उड़ान योजना: पवनहंस ने देहरादून-गौचर रूट पर शुरू की हेलिकॉप्टर सेवा

Udan scheme: पवन हंस लिमिटेड ने केंद्र सरकार की क्षेत्रीय संपर्क योजना के तहत उत्तराखंड हेलिकॉप्टर सेवा शुरू की।

Udan scheme: Pawan Hans started helicopter service on Dehradun-Gauchar route
पवनहंस ने उत्तराखंड में शुरू की हेलीकॉप्टर सेवा 

मुख्य बातें

  • क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना के तहत पवन हंस ने देहरादून-नई टिहरी-श्रीनगर-गौचर रूट हेलिकॉप्टर सेवा शुरू की
  • नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उद्घाटन किया
  • यह सेवा सप्ताह में तीन दिन, सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को उपलब्ध होगी

Udan scheme: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच पवन हंस लिमिटेड ने मोदी सरकार की क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना के तहत उत्तराखंड में देहरादून-नई टिहरी-श्रीनगर-गौचर रूट पर बुधवार (29 जुलाई) को हेलिकॉप्टर सेवा शुरू की। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी एवं मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इस सेवा की ऑनलाइन शुरूआत की। यह सेवा सप्ताह में तीन दिन, सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को उपलब्ध होगी।सरकार ने लॉकडाउन के बाद 25 मई से घरेलू यात्री विमान सेवा को फिर से शुरू किया था। 25 मार्च से 24 मई तक कोरोना वायरस को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन की वजह से उड़ानों पर पाबंदी लगाई गई थी। अंतरराष्ट्रीय यात्री विमान सेवा पर 31 जुलाई तक प्रतिबंध है।

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्विटर पर कहा कि वह उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ उड़ान मार्ग का उद्घाटन कर प्रसन्न हैं। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हमने नई टिहरी और श्रीनगर में 06 नए रूटों और दो हेलीपोर्टों को जोड़ा है। उन्होंने कहा कि ये मार्ग पहाड़ी राज्य के लोगों के लिए बहुत आवश्यक हवाई संपर्क प्रदान करते हैं और इस सेवा का लाभ उठाने की लागत भी सस्ती है। हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि पीएम मोदी द्वारा अप्रैल, 2017 में शिमला से दिल्ली के लिए पहली उड़ान (यूडीएएन) सेवा को हरी झंडी दिखाने के बाद अभी तक 45 हवाई अड्डों और 3 हेलीपोर्ट्स को जोड़ने वाले 274 उड़ान रूट्स परिचालन में आ चुके हैं।

नई हेली सेवा की शुरुआत से उत्तराखंड में पहाड़ी क्षेत्रों के बीच हवाई संपर्क बढ़ेगा और औसत यात्रा समय घटकर 20-25 मिनट रह जाएगा। इससे चार धाम यात्रियों के लिए भी यात्रा आसान हो जाएगी। पवन हंस लिमिटेड इस रूट पर सप्ताह में तीन दिन हेलिकॉप्टर सेवा का परिचालन करेगी। आम लोगों के लिए किरायों को किफायती बनाए रखने के लिए उड़ान योजना के अंतर्गत परिचालक और यात्री दोनों ही वायबिलिटी गैप फंडिंग (वीजीएफ) उपलब्ध कराई गई है। इस क्रम में, इस रूट के लिए किराया 2,900 रुपए प्रति सीट तय किया गया है।(सोर्स-PIB) 

पुरी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उड़ान सेवा के अन्तर्गत जिन नए यात्रा रूटों के लिए हेलिकॉप्टर सेवा शुरू करने के लिए सुझाव दिया है, उन पर जल्द ही मुख्यमंत्री से बैठक करके फैसला लिया जाएगा। उन्होंने ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानकों के बारे में भी अधिकारियों के साथ चर्चा करके नियमानुसार उचित समाधान निकालने की बात कही।

इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि उड़ान योजना के अन्तर्गत चलाई जा रही हेलिकॉप्टर सेवाओं को स्थानीय लोगों द्वारा काफी पंसद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उड़ान योजना से देहरादून देश के दर्जनों शहरों से हवाई सेवा से जुडा है। रावत ने कहा कि गाजियाबाद से पिथौरागढ़ के लिए सीधी हवाई सेवा शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 27 हेलीपोर्ट विकसित किए गए हैं और पंतनगर एयरपोर्ट को ग्रीन फील्ड के रूप में विकसित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हल्द्वानी-अल्मोडा-धारचूला हेतु भी मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सेवा शुरू होगी। उन्होंने पुरी से अनुरोध किया कि चारधाम यात्रा के दृष्टिगत गुप्तकाशी एवं बड़कोट में भी हेलिकॉप्टर सेवाएं प्रारम्भ किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने हर्षिल के लिए भी हेलिकॉप्टर सेवा की जरूरत बताई और कहा कि इससे गंगोत्री जाने वाले यात्रियों के लिए सुविधा होगी। मुख्यमंत्री ने ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानकों को जटिल बताते हुए उनसे उत्तराखण्ड की परिस्थितियों के दृष्टिगत सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानकों में परिवर्तन का अनुरोध किया तथा कहा कि इससे आर्थिक बोझ भी कम होगा।

सरकार द्वारा संचालित पवन हंस लिमिटेड ने भी बुधवार को ट्विटर पर घोषणा की कि पवन हंस ने देहरादून-नई टिहरी- श्रीनगर- गौचर-देहरादून रूट पर आरसीएस उत्तराखंड  रूट की शुरुआत की। नरेंद्र मोदी सरकार ने क्षेत्रीय हवाई संपर्क में सुधार करने के लिए 2016 में उड़ान योजना शुरू की थी। पवन हंस द्वारा जल्द ही देहरादून से पंतनगर, नैनीताल, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ और देहरादून से मसूरी को जोड़ने वाले दो अन्य नेटवर्क्स पर परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। 

अगली खबर