Golden Visa : गोल्डन वीजा क्या है? यूएई ने इस स्कीम का किया विस्तार, हजारों भारतीयों को होगा फायदा

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने अपनी 'गोल्डन वीजा' स्कीम का विस्तार किया है। इससे हजारों भारतीयों को फायदा हो सकता है।

What is Golden Visa? UAE expanded this scheme, thousands of Indians will benefit
यूएई ने गोल्डन वीजा स्कीम का विस्तार किया  |  तस्वीर साभार: BCCL

संयुक्त अरब अमीरात ने अपनी 'गोल्डन वीजा' योजना को विस्तार करने की मंजूरी दी, जिसके तहत लोग 10 वर्षों तक खाड़ी देश में रह सकते हैं, बशर्ते वे विशिष्ट पात्रता मानदंडों को पूरा करते हों। दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम ने ट्विटर पर घोषणा की कि यूएई ने नए वीजा ग्रांट सिस्टम को मंजूरी दी है। गोल्डन वीजा लॉन्ग टर्म निवास कार्यक्रम है जो मई 2019 में प्रधान मंत्री और दुबई के शासक के अप्रूवल के बाद लागू हुआ। इसके शुरू होने के कुछ ही समय बाद, 400 से अधिक निवेशकों और व्यापारियों, उनके परिवारों के सदस्यों के साथ, वीजा जारी किया गया था, साथ ही हर रोज प्रदान किए जा रहे थे।

गोल्डन वीजा क्या है?

वीजा क्लास को मूल रूप से एक स्थायी निवास सिस्टम के रूप में तैयार किया गया था, लेकिन बाद में रेजिडेंसी और विदेश मामलों के डायरेक्टर जेनरल ने कहा कि यह वास्तव में एक लॉनटर्म 10-वर्षीय वीजा है जो नवीकरणीय है। आमतौर पर, गोल्डन वीजा एक प्रकार का अनुदान है जो अमीर व्यक्तियों को जारी किया जाता है ताकि वे देश में निवास करने के अवसर के लिए महत्वपूर्ण निवेश कर सकें। इस सिस्टम का उपयोग अक्सर सरकारें अपने टैक्स आधार को व्यापक बनाने के लिए करती रही हैं। यूएई निवेशकों और उद्यमियों के लिए विशेष रूप से अपने व्यापार के अनुकूल और टैक्स-फ्री वातावरण के लिए एक आकर्षक गंतव्य के रूप में उभरा है। 

अब गोल्डन वीजा कौन प्राप्त कर सकता है?

यूएई के गोल्डन वीजा का लेटेस्ट विस्तार अब पीएचडी धारकों को मिलेगा जिन्होंने दुनिया के टॉप 500 विश्वविद्यालयों में से एक से अध्ययन किया है। नए कानून के तहत, प्रमाणित डॉक्टर भी वीजा प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि देश कोरोना वायरस महामारी से रेजिडेंट मेडिकल पेशेवरों की कमी को पूरा करेगा। कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक्स, प्रोग्रामिंग इलेक्ट्रॉनिक्स, एक्टिव टैक्नोलॉजी, इलेक्ट्रिकल्स, एआई और बिग डेटा के क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने वाले इंजीनियर भी वीजा के लिए पात्र हैं। यह वीजा माध्यमिक-विद्यालय या विश्वविद्यालय के छात्रों को मिल सकता है, जिनके पास एकेडमिक रिकॉर्ड (95 प्रतिशत या अधिक) हैं। इन छात्रों के परिवारों के लिए लॉन्ग टर्म वीजा भी जारी किया जा सकता है।

वीजा काफी पढ़े-लिखे लोगों को भी मिलेगा, जिन्हें सरकार द्वारा अनुमोदित विश्वविद्यालयों से 3.8 (4 में से) या उससे अधिक के ग्रेड प्वाइंट एवरेज (जीपीए) अंक प्राप्त हुए हैं। यह उन वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को भी मिलेगा जो अपने चुने हुए क्षेत्रों के विशेषज्ञ हैं, जब तक कि उन्हें अमीरात वैज्ञानिक परिषद द्वारा मान्यता प्राप्त है। वैज्ञानिक उत्कृष्टता के लिए मोहम्मद बिन राशिद पदक के धारक भी वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

जब तक निवेशक यूएई की अर्थव्यवस्था में सीधे योगदान देने के लिए मूल्य का पेटेंट प्राप्त नहीं कर लेते, तब तक वे वीजा के लिए पात्र हो सकते हैं। इन पेटेंट को देश के अर्थव्यवस्था मंत्रालय द्वारा अनुमोदित किया जाना चाहिए। जिन विदेशी निवेशकों ने निवेश किया है, कम से कम, Dh10 मिलियन गोल्डन वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं।


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर