क्या है स्वामित्व योजना और ई-ग्राम स्वराज पोर्टल? ग्रामीण भारत के लिए पीएम मोदी ने लॉन्च की ये सेवाएं

Swamitva Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से शुक्रवार को स्वामित्व नाम की एक नई केंद्रीय योजना शुरु की गई है। इसके तहत गांव और पंचायतों के स्तर पर विकास और आत्मनिर्भता को बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।

Prime Minister Modi launched Swamitva Yojana
प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च की स्वामित्व योजना  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • ग्रामीण भारत को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉन्च की योजनाएं
  • वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में स्वामित्व योजना और ई-ग्राम स्वराज पोर्टल का किया शुभारंभ
  • जानें क्या हैं इन योजनाओं के मायने, कैसे करेंगीं काम

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर ई-ग्राम स्वराज नामक एक एकीकृत पोर्टल को लॉन्च करने के साथ स्वामित्व नाम की एक नई केंद्रीय योजना को भी शुरु किया है। जहां एकीकृत पोर्टल पर ई-ग्राम स्वराज में पंचायतों के स्तर पर प्लानिंग, मॉनिटरिंग, वित्त प्रबंधन तथा ऑडिट की सुविधा उपलब्ध है। वहीं, स्वामित्व योजना में राज्य सरकारों व भारतीय सर्वेक्षण विभाग के सहयोग से पंचायती राज मंत्रालय की ओर से ड्रोन आधारित नवीनतम सर्वेक्षण तकनीक का इस्तेमाल करते हुए नई केंद्रीय योजना शुरू हुई है।

ड्रोन से गांवों में होगी मैपिंग: स्वामित्व योजना की मदद से ड्रोन से गांव की मैपिंग की जाएगी, जिससे संपत्ति पर विवाद को सुलझाने से जुड़े मामलों में मदद मिल सकेगी। इस योजना से जुड़े पोर्टल की मदद से गांव के लोगों को बैंक से लोन प्राप्त करने में भी सुविधा होगी। 'ई-ग्राम स्वराज' नामक एक एकीकृत पोर्टल और 'स्वामित्व' नामक नई केंद्रीय योजना का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पोर्टल भारतीय पंचायत प्रणाली में पारदर्शिता लाएगा। शुरुआत में यह योजना पायलट प्रोजेक्ट के रूप में 6 राज्यों में लागू की जा रही है। बाद में इसे पूरे देश में लागू की जाएगी।

कोरोना ने कराया आत्मनिर्भर बनने का अहसास: पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने हमें अहसास दिला दिया है कि अगर ऐसे संकट से समय में संतुलन बनाकर आगे बढ़ते रहना है तो हमें बाहर का मुंह देखे बगैर आत्मनिर्भरता बनने की जरूरत है। मूलभूत जरूरतों के मामले में गांव और जिलों को आत्मनिर्भर होना ही चाहिए। मजबूत पंचायत आत्मनिर्भर गांव का आधार है। जितना पंचायत मजबूत होगा, लोकतंत्र उतना ही मजबूत होगा । तभी विकास का लाभ सभी को मिलेगा।

गांव- गांव पहुंचे इंटरनेट, स्मार्टफोन से मिलेगी मजबूती: वीडियो कॉन्फ्रेसिंग पर पंचायत प्रमुखों से संवाद में पीएम मोदी ने कहा, '6 साल पहले गांव में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी सिर्फ 100 गांव में था, लेकिन आज सवा लाख गांव तक ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पहुंच चुकी है। मोबाइल बनाने के अभियान का नतीजा है कि गांव -गांव तक कम कीमत पर स्मार्टफोन भी पहुंच चुके हैं। गांव को मजबूत करने के लिए स्वराज और स्वामित्व योजना की शुरूआत की गई है। इससे ग्राम पंचायत का लेखा-जोखा एक प्लेटफार्म पर उपलब्ध होगा। इससे पंचायत के विकास का डिटेल, फंड, खर्च कोई भी जानकारी ली जा सकती है और गांव के काम करने में पारदर्शिता बढ़ेगी।'

नीचे दिए गए ट्वीट वीडियो लिंक पर क्लिक करके आप प्रधानमंत्री का पूरा संबोधन और वीडियो कॉन्फ्रेसिंग पर पंचायतों से पूरा संवाद देख सकते हैं।

ग्राम पंचायतों से जुड़े पीएम मोदी: पंचायती राज दिवस के मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की मदद से प्रधानमंत्री ने कई ग्राम पंचायतों से संवाद किया। इस दौरान ग्रामीण स्तर पर सोशल डिस्टेसिंग के पालन के प्रयासों की पीएम ने तारीफ भी की और कहा कि इन्हीं प्रयासों की मदद से भारत ने महामारी के खिलाफ लड़ाई को लेकर दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर