क्या है अन्त्योदय अन्न योजना, किन्हें मिलेगा इसका लाभ, क्या है योग्यता, जानें सब कुछ

कोरोना वायरस से जारी लड़ाई के बीच वित्त मंत्री ने पीएम अन्त्योदय अन्न योजना के तहत गरीबों के लिए बड़ी घोषणाएं की। जानिए क्या अन्त्योदय अन्न योजना और क्या है इसके लाभ-

antyodaya anna yojana
अन्त्योदय अन्न योजना  

मुख्य बातें

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोई भी गरीब बिना अन्न के नहीं रहेगा
  • कोरोना से लड़ाई में वित्त मंत्री ने 1 लाख 70 हजार करोड़ का पैकेज जारी किया
  • गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों को अन्त्योदय अन्न योजना के तहत मिलेगा लाभ

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए अर्थव्यवस्था में बड़े ऐलान किए हैं। वित्त मंत्रालय ने 1 लाख 70 हजार करोड़ के पैकेज की घोषणा की है। इस दौरान सीतारमण ने पीएम अन्त्योदय अन्न योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों के लिए भी बड़ी घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि तीन महीने तक 5 किलो गेहूं या चावल अतिरिक्त बिना किसी भुगतान के दिया जाएगा।

इसके अलावा 80 करोड़ लोगों के लिए अन्न की योजना का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब बिना अन्न के नहीं रहेगा। हर गरीब परिवार को अगले तीन महीने तक 1 किलो दाल मुफ्त मिलेगी। दालें इलाके के हिसाब से होगी। यह सब पीएम गरीब कल्याण योजना का हिस्सा हैं।

जानते हैं क्या है पीएम अन्त्योदय अन्न योजना
अन्त्योदय अन्न योजना (एएवाय) केंद्र सरकार द्वारा 25  दिसंबर 2000 को खाद्य आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के तहत दस लाख गरीब परिवारों के लिए शुरू की गई योजना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवारों या गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवारों को 35 किलोग्राम गेहूं और धान प्रति माह बहुत सस्ती दर पर प्रदान किया जाएंगा।

लाभार्थी के परिवार को सार्वजनिक वितरण योजना के तहत गेहूं 2 रुपये प्रति किलोग्राम और धान 3 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से प्रदान किया जाएंगा। अन्त्योदय अन्न योजना मुख्य रूप से गरीबों के लिए आरक्षित है, शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब परिवार को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएंगा। अन्त्योदय परिवार के लिए चुने गए आवेदक के परिवार को “अन्त्योदय राशन कार्ड” मान्यता प्राप्त करने के लिए अद्वितीय कोटा कार्ड प्रदान किया जाएंगा।

अन्त्योदय अन्न योजना के लाभ:
 लाभार्थी को प्रति माह सस्ती कीमत पर खाद्य प्रदान किया जाएंगा।
लाभार्थी को 35 किलोग्राम गेहूं 2 रुपये प्रति किलोग्राम और धान 3 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से प्रदान किया जाएंगा।

अन्त्योदय अन्न योजना का लाभ पाने की पात्रता:
लाभार्थी गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवार से संबंधित होना चाहिए।
लाभार्थी नामित प्राधिकारी द्वारा जारी अन्त्योदय राशन कार्ड के लिए चयनित होना चाहिए।

अन्त्योदय अन्न योजना के पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज:
लाभार्थी जिस क्षेत्र का रहवासी है, उस क्षेत्र के संबंधित पटवारी द्वारा जारी किया लाभार्थी का आय प्रमाण पत्र होना चाहिए। आवेदक को राशन कार्ड से हटाया गया प्रमाणपत्र प्रमाण पत्र या आवेदक के पास पाहिले से कोई राशन कार्ड नहीं था दिखाने वाला प्रमाण पत्र। आवेदक के इस आशय का एक हलफनामा कि उसने पहले कोई राशन कार्ड धारण नहीं किया है। आवेदक को अन्त्योदय अन्न योजना का लाभ प्राप्त करने  के लिए शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। निवास प्रमाण पत्र और पहचान प्रमाण पत्र।

अन्त्योदय अन्न योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किससे संपर्क करें और कहां संपर्क करें:
ग्रामीण क्षेत्र के लिए-ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए उस क्षेत्र के पंचायत प्रधान का उस व्यक्ति के परिवार के सदस्य की आय आदि के विवरण के साथ एक साधे कागज पर आवेदन करना होगा। ग्राम सभा यह तय करेगी कि ऊस व्यक्ति का परिवार इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए योग्य है या नहीं है। इस योजना के लिए लाभार्थी के परिवार का चयन होने के बाद ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सूची को अनुमोदित किया जाएगा। शहरी क्षेत्र के लिए व्यक्ति को नगर निगम से संपर्क करने की आवश्यकता है।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...