपने डेब्यू टेस्ट में केवल 1 रन बना सके थे। लेकिन इसके बाद साल 2013 में टेस्ट 166 टेस्ट और 2014 में 328 वनडे मैच खेलने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा तब तक उनके नाम सैकड़ों रिकॉर्ड दर्ज हो गए थे। वो टेस्ट और वनडे दोनों फॉर्मेट में 10 हजार से ज्यादा रन बनाने वाले चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक हैं। इसी के साथ ही उनके नाम वनडे और टेस्ट दोनों में 250 से ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों में भी शामिल है। 

आज अपना 45वां जन्म दिन मना रहे कैलिस के नाम टेस्ट क्रिकेट में 13,289 रन, 45 शतक, 58 अर्धशतक और 292 विकेट दर्ज हैं। वहीं वनडे में उन्होंने 11,579 रन बनाने के साथ-साथ 273 विकेट लिए। वनडे में उन्होंने 17 शतक और 86 अर्धशतक जड़े। कैलिस ने अपने खेल से ऑलराउंडर को एक विशिष्ट जगह पर स्थापित कर दिया। 


 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर