पाकिस्तानी क्रिकेटर्स ने लगाए आईसीसी पर गंभीर आरोप, कहा आईपीएल के लिए चढ़ा दी टी20 वर्ल्ड कप की बली 

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ियों शोएब अख्तर और राशिद लतीफ ने आईसीसी पर गंभीर आरोप लगाया है कि उसने आईपीएल 2020 के आयोजन के लिए टी20 विश्व कप की बली चढ़ा दी।

IPL
IPL 

मुख्य बातें

  • टी20 विश्व कप 2020 को रद्द किए जाने के बाद पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स ने आईसीसी को आड़े हाथ लिया है
  • पाकिस्तानी क्रिकेटर्स ने कहा है कि आईपीएल के आयोजन के लिए टी20 विश्व कप की बली दे दी गई
  • पाकिस्तान को टी20 विश्व कप 2020 के रद्द होने से होगा मोटा नुकसान

इस्लामाबाद: आईसीसी ने सोमवार को ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में खेले जाने वाले टी20 विश्व कप को कोरोना वायरस के कारण रद्द करने का ऐलान किया। आईसीसी के इस निर्णय से दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों को करारा झटका लगा और स्पोर्ट्स कैलेंडर में इस इवेंट के रद्द होने के बाद बड़ा बदलाव भी देखने को मिला। टी20 विश्व कप के रद्द होने से आईपीएल 2020 के आयोजन का रास्ता साफ होता दिख रहा है। विश्व कप के रद्द होने के कारण बीसीसीआई को इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन के लिए विंडो मिल गई है। लेकिन इसी मुद्दे को लेकर पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर आईसीसी के ऊपर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। 

आईपीएल के लिए चढ़ा दी विश्व कप की बली
दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों को आशा थी कि कोरोना संकट के बावजूद आईपीएल 2020 का आयोजन होगा। लेकिन पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ियों शोएब अख्तर और राशिद लतीफ के नजरिए से आईपीएल का आयोजन अच्छे संकेत नहीं है। अख्तर और लतीफ ने तो आईसीसी के ऊपर ही आईपीएल के आयोजन के लिए टी20 विश्व कप की बली चढ़ाने के गंभीर आरोप लगा दिए हैं। उनका मानना है कि आईपीएल के आयोजन के लिए जानबूझकर टी20 विश्व कप को रद्द कर दिया गया। दोनों का मानना है कि उन्हें ऐसा किए जाने की भनक आधिकारिक घोषणा से काफी पहले लग गई थी। 

सितंबर से नवंबर के बीच हो सकता है आईपीएल का आयोजन
टी20 विश्व कप 2020 के रद्द होने से बीसीसीआई को आईपीएल 2020 के आयोजन की योजनाओं को मूर्त रूप देने का मौका मिल गया है। जिसके आयोजन की यूएई में तैयारियां हो रही हैं। इस बात की तस्दीक आईपीएल संचालन समिति के चेयरमैन ब्रृजेश पटेल के बयान से हो चुकी है। बीसीसीआई 26 सितंबर से 8 नवंबर के बीच इसका आयोजन करना चाहता है। बोर्ड को केवल इस रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए भारत सरकार की अनुमति मिलने का इंतजार है।



विश्व कप के रद्द होने से पाक को होगा मोटा नुकसान
टी20 विश्व कप का आयोजन नहीं होने से कंगाली का सामना कर रहे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को मोटा नुकसान होगा। पाकिस्तानी खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने की अनुमति नहीं है। अख्तर ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस के बावजूद इस साल एशिया कप और टी20 विश्व कप दोनों का आयोजन हो सकता था लेकिन उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से आईपीएल को वरीयता देने का आरोप लगा दिया। 

ताकतवर लोग करते हैं नीतियों का फैसला
अख्तर ने कहा, अंतत: ताकतवर व्यक्ति या ताकतवर क्रिकेट बोर्ड नीतियों को चलाते हैं और ये सुनिश्चित करते हैं कि आपको नुकसान हो। टी20 विश्व कप और एशिया कप का आयोजन इस साल हो सकता था। भारत और पाकिस्तान के भी इस दूसरे के खिलाफ खेलने की संभावना थी लेकिन उन्होंने इन मौकों को जाने दिया। इस निर्णय के पीछे बहुत सारे कारण है लेकिन मैं इसकी डीटेल में नहीं जाना चाहता। 

शोएब ने आगे कहा, मैंने और राशिद ने बार बार ये बात कही है कि वो नहीं चाहते थे कि इसका आयोजन न हो तो इस इसका आयोजन नहीं हुआ। आईपीएल को नुकसान न पहुंचे भले ही टी20 विश्व कप भाड़ में चला जाए। भारत को चाहिए कि वो तत्काल सामने आगे आकर विश्व क्रिकेट को बचाए।'

सबके लिए फायदे वाला है आईसीसी का निर्णय
वहीं राशिद लतीफ ने कहा कि आईसीसी ने टी20 विश्व कप के रद्द होने का निर्णय इसलिए किया कि इसका सभी क्रिकेट बोर्ड को फायदा हो रहा है। लेकिन उन्होंने सौरव गांगुली के एशिया कप के आधिकारिक तौर पर रद्द होने की घोषणा होने से पहले इसका ऐलान करने पर भी सवाल उठाए। लतीफ ने कहा, पूरी दुनिया का कोई भी क्रिकेट बोर्ड हो भारत, पाकिस्तान या इंग्लैंड सभी वित्तीय लाभ की ओर देखते हैं। इस स्थिति में सभी एक साथ हैं केवल भारत अकेला नहीं है। इस निर्णय को लेकर सबके बीच एक समझौता हुआ था उसमें केवल भारत नहीं था जो टी20 विश्व कप के रद्द होने के बाद मौके को भुनाने के लिए खड़ा हो गया है। 

उन्होंने आगे कहा, टी20 विश्व कप का आयोजन फरवरी मार्च में भी हो सकता था लेकिन ये पाकिस्तान( पीएसएल 2020) को प्रभावित करता। अगर अप्रैल मई में इसका आयोजन होता तो आईपीएल के आयोजन का बीसीसीआई का कार्यक्रम प्रभावित होता। इसके बाद नवंबर दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया को बिग बैश लीग का आयोजन करना है। आईसीसी के इस निर्णय से हर किसी को फायदा होगा। 

एशिया कप को लेकर लतीफ ने कहा, सौरव गांगुली ने एशिया कप के रद्द होने की घोषणा आधिकारिक ऐलान किए जाने से पहले कर दी। क्या उन्हें पीसीबी के मुखिया अहसान मनी ने या श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के किसी व्यक्ति ने बताया था। नहीं इसकी योजना पहले से बना ली गई थी। 

अगली खबर