IND vs PAK: भारत-पाकिस्तान संबंधों को लेकर COA विनोद राय ने दिया बड़ा बयान

क्रिकेट
Updated Sep 24, 2019 | 07:00 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Vinod Rai on India vs Pakistan ties: भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा संबंधों को देखते हुए प्रशासकों की समिति (COA) के प्रमुख विनोद राय ने क्रिकेट को लेकर एक बड़ा बयान दिया है।

India vs Pakistan
India vs Pakistan  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • सीओए विनोद राय ने भारत-पाकिस्तान संबंधों पर दिया बड़ा बयान
  • किसी भी न्यूट्रल वेन्यू पर किसी भी देश से खेलेंगे क्रिकेट
  • सालों से भारत और पाकिस्तान के बीच नहीं हुई है द्विपक्षीय सीरीज

प्रशासकों की समिति (COA) के प्रमुख विनोद राय ने हाल ही में दिए अपने एक इंटरव्यू में भारत-पाकिस्तान संबंधों को लेकर बड़ा बयान दिया। विनोद राय का कहना है कि भारतीय क्रिकेट टीम अगर पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी तो वो तटस्थ स्थान (Neutral venue) पर होगा। दोनों देशों के बीच पिछले छह सालों में एक भी द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं हुई है और मौजूदा राजनीतिक उतार-चढ़ाव के बीच ये फिलहाल मुमकिन होता भी नहीं दिख रहा है।

फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले के बाद से मांग उठती रही थी विश्व कप 2019 में भारतीय टीम को पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहिए लेकिन भारत को आईसीसी के नियमों का पालन करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ खेलना ही पड़ा और टीम इंडिया ने सातवीं बार विश्व कप में पाकिस्तान को शिकस्त दी। हालांकि अब दोनों देशों के बीच संबंधों की स्थिति और पेचीदा हो चुकी है और विनोद राय का बयान किस हद तक मुमकिन होगा ये कहना बेहद मुश्किल है।

सीओए प्रमुख विनोद राय ने अपने एक इंटरव्यू में कहा, 'पाकिस्तान से खेलने की बात करें, तो मुझे लगता है कि सरकारी पॉलिसी है..कि आप न्यूट्रल वेन्यू पर खेल सकते हैं लेकिन एक-दूसरे के देश में नहीं। हमारे मन में ये बात स्पष्ट है कि न्यूट्रल वेन्यू पर हम किसी भी देश के खिलाफ खेलने को तैयार हैं।'

विनोद राय ने ये बयान तो दे दिया लेकिन फिलहाल मौजूदा स्थिति में शायद न्यूट्रल वेन्यू पर भी पाकिस्तान के खिलाफ कोई सीरीज आयोजित नहीं हो पाएगी। फिलहाल पाकिस्तान सालों बाद अपने घर में किसी बड़ी टीम के स्वागत की तैयारी में जुटा है। श्रीलंकाई टीम पाकिस्तान दौरे पर जा रही है जहां वे वनडे और टी20 सीरीज खेलेगी लेकिन इस सीरीज से पहले भी पाकिस्तान को तब बड़ा झटका लगा जब श्रीलंका के 10 दिग्गज खिलाड़ियों ने इस दौरे से अपना नाम वापस ले लिया।

अगली खबर