Minor PPF Account: अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं? ओपन करें नाबालिग पीपीएफ अकाउंट, हैं कई फायदे

अपने बच्चों का भविष्य को सुरक्षित करने के लिए माता-पिता या अभिभावक नाबालिग में भी पीपीएफ अकाउंट ओपन कर सकते हैं। बालिग होने तक बेहतर रिटर्न मिलेगा।

Want to secure your children's future? Open minor PPF account, there are many benefits 
नाबालिग पीपीएफ अकाउंट आपके बच्चों के लिए लाभकारी है  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • पीपीएफ नियम आपको किसी नाबालिग के नाम पर पीपीएफ अकाउंट खोलने की अनुमति देता है
  • नाबालिग पीपीएफ अकाउंट अधिकृत पोस्ट ऑफिस या किसी बैंक में खोला जा सकता है।
  • नाबालिगों के लिए पीपीएफ अकाउंट से काफी मदद मिल सकती है

शिक्षा और जीवन जीने के लिए बढ़ते खर्च को देखते हुए माता-पिता को यह सुनिश्चित करने की योजना बनाना चाहिए कि उनके बच्चों को सभी सुविधाएं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले। हालांकि बाजार में कई प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं। जो आपके बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने में मदद कर सकते हैं। उनमें अधिकांश गारंटीड रिटर्न, योगदान राशि पर टैक्स लाभ और मैच्योरिटी पर बेहतर आय सुनिश्चित नहीं करते हैं। पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) एक ऐसी योजना है जो ईईई टैक्स बेनिफिट्स, गारंटीड रिटर्न और कई अन्य लाभ प्रदान करती है। हालांकि 15 साल की लॉक-इन अवधि बहुत लंबी है। इसका मतलब यह नहीं है कि माता-पिता पीपीएफ को अपने बच्चे के लिए निवेश पसंद के रूप में नहीं चुन सकते हैं। नाबालिगों के लिए पीपीएफ अकाउंट से काफी मदद मिल सकती है। वर्तमान पीपीएफ नियम आपको किसी नाबालिग के नाम पर पीपीएफ अकाउंट खोलने की अनुमति देता है। नाबालिग पीपीएफ अकाउंट अधिकृत पोस्ट ऑफिस या किसी बैंक में खोला जा सकता है। 

किसी नाबालिग पीपीएफ अकाउंट नेचुरल अभिभावकों (माता, पिता) या कानूनी अभिभावकों द्वारा खोला/संचालित किया जा सकता है। ध्यान दें कि केवल एक अभिभावक ही अकाउंट खोल सकता है। माता और पिता दोनों एक ही नाबालिग की ओर से अलग-अलग अकाउंट नहीं खोल सकते। नाबालिग बच्चे के लिए दादा-दादी द्वारा पीपीएफ अकाउंट नहीं खोल सकता है। जब तक कि बच्चे के माता-पिता जीवित है। 

नाबालिग पीपीएफ अकाउंट के लिए आवश्यक दस्तावेज

अभिभावक को पीपीएफ अकाउंट खोलने के फॉर्म में नाबालिग के साथ अपना डिटेल देना चाहिए। भरे हुए फॉर्म के साथ, आपको अभिभावक के केवाईसी दस्तावेज, फोटोग्राफ, नाबालिग बच्चे का आयु प्रमाण (आधार कार्ड या जन्म प्रमाण पत्र), पीपीएफ अकाउंट में प्रारंभिक योगदान के लिए 500 रुपए का चेक अकाउंट खोलने के समय जमा करने की जरूरत होती है। यह उचित है कि आप पीपीएफ अकाउंट खोलते समय एक नॉमिनी को रजिस्टर करें।

पीपीएफ अकाउंट पर न्यूनतम और अधिकतम निवेश

एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम योगदान 500 रुपए है जबकि अधिकतम योगदान 1.5 लाख रुपए है। आपके और नाबालिग बच्चे के पीपीएफ अकाउंट में वार्षिक योगदान 1.50 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिए। वर्तमान में पीपीएफ की ब्याज दर 7.1% है।

कम लॉक-इन अवधि

अगर आप अपने बच्चे के लिए कम उम्र में पीपीएफ अकाउंट खोलते हैं, तो जब तक वे वयस्क होंगे तब तक लॉक-इन अवधि बहुत कम हो जाएगी जिसका अर्थ है कि आप जितनी जल्दी शुरू करते हैं  लॉक-इन आपके बच्चे के लिए जल्द खत्म हो जाएगा। उदाहरण के लिए, अगर आप अपने नाबालिग बच्चे के नाम पर पीपीएफ में निवेश करना शुरू करते हैं, जब वह सिर्फ 05 साल का है, तो यह पीपीएफ अकाउंट 15 साल के लॉक-इन अवधि को पूरा करेगा तब तक वह बच्चा वयस्क होकर 20 साल का हो जाएगा। वह अपनी पढ़ाई और अन्य जरूरत के लिए पैसा निकला सकता है।

अगर आपके बच्चे को उस पैसे की जरूरत नहीं है, तब भी वे एक एक्सटेंशन का विकल्प चुन सकते हैं क्योंकि पीपीएफ आपको 5 साल के ब्लॉक में अपने अकाउंट का विस्तार करने की अनुमति देता है। इसलिए अगर आपके बच्चे को पैसे की जरुरत नहीं है, तो वे इसे 5 साल या उससे अधिक के लिए बढ़ा सकते हैं। तो, इस स्थिति में, पीपीएफ के तहत आपके बच्चे के लिए लॉक-इन 15 साल से 5 साल तक कम हो जाएगा क्योंकि आपने जल्दी शुरू किया था। गौर हो कि मैच्योरिटी राशि के साथ नाबालिग पीपीएफ अकाउंट में अर्जित ब्याज टैक्स फ्री होता है। पीपीएफ अकाउंट में किए गए योगदान से धारा 80सी के तहत प्रत्येक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपए तक की टैक्स कटौती का लाभ मिलता है।  


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर