क्या आईपीएल की वजह से एशेज सीरीज हार गई इंग्लैंड की टीम, पीटरसन ने दिया करारा जवाब

क्रिकेट
भाषा
Updated Jan 21, 2022 | 19:54 IST

Kevin Pietersen, Ashes Series, IPL: कुछ आलोचकों ने एशेज सीरीज में इंग्लैंड को मिली करारी हार का ठीकरा आईपीएल पर फोड़ा तो आईपीएल के बचाव में पूर्व इंग्लिश खिलाड़ी केविन पीटरसन आगे आए।

Kevin Pietersen
केविन पीटरसन  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • क्या आईपीएल की वजह से इंग्लैंड हारी एशेज सीरीज?
  • बेतुकी आलोचनाओं पर केविन पीटरसन ने दिया बयान
  • केविन पीटरसन ने ऐसे तर्क को बेवकूफी करार दिया

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज केविन पीटरसन ने हाल ही में समाप्त हुई एशेज श्रृंखला में अपनी टीम की 0-4 से शर्मनाक हार के लिए इंडियन प्रीमियर लीग को दोष देने को ‘बेवकूफी’ करार दिया। इंग्लैंड के पूर्व महान खिलाड़ी डेविड गॉवर टीम की एशेज में हार के बाद ‘बेहर खफा’ थे। उन्होंने कहा कि मौजूदा कप्तान जो रूट के पास ऐसे खिलाड़ी थे जो आईपीएल के कारण ‘अनुपलब्ध’ थे।

एशेज श्रृंखला को 2005, 2009, 2010-11 और 2013 में जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे पीटरसन ने इस पर हंसते हुए कहा, ‘‘ यह बेवकूफी है। आप इंग्लैंड में टेस्ट क्रिकेट के गर्त में जाने के लिए  आईपीएल को दोष नहीं दे सकते। यह पागलपन है। मैंने इस पर काफी प्रतिक्रिया दी है।  इसके लिए इंग्लैंड की क्रिकेट प्रणाली में कमी है। काउंटी क्रिकेट में कुछ खामी है।’’

यहां ‘लीजेंड्स लीग क्रिकेट’ में ‘वर्ल्ड जायंट्स’ का प्रतिनिधित्व कर रहे पीटरसन ने गुरुवार को कहा, ‘‘इंडियन प्रीमियर लीग को दोष देना पागलपन है क्योंकि अगर आप टेस्ट टीम पर नजर डालते हैं, तो शायद (बेन) स्टोक्स (जॉनी) बेयरस्टो और (जोस) बटलर ही आईपीएल में खेलते हैं।’’ आईपीएल में दिल्ली की फ्रेंचाइजी का हिस्सा रहे पीटरसन ने कहा, ‘‘शायद ही टेस्ट टीम का कोई खिलाड़ी आईपीएल खेलता हो। तो आप आईपीएल को कैसे दोष दे सकते हैं? आप आईपीएल को दोष नहीं दे सकते। यह पागलपन है।’’

वन्यजीव संरक्षणवादी पीटरसन ने एक-सींग वाले गैंडों को बचाने की मुहिम में वैश्विक नेतृत्वकर्ता के रूप में भारत की सराहना की। उन्होंने इससे पहले भारत के वन्यजीवों के अवैध शिकार पर नकेल कसने और उनकी रक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की थी। उन्होंने कहा, ‘‘एक संरक्षणवादी होने के नाते, मैं अफ्रीका में बहुत समय बिताता हूं। वहां गैंडों की आबादी घट रही है और भारत में गैंडों की आबादी बढ़ रही है। भारत इस मामले में दुनिया का नेतृत्व कर रहा है।’’

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर