Covid-19: जल्दी करें, लॉकडाउन में कैंसिल हुए ट्रेन टिकट के लिए रेलवे आज से दे रहा है रिफंड

Train Ticket Refund: कोरोना वायरस महामारी के दौर में जिन्होंने अपनी ट्रेन की टिकट कैंसिल कराई थी उनके लिए रेलवे ने आज से रिफंड सेवा की शुरुआत की है।

Train fare refund
ट्रेन टिकट के लिए रिफंड आज से 

मुख्य बातें

  • जिन्होंने अपनी ट्रेन की टिकट कैंसिल कराई थी उनके लिए रेलवे ने आज से रिफंड सेवा की शुरुआत की है
  • रिजर्वेशन काउंटर 22 मई से ही खुल गए थे लेकिन रिफंड आज से यानि 27 मई से दिया जा रहा है
  • आज से आप अपने रिफंड पैसे वापस अपने अकाउंट में पा सकते हैं

कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी फैलने के बाद देश भर में लॉकडाउन कर दिया गया था। ऐसे में बस सेवा से लेकर ट्रेन सेवा और फ्लाइट सेवा तक सभी यातायात के साधनों को भी बंद कर दिया गया था। हालांकि कुछ समय पहले ट्रेन सेवा शुरू कर दी गई थी लेकिन उसमें भी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया गया। ऐसे में बहुत कम ही लोगों को ट्रेन में सफर करने का मौका मिला और कईयों को अपनी टिकट कैंसिल करानी पड़ी क्योंकि कोरोना महामारी के दौर में वेटिंग सीट पर ट्रेन में सफर करना प्रतिबंधित कर दिया गया था।

अब ऐसे में कई लोगों को ट्रेन टिकट कैंसिल कराने के बाद अपने पैसे रिफंड वापस चाहिए थे। ऐसे लोगों के लिए खुशखबरी है। जिन्होंने अपनी ट्रेन की टिकट कैंसिल कराई थी उनके लिए रेलवे ने आज से रिफंड सेवा की शुरुआत की है। यानि आज से आप अपने रिफंड पैसे वापस अपने अकाउंट में पा सकते हैं। आपको बता दें कि 22 मार्च से 30 जून तक रिजर्वेशन काउंटर से बुक कराए गए टिकट पर रेलवे आज से रिफंड दे रहा है। यूं तो रिजर्वेशन काउंटर 22 मई से ही खुल गए थे लेकिन रिफंड आज से यानि 27 मई से दिया जा रहा है।

करना होगा ये काम

रेलवे के मुताबिक जिन लोगों ने ऑफलाइन ट्रेन टिकट लिया था और लॉकडाउन की वजह से उनकी ट्रेन कैंसिल हो गई थी उन्हें अब इस कैंसिल टिकट पर आज से रिफंड मिलेगा। बस उन्हें ये करना होगा कि रेलवे काउंटर पर जाकर रिफंड फॉर्म भरना होगा और इसके बाद उन्हें आसानी से रिफंड मिल जाएगा। ग्राहकों को ऑफलाइन टिकट का रिफंड तत्काल कैश मिल जाएगा।

कोविड महामारी के कारण रिफंड प्राप्त करने के लिए भी रेलवे ने कई गाइडलाइंस जारी किए हैं। इसके लिए टिकट काउंटर पर भीड़ नहीं लगाना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा-पूरा पालन करना होगा। ग्राहकों के लिए अच्छी खबर ये है कि उनके लिए ये जरूरी नहीं है कि उन्होंने जिस काउंटर से टिकट लिया था वहीं से रिफंड प्राप्त करें। वे देश के किसी भी रेलवे टिकट आरक्षण काउंटर पर जाकर फॉर्म भरकर अपना रिफंड प्राप्त कर सकते हैं।

आपको बता दें कि देश में जनवरी के अंतिम महीने से ही कोरोना वायरस का केस सामने आ गया था। धीरे-धीरे आने वाले महीनों तक इसने अपने पांव पसारने शुरू कर दिए थे। इसके बाद एहतियातन तौर पर केंद्र सरकार ने 25 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन घोषित कर दिया था ताकि लोग अपने घरों से बाहर ना निकलें और कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार ना हों। इसे सही तरह से पालन करने के लिए ट्रेन से लेकर बस और फ्लाइट सेवा तक सबी यातायात की सुविधाएं बंद कर दी थी। उस बीच अगर किसी ने रिजर्वेशन कराया तो उनकी ट्रेन कैंसिल कर दी गई थी और उन्हीं के पैसे रिफंड करने के लिए रेलवे ने ये पहल शुरू किया है।   

किन्हें कब मिलेगा रिफंड

22 मई से 31 मार्च तक की ट्रेन रिजर्वेशन कराने वालों को 27 मई से रिफंड दिए जाएंगे। 1 अप्रैल से 14 अप्रैल तक के बीच ट्रेन रिजर्वेशन कराने वालों को 2 जून से रिफंड दिए जाएंगे। 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक के ट्रेन रिजर्वेशन कराने वालों को 9 जून से रिफंड दिए जाएंगे। 1 मई से 15 मई तक के बीच ट्रेन रिजर्वेशन कराने वालों को 16 जून से रिफंड दिए जाएंगे। 16 मई से 31 मई के बीच ट्रेन रिजर्वेशन कराने वालों को 23 जून से रिफंड दिए जाएंगे। 1 जून से 30 जून के बीच की टिरेन रिजर्वेशन कराने वालों को 28 जून से रिफंड दिए जाएंगे।

अगली खबर