Term Insurance : लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट टर्म इंश्योरेंस क्या है? क्या आपको इसे लेना चाहिए, जानिए विस्तार से

मार्केट में अलग-अलग तरह के कई टर्म इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स मौजूद है। यह क्या है, इसके क्या फायदे हैं। यह कैसे काम करता है, यहां विस्तार से जानिए।

What is Limited Premium Payment Term Insurance? Should you take it, know here in detail
लोग आम तौर पर टर्म इंश्योरेंस प्लान्स खरीदते समय रेगुलर पेमेंट मोड चुनना पसंद करते हैं क्योंकि इससे प्रीमियम कम रहता है।   |  तस्वीर साभार: BCCL

टर्म इंश्योरेंस प्लान लेने से, आपके प्रियजनों का फाइनेंसियल फ्यूचर, आपके न रहने पर भी, सुरक्षित रहता है क्योंकि आपकी असमय मौत होने पर इससे आपके प्रियजनों को इंश्योरेंस अमाउंट मिल जाता है जो आपकी गैर-मौजूदगी में आपके इनकम की कमी को पूरा करता है जिससे आपके प्रियजनों को अपनी दैनिक जरूरतों के साथ-साथ अपने भावी जीवन लक्ष्यों को पूरा करने में काफी मदद मिलती है। टर्म इंश्योरेंस आपके परिवार के लिए एक लागत-प्रभावी और किफायती फाइनेंसियल सिक्योरिटी है जो अन्य लाइफ इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स की तुलना में कम प्रीमियम पर मिलता है। इसमें इन्वेस्टमेंट बेनिफिट भी मिलता है। इसलिए एक पर्याप्त इंश्योरेंस अमाउंट वाला टर्म इंश्योरेंस प्लान लें।

मार्केट में अलग-अलग प्रीमियम पेमेंट प्लान्स, राइडर बेनिफिट्स, इत्यादि वाले कई टर्म इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स मौजूद है। ग्राहकों के लिए प्रीमियम पेमेंट को सुविधाजनक बनाने के लिए, कई इंश्योरेंस कंपनियां, लिमिटेड प्रीमियम या सिंगल प्रीमियम जैसे तरह-तरह के पेमेंट ऑप्शंस देती हैं। इस आर्टिकल में, हम टर्म इंश्योरेंस प्रीमियम पेमेंट के विभिन्न पहलुओं पर गौर करेंगे और जानेंगे कि ग्राहकों पर इसका कैसा असर पड़ता है।

लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट टर्म इंश्योरेंस क्या है?

लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट टर्म इंश्योरेंस प्लान, आपको एक लिमिटेड पीरियड तक प्रीमियम देने का मौका देता है जिसका कवरेज, लम्बे समय तक चलता रहता है। उदाहरण के लिए, एक 30 साल वाले लिमिटेड प्रीमियम टर्म इंश्योरेंस में सिर्फ शुरुआती 15 साल तक प्रीमियम देना पड़ता है और बाकी कार्यकाल तक बिना प्रीमियम के भी कवरेज मिलता रहता है।

यह कैसे काम करता है

लोग आम तौर पर टर्म इंश्योरेंस प्लान्स खरीदते समय रेगुलर पेमेंट मोड चुनना पसंद करते हैं क्योंकि इससे प्रीमियम कम रहता है। लेकिन पॉलिसी को चालू रखने के लिए प्लान की सम्पूर्ण अवधि तक प्रीमियम देते रहना पड़ता है, यहां तक कि रिटायर होने या रेगुलर इनकम बंद होने पर भी। ऐसी परिस्थिति में, लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट टर्म इंश्योरेंस काफी मददगार साबित हो सकता है।

लिमिटेड प्रीमियम प्लान्स के लाभ

  1. इसमें एक रेगुलर टर्म इंश्योरेंस प्लान की तुलना में कम समय तक प्रीमियम देना पड़ता है। अपने कामकाजी जीवन के दौरान अपना प्रीमियम दे चुके होने के कारण, आप अपना रिटायरमेंट जीवन बिना किसी इंश्योरेंस पेमेंट बोझ के बिता सकते हैं।
  2. इसमें इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपए तक का टैक्स डिडक्शन भी मिलता है। लिमिटेड प्रीमियम प्लान्स का प्रीमियम, रेगुलर टर्म इंश्योरेंस प्लान्स से अधिक होता है।
  3. इसमें सिर्फ कुछ साल तक प्रीमियम देने के बावजूद आप लम्बे समय तक भरपूर कवरेज का आनंद उठा सकते हैं।
  4. इसमें बाद के सालों में पॉलिसी लैप्स होने की गुंजाइश कम रहती है क्योंकि सारा प्रीमियम कुछ ही सालों में दे देना होता है।
  5. इसमें आप एडवांस पेमेंट करके 55 प्रतिशत तक प्रीमियम बचा सकते हैं।
  6. इसमें अपने प्लान को सरेंडर करके एडजस्टेड वैल्यू पाने का ऑप्शन रहता है।

लिमिटेड प्रीमियम प्लान किसे लेना चाहिए? लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट टर्म इंश्योरेंस प्लान निम्नलिखित लोगों के लिए सूटेबल है:-

  1. जिनका करिअर जीवनकाल सीमित है
  2. जो जल्द रिटायर होने वाले हैं
  3. जो फ्लेक्सिबल इनकम करते हैं
  4. जो एक अप्रत्याशित क्षेत्र में कार्यरत हैं
  5. जिनकी आर्थिक स्थिति में उतार-चढ़ाव होता रहता है
  6. जो एक सुविधाजनक पेआउट वाला प्लान ढूंढ रहे हैं

एक लिमिटेड प्रीमियम टर्म प्लान लेने का फैसला करने से पहले, अपने फाइनेंसियल प्लान, आर्थिक स्थिति और जीवन की प्राथमिकताओं पर नजर डालना जरूरी है। टर्म प्लान्स कई तरह के होते हैं। इसलिए अपनी जरूरतों के अनुसार प्लान चुनें। आप सिंगल प्रीमियम प्लान भी ले सकते हैं जहां आपको सारा प्रीमियम एक ही बार में दे देना होता है। टर्म प्लान्स में मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलता है लेकिन फाइनेंसियल दृष्टि से, आपको और आपके परिवार को मन की शांति जरूर मिलती है। फाइनेंसियल प्लानिंग करते समय इसे नजरअंदाज न करें।

इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर