ENG vs WI 1st Test: 46 सालों में पहली बार होगा कुछ ऐसा, आज होगी क्रिकेट में नए 'युग' की शुरुआत

क्रिकेट
भाषा
Updated Jul 08, 2020 | 08:46 IST

England vs West Indies 1st Test Preview: आज साउथम्पटन में कोरोना महामारी के बीच लंबे इंतजार के बाद फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हो रही है। आइए जानते हैं इस मैच से जुड़ी खास बातें।

England vs West Indies Southampton test preview
England vs West Indies Southampton test, इंग्लैंड बनाम वेस्टइंडीज साउथम्पटन टेस्ट (ICC)  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • आज होगी क्रिकेट में नए युग की शुरुआत, कोरोना नियमों के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट
  • इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीमों के बीच साउथम्पटन में शुरू होगा पहला टेस्ट
  • 46 सालों में पहली बार फैंस को करना पड़ा है इतना लंबा इंतजार

नई दिल्ली। Eng vs Wi first test Today: इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच आज से साउथम्पटन में शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच से 117 दिन बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी और यह सीमित ओवरों की क्रिकेट के चलन के बाद पिछले 46 वर्षों में पहला अवसर होगा जबकि 100 से भी अधिक दिन तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला गया।

कोविड-19 महामारी के कारण 15 मार्च 2020 के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ठप्प पड़ा है और अब इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच जैव सुरक्षित वातावरण में खाली स्टेडियमों में इसकी शुरुआत होने जा रही है। इससे पहले आखिरी मैच आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच सिडनी में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय के रूप में खेला गया था।
वनडे और फिर टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के आने से बीच बीच में कुछ अवसरों पर टेस्ट मैच 100 से अधिक दिन के अंतराल में खेले गये लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सहित विभिन्न घरेलू लीग की शुरुआत के बावजूद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कभी ऐसा देखने को नहीं मिला था।

इससे पहले 1972 में 114 दिन और 1973 में 113 तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला गया था। एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत पांच जनवरी 1971 को हुई थी लेकिन पहले चार वर्षों में केवल 15 मैच खेले गये थे। यही वजह थी कि 19 अगस्त 1971 से 16 फरवरी 1972 तक कोई मैच नहीं खेला गया था। इसका मतलब 181 दिन तक कोई मैच नहीं हुआ जो पिछले पांच दशकों में दो मैचों के बीच सबसे लंबा अंतराल है।

विश्व युद्ध में दिखा था ऐसा नजारा

जब तक सीमित ओवरों की क्रिकेट नहीं खेली जाती थी तब दो अंतरराष्ट्रीय मैचों या यूं कहें कि टेस्ट क्रिकेट में दो मैचों के बीच लंबा अंतराल देखने को मिलता था। ऐसा सबसे लंबा अंतराल पहले और दूसरे विश्व युद्ध के बीच देखने को मिला। पहले विश्व युद्ध के दौरान छह साल नौ महीने और 20 दिन यानि कुल 2485 दिन तक कोई टेस्ट मैच नहीं खेला गया। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान भी 2414 दिन तक कोई मैच नहीं हुआ था। अगर विश्व युद्ध को छोड़ दें तो 14 अगस्त 1899 से लेकर 13 दिसंबर 1901 तक यानि 851 दिन तक कोई टेस्ट मैच नहीं खेला गया। लेकिन तब दक्षिण अफ्रीका में युद्ध किे कारण वहां खेले जाने वाले टेस्ट मैचों को रद्द किया गया था।

वर्तमान में 130 दिन का अंतराल

टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत में जरूर कई दिनों तक कोई मैच नहीं खेला जाता था। मसलन इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच दूसरे टेस्ट मैच के बाद तीसरा टेस्ट मैच 642 दिन बाद खेला गया था जबकि तीसरे और चौथे टेस्ट मैच में 613 दिन का अंतराल रहा। फरवरी 1883 से लेकर जुलाई 1884 के बीच 509 दिन तक कोई मैच नहीं खेला गया था।
सीमित ओवरों की क्रिकेट के चलन के कारण हाल में विशेषकर उन वर्षों में 100 से अधिक दिन तक टेस्ट मैच नहीं खेला गया जब वनडे विश्व कप का आयोजन किया गया।
जैसे कि पिछले साल इंग्लैंड में विश्व कप खेला गया। इससे पहले खिलाड़ी आईपीएल में व्यस्त रहे और इस कारण दो टेस्ट मैचों के बीच 131 दिन का अंतराल देखने को मिला। वर्तमान में यह अंतराल 130 दिन का है।

नए युग की शुरुआत

कोरोना वायरस महामारी के बीच इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच आज से शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला के जरिये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट बहाल होगा जो भविष्य में क्रिकेट की दशा और दिशा भी तय करेगा। क्रिकेट के सबसे पारंपरिक प्रारूप के जरिये खेल के नये युग का सूत्रपात होने जा रहा है। ऐसा युग जिसमें मैदान पर खिलाड़ियों में जोश भरने वाले दर्शक नहीं होंगे । खिलाड़ी गले नहीं मिल सकेंगे । हफ्ते में दो बार कोरोना जांच होगी और खिलाड़ी होटल से बाहर नहीं जा सकेंगे।

यह मार्च के बाद पहला टेस्ट मैच भी होगा । एजियास बाउल पर खेला जा रहा यह मैच सिर्फ क्रिकेट ही नहीं , उससे इतर भी कारणों से खेल की इतिहास पुस्तिका में दर्ज हो जायेगा। दर्शकों के बिना, बार-बार कोरोना वायरस जांच के बीच, सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए होने वाले ये मैच भविष्य में मैचों और दौरों का ब्लूप्रिंट भी तैयार करेंगे।

नस्लभेद के खिलाफ विरोध भी

इंग्लैंड के कार्यवाहक कप्तान बेन स्टोक्स ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ इसमें एक भी चूक होने पर बहुत बड़ी हो जायेगी । इससे खेल की बहाली पर आगे असर पड़ेगा ।’’ स्टोक्स ने कहा कि चार महीने से लाइव क्रिकेट देखने को तरस रहे टीवी दर्शकों को मनोरंजन की सौगात देना भी दोनों टीमों की जिम्मेदारी होगा। दोनों टीमें मैच के दौरान ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ का लोगो अपनी कमीज की कॉलर पर लगायेंगी।

दूसरे देशों को दिखाएंगे रास्ता

वेस्टइंडीज की टीम नौ जून से यहां है और खिलाड़ी पहले मैनचेस्टर में पृथकवास पर थे । उन्होंने टीम के भीतर ही दो मैच खेलकर अभ्यास किया। वेस्टइंडीज के कोच फिल सिमंस ने कहा ,‘‘ हम दूसरे देशों के लिये क्रिकेट की बहाली की रूपरेखा तय करेंगे।’’ उन्होंने कहा ,‘‘इस श्रृंखला की तैयारी के लिये इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड की तारीफ करनी होगी । देखते हैं कि दूसरे देश इससे क्या सीखते हैं।’’ वेस्टइंडीज ने 1988 के बाद से इंग्लैंड में टेस्ट श्रृंखला नहीं जीती है लेकिन पिछले साल कैरेबियाई सरजमीं पर हुई विजडन श्रृंखला 2-1 से जीती थी।

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीमें

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीमः जेसन होल्डर (कप्तान), शेन डाउरिच, रोस्टन चेज, शेमार ब्रूक्स, राहकीम कोर्नवेल, एनक्रुमाह बोनर, अल्जारी जोसेफ, केमार होल्डर, जॉन कैंपबेल, रेमन रीफर, केमार रोच, जर्मेन ब्लैकवुड, क्रेग ब्रेथवेट, शाई होप।

इंग्लैंड क्रिकेट टीमः बेन स्टोक्स (कप्तान), जेम्स एंडरसन, जोफ्रा आर्चर, डॉम बेस, मार्क वुड, जोस बटलर, जैक क्रॉले, जो डेनली, ओली पोप, स्टुअर्ट ब्रॉड, रोरी बर्न्स, डोम सिबली और क्रिस लेक्स।

अगली खबर